1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. लखीमपुर घटना : आरोपित अंकित दास ने किया सरेंडर

लखीमपुर घटना : आरोपित अंकित दास ने किया सरेंडर

घटना के बाद से ही पुलिस को अंकित की तलाश थी। अंकित की गिरफ़्तारी को लेकर पुलिस ने कई जगहों पर छापेमारी भी की थी।

By इंडिया वॉइस 
Updated Date

लखीमपुर, 13 अक्टूबर। लखीमपुर खीरी हिंसा मामले में एक और गिरफ्तारी हुई है। आपको बता दें कि घटना के बाद से ही फरार चल रहे लखीमपुर खीरी हिंसा मामले के सह आरोपित अंकित दास ने आज खुद को एसआईटी के सामने सरेंडर किया है। दरअसल पुलिस की ओर से अंकित दास को क्राईम ब्रांच के सामने पेश होने का नोटिस चस्पाया गया था। जिसके बाद से आज अंकित अपने गनर लतीफ़ और वकील के साथ क्राईम के सामने पेश हुए।

पुलिस को अंकित दस की लंबे समय से तलाश थी। फ़िलहाल अंकित दास के गिरफ्तारी के बाद से अब एसआईटी टीम इस पूरे प्रकरण को लेकर पूछताछ कर रही है। आपको बता दें कि लखीमपुर की घटना में चार किसान समेत आठ प्रदर्शनकारियों की मौत मामले में पुलिस ने गंभीर धाराओं में मुकदमा दर्ज किया है। वहीं बताया जा रहा है घटना के दौरान जो फॉर्च्यूनर कार नज़र आई थी वो अंकित दास की ही थी। जिसे घटना के बाद उग्र भीड़ द्वारा आग के हवाले कर दिया गया था

वहीं अंकित दास के खिलाफ साजिश, हत्या, गैर इरादतन हत्या, बलवा समेत अन्य धाराओं में मुकदमा दर्ज है। हाल ही में हिंसा से जुड़े मामले में अंकित के कार चालक ‘शेखर’ को एसआइटी ने पलिया बस स्टैंड से मंगलवार को गिरफ्तार किया था। पुलिस को लंबे वक्त से अंकित की तलाश थी. लखीम पुर खीरी हिंसा मामले के बाद से पुलिस अंकित दास की तलाश में लगातार दबिश दे रही थी।

दरअसल आपको बता दें कि अंकित दास कांग्रेस के पूर्व सांसद व पूर्व केंद्रीय मंत्री अखिलेश दास के भतीजे हैं। अखिलेश दास एक समय में  यूपी कांग्रेस के दिग्गज नेता हुआ करते थे पर बाद में उन्होंने बसपा ज्वाइन कर लिया था। मनमोहन सिंह के कार्यकाल में अखिलेश दास  इस्पात राज्यमंत्री भी रहे हैं। अप्रैल 2017  अखिलेश दास का दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया था।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...
India Voice Ads
X