1. हिन्दी समाचार
  2. क्षेत्रीय
  3. झारखंड विधानसभा : नमाज़ कक्ष आवंटित हुआ तो भाजपा के विधायकों ने किया शिव तांडव नृत्य

झारखंड विधानसभा : नमाज़ कक्ष आवंटित हुआ तो भाजपा के विधायकों ने किया शिव तांडव नृत्य

विधानसभा गेट पर धरना पर बैठकर भाजपा विधायकों ने हनुमान चालीसा का पाठ किया। भाजपा विधायक मांग कर रहे हैं कि सरकार नमाज कक्ष देने के फैसले को तुरंत वापस ले।

By इंडिया वॉइस 
Updated Date

झारखंड विधानसभा के मानसून सत्र के तीसरे दिन मंगलवार को नमाज कक्ष आवंटित करने के मुद्दे पर तीसरे दिन भी भाजपा विधायकों का विरोध जारी है। भाजपा विधायकों ने मंगलवार को विधानसभा परिसर में हनुमान चालीसा का पाठ कर विरोध जताया। विधानसभा गेट पर धरना पर बैठकर भाजपा विधायकों ने हनुमान चालीसा का पाठ किया। भाजपा विधायक मांग कर रहे हैं कि सरकार नमाज कक्ष देने के फैसले को तुरंत वापस ले।

पढ़ें :- झारखंड में एक बार फिर हुई दुमका जैसी घटना, मनचलों ने फेका तेज़ाब, दिल्ली किया एयरलिफ्ट

मौके पर भाजपा विधायक मनीष जयसवाल ने कहा कि जबतक सरकार और विधानसभा अध्यक्ष नमाज कक्ष के फैसले को रद्द नहीं करते या अन्य धर्मों के लोगों के लिए पूजा गृह की व्यवस्था नहीं करते तब तक विरोध जारी रहेगा। इससे पूर्व मंगलवार को देवघर से आये पांडा ने सभी विधायकों को चंदन लगाया। सभी भाजपा विधायकों के बीच हनुमान चालीसा का वितरण किया गया। विधायक नारायण दास, रणधीर सिंह और राज सिन्हा ने शिव तांडव नृत्य भी किया।

विधानसभा परिसर में देवघर विधायक नारायण दास नायब तरीके से विरोध प्रदर्शन किया। उन्होंने बेलपत्र का माला पहनाकर विरोध जताया । उन्होंने कहा कि हेमंत सरकार ने बाबा बैद्यनाथ को नजरबंद कर रखा है। दो साल से देवघर के लोगों की स्थिति भूखों मरने जैसी हो गयी है। उन्होंने कहा कि सरकार अगर नहीं चेतेगी तो देवघर के लोग सरकार का ईंट से ईंट बजाकर रख देंगे।

भाजपा विधायक अनंत ओझा ने कहा कि हम सभी विधानसभा अध्यक्ष के लिए बजरंगबली से प्रार्थना कर रहे हैं कि जल्द से जल्द बजरंगबली उन्हें सद्बुद्धि दें।विधायकों ने कहा कि हम हनुमान चालीसा का पाठ इसलिए कर रहे हैं, क्योंकि हम हिंदू धर्म को मानते हैं। हम लोगों को बजरंगबली पर पूरा भरोसा है, और यह विश्वास है कि वह हेमंत सरकार को सद्बुद्धि देंगे।

उल्लेखनीय है कि विधानसभा अध्यक्ष ने विधानसभा भवन में नमाज पढ़ने के लिये कक्ष आवंटित किया है। भाजपा विधायक इस फैसले का विरोध कर रही है। विरोध की वजह से मानसून सत्र की कार्यवाही बाधित हो रही है।

पढ़ें :- Jharkhand में राजनीतिक घेराबंदी पर Hemant का हमला [ इंडिया वॉइस विश्लेषण ]

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook, YouTube और Twitter पर फॉलो करे...