1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. उप्र में 12 करोड़ लोगों को लगा कोरोना का टीका : मुख्यमंत्री योगी

उप्र में 12 करोड़ लोगों को लगा कोरोना का टीका : मुख्यमंत्री योगी

इलाज के अभाव में उनकी मौत हो जाती थी, लेकिन साढ़े चार वर्षों में हम लोगों ने मौत को ही नहीं संक्रमण की दर पर भी काबू पाया है।

By इंडिया वॉइस 
Updated Date

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मंगलवार को कहा है कि इंसेफलाइटिस दिमागी बुखार से पूर्वी उत्तर प्रदेश मुक्त होने के कगार पर है। बस्ती-गोरखपुर मंडल में इस बीमारी से प्रतिवर्ष हजारों बच्चे संक्रमित होते थे। इलाज के अभाव में उनकी मौत हो जाती थी, लेकिन साढ़े चार वर्षों में हम लोगों ने मौत को ही नहीं संक्रमण की दर पर भी काबू पाया है।

पढ़ें :- Gujarat Election 2022: गुजरात में गरजे यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ, कही ये बात,पढ़ें

पंडित अटल बिहारी बाजपेई प्रेक्षागृह में आयोजित संचारी रोग अभियान की शुरुआत करने के बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि यह अभियान प्रदेश व्यापी अभियान है। साढ़े चार वर्ष के भीतर विभागीय समन्वय स्थापित करके पूरे उत्तर प्रदेश में इस बीमारी से लड़ने के लिए पूरी तरह से तैयारी की गई है। यह सभी मौसमी बीमारियां हैं। मौसम के साथ आती हैं और लोगों को प्रभावित करके चली जाती हैं। इससे हम लोगों को बचाने के लिए पूरी तरह से जागरूक होना पड़ेगा।

पूर्वी उत्तर प्रदेश इंसेफलाइटिस दिमागी बुखार की बीमारी के अभिशाप से मुक्त होने के कगार पर है। वर्ष 2017 से यह तीसरा चरण का शुरुआत किया गया है। शुरुआत में सभी नागरिक शामिल होकर इस अभियान को सफल बनाने में आगे आएं तभी ऐसी बीमारियों से हम लोग पूरी तरह से काबू पा सकेंगे। अभियान के तहत पहले की अपेक्षा हम लोग 75 प्रतिशत संक्रमण पर काबू पा गए हैं और मृत्यु दर में 95 प्रतिशत की कमी आई है। अगर ऐसे ही जागरूकता अभियान रहा तो हम इस बीमारी को जड़ से समाप्त कर देंगे।

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में देश तेजी से विकास की ओर अग्रसर है। इस सदी की सबसे बड़ी महामारी में भारत ने दो-दो वैक्सीन विकसित करके पूरे विश्व में एक नया स्थान प्राप्त किया है। भारत ने कोरोना का 100 करोड़ डोज दिया है। प्रदेश में 12 करोड़ लोगों को कोरोना का टीका लगा है। हम इसे शीघ्र ही 13 करोड़ के करीब पहुंचा ले जाएंगे। जिस तरह से पूरे प्रदेश में 72 हजार से अधिक निगरानी समितियां टीमवर्क के साथ मिलकर काम की है। अगर ऐसे ही रहा तो हम उत्तर प्रदेश को पूरी तरह से कोरोना से मुक्त कर देंगे।

आगे कहा कि उप्र में कोरोना मुक्त होने के कगार पर है। अगर आज 10 हजार टेस्ट किया जाता है तो उनमें से एक व्यक्ति संक्रमित मिलता है। ऐसी स्थिति में हम लोग कोरोना के संक्रमण को पूरी तरह से समाप्त करने की ओर हैं। संचारी रोग में अगर एक हजार लोग संक्रमित होते थे तो इसमें से 260 लोगों की मौत हो जाती थी। लेकिन कोरोना में एक हजार लोग संक्रमित हुए तो उनमें से 13 लोगों की मौत हुई है।

पढ़ें :- BJP का आज से धुआंधार प्रचार,15 बड़े नेता करेंगे 40 से ज्यादा रैलियां, पढ़ें

मुख्यमंत्री योगी ने नागरिकों से अपील करते हुए कहा कि कोरोना से बचने के लिए सभी लोग समय से कोरोना की पहली डोज प्राप्त ले। कोरोना का टीका लगने के बाद संक्रमण से 70 प्रतिशत बचने की संभावना है तथा दूसरी डोज प्राप्त करने पर 99 प्रतिशत बचने की संभावना रहती है। इसलिए सभी लोग कोरोना की डोज समय से प्राप्त कर लें। यह भी कहा कि टीका लगवाने के बाद भी दो गज दूरी और बिना मास्क के बाहर न निकले।

आगामी त्योहारों में बाहर से लोग आएंगे हो सकता है दूसरे प्रदेश से संक्रमित हो कर आये हैं। और यहां के लोगो संक्रमित कर दें, उनसे बचने के लिए हम लोगों को पूरी तरह से चौकन्ना रहना होगा। कोविड-19 के नियमों का पालन करना होगा, जिससे उत्तर प्रदेश को कोरोना से मुक्त किया जा सके ।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook, YouTube और Twitter पर फॉलो करे...