1. हिन्दी समाचार
  2. देश
  3. Gujarat : पाकिस्तानी नाव से 400 करोड़ की 77 किलो हेरोइन जब्त, 6 तस्कर गिरफ्तार

Gujarat : पाकिस्तानी नाव से 400 करोड़ की 77 किलो हेरोइन जब्त, 6 तस्कर गिरफ्तार

Drug Consignment : एक पाकिस्तानी नाव से 77 किग्रा हेरोइन जब्त की। इस मामले में छह तस्करों को गिरफ्तार किया गया है।

By इंडिया वॉइस 
Updated Date

अहमदाबाद, 20 दिसंबर। भारतीय तटरक्षक बल और गुजरात एटीएस की टीम ने कच्छ में जखाउ तट से एक पाकिस्तानी नाव से 77 किग्रा हेरोइन जब्त की। इस मामले में छह तस्करों को गिरफ्तार किया गया है।

पढ़ें :- Petrol Diesel Price Hike : पाकिस्तान में 30 रुपये लीटर बढ़े पेट्रोल, डीजल और केरोसिन के दाम, जानें बढ़े हुए दाम

 

तस्करों से हो रही है पूछताछ 

गुजरात एटीएस (ATS) और भारतीय तटरक्षक बल ने गुप्त सूचना पर कच्छ के जखाउ तट पर संयुक्त अभियान चलाया, जिसमें ‘अल हुसैनी’ नाम की एक पाकिस्तानी नाव को रोका गया। तलाशी में नाव से 400 करोड़ रुपये मूल्य की 77 किलो हेरोइन मिली। इस मामले में 6 पाकिस्तानी तस्करों को गिरफ्तार किया। पकड़े गए तस्करों से पूछताछ चल रही है।

इस क्षेत्र में पूर्व में भी कई बार नशीले पदार्थ की खेप पकड़ी जा चुकी है। जनवरी 2021 में गुजरात के तट से अप्रैल 2021 में 30 किलो, सितंबर 2021 में 3,000 किलो से अधिक और नवंबर 2021 में 186 किलो से अधिक नशीला पदार्थ मिला। गुजरात एटीएस ने हाल ही में द्वारका के तट से करीब 15 करोड़ रुपये मूल्य के ड्रग्स को जब्त किया था।

 

पढ़ें :- Dawood Ibrahim : कराची में दाऊद इब्राहिम, हसीना पारकर के बेटे ने ED के सामने किया बड़ा खुलासा

गुजरात का समुद्र तट ट्रांजिट प्वाइंट बन गया है

नशीले पदार्थों की तस्करी के लिए गुजरात का समुद्र तट ट्रांजिट प्वाइंट बन गया है। सौराष्ट्र-कच्छ तट मादक पदार्थों की तस्करों के लिए ट्रांजिट प्वाइंट है। पिछले पांच वर्षों में गुजरात एटीएस और तटरक्षक बल सहित दूसरी एजेंसियों ने आठ बड़ी खेपों के साथ 30,000 करोड़ रुपये मूल्य के नशीले पदार्थों की जब्ती की है। इतनी सघन जांच और कड़ी सुरक्षा के बावजूद नशीले पदार्थों की तस्करी बड़े पैमाने पर हो रही है। इसी वजह से सौराष्ट्र के तट को तस्करों के लिए भारत और गुजरात में हथियारों और ड्रग्स की तस्करी के लिए ‘गेटवे ऑफ गुजरात’ के रूप में जाना जाता है।

 

और पढ़ें – देश में पिछले 24 घंटे में कोरोना के 6 हजार से ज्यादा नए मामले

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook, YouTube और Twitter पर फॉलो करे...