1. हिन्दी समाचार
  2. ख़बरें जरा हटके
  3. 1965 युद्ध का अहम दिन, पाकिस्तान ने शुरु किया था ऑपरेशन जिब्राल्टर, जानें आज का इतिहास

1965 युद्ध का अहम दिन, पाकिस्तान ने शुरु किया था ऑपरेशन जिब्राल्टर, जानें आज का इतिहास

1965 युद्ध का आज अहम दिन था, कश्मीर पर अधिकार के लिए पाकिस्तान ने शुरू किया ऑपरेशन जिब्राल्टर।

By इंडिया वॉइस 
Updated Date

1965 के युद्ध का अहम दिनः कश्मीर पर सैन्य कब्जे के शातिराना इरादे से पाकिस्तान की अयूब खान सरकार ने अगस्त 1965 में कश्मीरी वेशभूषा में 26-30 हजार सैनिकों को नियंत्रण रेखा पार कर भारतीय कश्मीर में भेज दिया। मुहिम का नाम दिया- ऑपरेशन जिब्राल्टर। शुरुआत में पाकिस्तान ने टिथवाल, उरी और पुंछ में बढ़त बना ली। पाकिस्तान को झटका तब लगा जब भारत ने पलटवार करते हुए पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर में घुसकर हाजी पीर पर कब्जा कर लिया। जिब्राल्टर के घुसपैठिये सैनिकों का रास्ता भारत के कब्जे में आने से पाकिस्तान सकते में गया।

पढ़ें :- हिंदी फिल्म इंडस्ट्री के पहले सुपरस्टार थे कुंदनलाल सहगल

ऑपरेशन जिब्राल्टर फेल हो चुका था। मुजफ्फराबाद पर दबाव कम करने के लिए पाकिस्तान ने इसके बाद शुरू किया- ऑपरेशन ग्रैंड स्लैम। इससे भारत को शुरुआती नुकसान उठाना पड़ा। पाकिस्तान ने पंजाब और श्रीनगर के हवाई ठिकानों पर हमला कर दिया। जिसके जवाब में तत्कालीन लालबहादुर शास्त्री की अगुवाई वाली सरकार ने पंजाब सीमा में नया मोर्चा खोलकर लाहौर पर हमला करने का फैसला किया जो आगे चलकर तुरुप का पत्ता साबित हुआ।

6 सितंबर 1965 को भारत ने अंतरराष्ट्रीय सीमा रेखा पारकर पश्चिमी मोर्चे पर हमला कर युद्ध की आधिकारिक शुरुआत कर दी। भारत की 15वीं पैदल सैन्य इकाई ने दूसरे विश्वयुद्ध के अनुभवी मेजर जनरल प्रसाद के नेतृत्व में इच्छोगिल नहर के पश्चिमी किनारे पर पाकिस्तानी प्रतिरोध का सामना किया। भारतीय जवान बरकी गांव के करीब नहर पार करने में कामयाबी हासिल की। इससे भारतीय सेना लाहौर हवाई अड्डे पर हमला करने की स्थिति में आ गयी। इसके कारण अमेरिका ने अपने नागरिकों को लाहौर से निकालने के लिए कुछ समय के लिए युद्धविराम की अपील की।

1965 का युद्ध पाकिस्तान ने शुरू किया था लेकिन खत्म भारत ने बहुत ही बहादुरी से किया। आगे चलकर दोनों देशों के बीच मशहूर ताशकंद समझौता हुआ। हालांकि इसी समझौते के बाद तत्कालीन प्रधानमंत्री लालबहादुर शास्त्री के रहस्यमय तरीके से निधन का प्रकरण सामने आया।

अन्य अहम घटनाएंः

पढ़ें :- दुनिया का सबसे बड़ा सीरियल किलर, जिसे आज भी लोग डॉक्टर डेथ के नाम से पहचानते हैं

1914ः फ्रांस और जर्मनी के बीच मार्ने का युद्ध शुरू।

1924ः इटली के तानाशाह मुसोलिनी की हत्या का प्रयास विफल।

1929ः मशहूर भारतीय फिल्म निर्माता यश जौहर का जन्म।

1958ः अमेरिका ने अटलांटिक सागर में परमाणु परीक्षण किया।

1972ः हिंदुस्तानी शास्त्रीय संगीत के उस्ताद अलाउद्दीन खान का निधन।

पढ़ें :- शास्त्रीय गायन में इस दिग्गज ने संगीत की पूरी धारा को किया था प्रभावित

1988ः सोवियत संघ ने भूमिगत परमाणु परीक्षण किया।

हिन्दुस्थान समाचार

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook, YouTube और Twitter पर फॉलो करे...