1. हिन्दी समाचार
  2. देश
  3. लॉकडाउन से परेशान प्राइवेट स्कूलों का ऐलान, हर हाल में 12 अप्रैल से खुलेंगे स्कूल

लॉकडाउन से परेशान प्राइवेट स्कूलों का ऐलान, हर हाल में 12 अप्रैल से खुलेंगे स्कूल

देश में कोरोना का संक्रमण बढ़ता ही जा रहा है। बिहार के छपरा में लगे लॉकडाउन से परेशान करीब 200 स्कूलों के प्रबंधक अब सरकार से दो-दो हाथ करने के मूड में आ गए है। गंभीर आर्थिक संकट से जूझ रहे स्कूलों ने अब नीतीश सरकार के निर्देश को मानने को तैयार नहीं हैं।

By इंडिया वॉइस 
Updated Date

छपरा। देश में कोरोना का संक्रमण बढ़ता ही जा रहा है। बिहार के छपरा में लगे लॉकडाउन से परेशान करीब 200 स्कूलों के प्रबंधक अब सरकार से दो-दो हाथ करने के मूड में आ गए है। गंभीर आर्थिक संकट से जूझ रहे स्कूलों ने अब नीतीश सरकार के निर्देश को मानने को तैयार नहीं हैं। इसके साथ स्कूल प्रबंधकों ने कहा कि आगामी 12 तारीख से किसी भी हाल में स्कूल खोले जाएंगे। हालांकि इस दौरान उन्‍होंने स्‍कूल में कोरोना गाइडलाइंस का पालन करने की बात जरूर कही है।

पढ़ें :- दिल्ली में नर्सरी एडमिशन के लिए रजिस्ट्रेशन शुरू, 23 दिसंबर तक करें अप्लाई, 20 जनवरी को आएगी पहली लिस्ट

बता दें कि प्राइवेट स्कूल एंड चिल्ड्रेन वेलफेयर एसोसिएशन की बैठक छपरा में आहूत की गई जिसमें जिले के लगभग 200 सौ स्कूल संचालक उपस्थित हुए। इस दौरान यह निर्णय लिया गया कि जिले के सभी स्कूल सरकार के निर्देशानुसार, 11 अप्रैल 2021 तक बंद रहेंगे। उसके बाद यदि सरकार 12 अप्रैल से स्कूल खोलने की अनुमति नहीं देती है। तो इस स्थिति में बच्चों के भविष्य को ध्यान में रखते हुए सरकार द्वारा कोरोना से बचाव के दिए गए निर्देश का पालन करते हुए जिले के सभी स्कूल खुलेंगे।

कोरोना काल में स्कूल जूझ रहे हैं गंभीर आर्थिक संकट से 

एसोसिएशन की अध्यक्ष सीमा सिंह ने बताया कि कोरोना काल में स्कूल गंभीर आर्थिक संकट से जूझ रहे हैं। जबकि सरकार द्वारा इन विद्यालयों को कोई मदद नहीं की गई। स्कूलों के पास अपने शिक्षकों को वेतन देने के लिए पैसे भी मौजूद नहीं है जिसके कारण प्राइवेट शिक्षक भुखमरी के शिकार हो गए हैं। सरकार ने विद्यालय को प्रोत्साहन राशि तक नहीं दी जिसके कारण कोरोना काल में अधिकांश विद्यालय बंद हो गए। कर्ज की मार से जूझ रहे विद्यालयों ने यह निर्णय लिया है कि इस बार सरकार के निर्णय की अनदेखी की करते हुए विद्यालय खोले जाएंगे।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook, YouTube और Twitter पर फॉलो करे...