1. हिन्दी समाचार
  2. देश
  3. कृषि मंत्री ने किया “राष्ट्रीय खाद्य एवं पोषण” अभियान का शुभारंभ

कृषि मंत्री ने किया “राष्ट्रीय खाद्य एवं पोषण” अभियान का शुभारंभ

कैलाश चौधरी ने कहा कि वर्ष 2023 को भारत के नेतृत्व में पोषक-अनाज वर्ष मनाया जाएगा, जो हमारे लिए गर्व का विषय है।

By इंडिया वॉइस 
Updated Date

केंद्रीय कृषि एवं किसान कल्याण नरेंद्र सिंह तोमर एंव किसान कल्याण राज्य मंत्री कैलाश चौधरी ने किसानों के लिए राष्ट्रीय खाद्य एवं पोषण अभियान का शुभारंभ किया। कार्यक्रम से आईसीएआर सचिव संजय गर्ग, सभी उपमहानिदेशक-सहायक महानिदेशक और अन्य अधिकारी-वैज्ञानिक, कृषि विश्वविद्यालयों के कुलपति, अन्य कृषि संस्थानों के अधिकारी एवं देशभर के सभी केवीके में मौजूद हजारों किसान डिजिटल माध्यम से जुड़े थे। इस अवसर पर केंद्रीय मंत्री तोमर ने महोत्सव के कार्यक्रमों व गतिविधियों के संकलन पर आधारित पुस्तिका का विमोचन भी किया।

पढ़ें :- कृषि निर्यात क्षेत्र में भारत शीर्ष 10 देशों में हुआ शामिल : तोमर

केन्द्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र तोमर ने किसान और विज्ञान पर बोलते हुए कहा इस पर आईसीएआर लगातार काम रही है कि वर्षा पर आधारित क्षेत्रों सहित अन्य क्षेत्रों में कब-कौन सी खेती हो व किन बीजों को उपजाया जाए, कृषि व किसान को नई तकनीक से जोड़ने के लिए काम किया जा रहा है। उत्पादन में हमारी महारत है लेकिन इस प्रचुरता को मैनेज करना भी आवश्यक है। हमारे उत्पाद गुणवत्तापूर्ण हो, वैश्विक मानकों पर खरे उतरे, किसान महंगी फसलों की ओर आकर्षित हो, कम रकबे-कम सिंचाई में, पर्यावरण के मित्र रहते हुए पढ़े-लिखे युवा कृषि की ओर आकर्षित हो, यह सरकार के साथ किसानों की भी जिम्मेदारी है। कृषि विज्ञान केंद्र (केवीके), कृषि विश्वविद्यालय व राज्य सरकारों के साथ ही भारत सरकार का प्रयास है कि किसान नई-नई चीजों को सीखे, नए बीज व तकनीकें उन तक पहुंचे लेकिन इसकी एक सीमा है, इसलिए सरकार के कृषि विस्तार कार्यक्रमों से किसान भी जुड़े तो सोने में सुहागा हो सकता है। उन्होंने कहा इससे धीरे धीरे गाँव ,ब्लॉक, जिला,प्रदेश और अंततः देश समृद्ध जोग खुशहाल होगा और हम आत्मनिर्भरता की तरफ अग्रसर हो सकेंगे।

कार्यक्रम में केंद्रीय कृषि एवं किसान कल्याण राज्य मंत्री कैलाश चौधरी ने कहा कि सरकार ने प्रधानमंत्री जी के नेतृत्व में कुपोषण की समस्या हल करने का संकल्प लिया है, साथ ही इस दिशा में अनेक योजनाएं व कार्यक्रम हाथ में लिए हैं। चौधरी ने कहा कि वर्ष 2023 को भारत के नेतृत्व में पोषक-अनाज वर्ष मनाया जाएगा, जो हमारे लिए गर्व का विषय है।

इस अभियान की शुरुआत आईसीएआर के द्वारा की गई। कार्यक्रम में आईसीएआर महानिदेशक डा. त्रिलोचन महापात्र ने अपने वक्तव्य के दौरान बताया कि आईसीएआर द्वारा ज्यादा से ज्यादा किसानों के बीच कृषि संबंधी उपलब्धियां महोत्सव के दौरान बताई जाएँगी, साथ ही उन्हें लाभान्वित भी किया जाएगा।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook, YouTube और Twitter पर फॉलो करे...