1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. 26 करोड़ का टैक्स बकाया होने पर कानपुर का जेड स्क्वॉयर मॉल सील

26 करोड़ का टैक्स बकाया होने पर कानपुर का जेड स्क्वॉयर मॉल सील

गम अफसरों ने सभी गेट पर लगाया ताला, पुलिस ने मॉल के अंदर से सभी कर्चमारियों को बाहर निकाला

By इंडिया वॉइस 
Updated Date

जिले के सबसे बड़े शॉपिंग मॉल जेड स्क्वॉयर में बुधवार को उस वक्त अफरा-तफरी मच गई जब 26 करोड़ के बकाये के चलते नगर निगम के अफसर उसे सील करने पहुंच गए। भारी पुलिस बल के साथ पहुंचे अफसरों ने कार्यवाही करते हुए मॉल के सभी गेटों को सील करते हुए 26 करोड़ का बकाया हाउस और वॉटर टैक्स जमा किए जाने की हिदायत दी। यह कार्यवाही उस आज उस वक्त की गई जब कई नोटिसों के बावजूद मॉल के मैनेजिंग डायरेक्टर ताहिर हुसैन ने एक भी पैसा जमा नहीं किया।

पढ़ें :- पुलिस ने 9 किलो चरस की बरामद, दो तस्करों को किया गिरफ्तार, प्रेस कॉन्फ्रेंस कर किया खुलासा

कर्मचारियों को निकाला गया बाहर

नगर निगम के आयुक्त शिव शरणप्पा के कमान संभालने के बाद वह बड़े बकायेदारों पर शिकंजा सकते हुए राजस्व वसूली को लेकर आज जेड स्क्वॉयर मॉल को सील करने के निर्देश दिए गए। नगर निगम के अपर नगर आयुक्त अरविंद राय के साथ अन्य अफसर भारी पुलिस बल के साथ बड़ा चौराहा स्थित मॉल पहुंचे। यहां पर उन्होंने मॉल मैनेजिंग डायरेक्टर ताहिर हुसैन के साथ अन्य प्रबंधन से बातचीत की। बातचीत में बकाया 26 करोड़ टैक्स भुगतान को लेकर कोई सहमति न बनने पर अफसरों ने सीलिंग की कार्यवाही शुरू की।

कर्मचारियों को बाहर निकालने के लिए खोला गया एक गेट

जनपद के सबसे बड़े शॉपिंग मॉल पर सीलिंग की कार्यवाही देख कर्मचारियों व वहां आए लोगों में अफरा—तफरी मच गई। इस बीच मॉल के अंदर सैकड़ों कर्मचारी काम कर रहे थे। नगर निगम की अफसरों ने मॉल के सभी छह गेटों को सील कर दिया। इस बीच एक गेट से सीलिंग की कार्यवाही से पूर्व पहुंचे सभी कर्मचारियों को पुलिस ने एक गेट के जरिए बाहर निकालवाया।

पढ़ें :- बहुचर्चित रोनिल हत्याकांड का पुलिस ने किया खुलासा, 36 दिन बाद खुली मिस्ट्री, लव ट्रांयगल में की गई हत्या

बकाया जमा न करने पर हो सकती है कुर्की

सीलिंग करने पहुंचे अपर नगर आयुक्त अरविंद राय ने बताया कि मॉल के ऊपर करीब हाउस टैक्स का 13.36 करोड़ रुपये बकाया है। इसमें 10.44 करोड़ रुपये टैक्स और 2.91 करोड़ रुपये समय से टैक्स जमा न करने पर लगाया गया ब्याज है। उन्होंने बताया कि मॉल पर इतना ही टैक्स जलकल और सीवर टैक्स का 12.65 करोड़ रुपये बकाया है। इस तरह से करीब 26 करोड़ का टैक्स इस मॉल पर बकाया है। सीलिंग की कार्यवाही से पूर्व कई नोटिस भेजकर टैक्स जमा करने की चेतावनी दी गई लेकिन बकाया जमा करने में मॉल के स्वामित्व द्वारा कोई कदम नहीं उठाया गया। इसको देखते हुए नगर निगम अधिनियम 1959 के तहत सीलिंग की कार्रवाई को अमल में लाया गया है। अपर नगर आयुक्त ने बताया कि अगर मॉल द्वारा टैक्स न दिया गया तो कुर्की की कार्यवाही भी की जा सकती है। अपर नगर आयुक्त रोली गुप्ता, प्रवर्तन अधिकारी भी मौजूद रहें।

महापौर ने वसूले थे एक करोड़

बताते चलें कि, मॉल पर आज सीलिंग की कार्यवाही से पूर्व साल की शुरूआत में 01 जनवरी 2021 को महापौर प्रमिला पांडेय अफसरों के साथ बकाया वसूलने पहुंची थी। इस दौरान उन्होंने टैक्स बकाया जमा न करने पर ताला डाल दिया था। इसको देखते हुए मॉल प्रबंधन द्वारा करीब 01 करोड़ रुपये देकर बकाया जल्द जमा किए जाने की मौहलत मांगी गई थी। दो साल पूर्व भी मॉल के खिलाफ कार्रवाई नगर निगम कर चुका है। जानकारी के मुताबिक, मॉल पर करीब तीन साल का हाउस व वॉटर टैक्स आदि बकाया है।

पढ़ें :- कानपुर मेट्रो प्रोजेक्ट ने पकड़ी रफ्तार, एक हजार मीटर की टनल बनकर तैयार
इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook, YouTube और Twitter पर फॉलो करे...