1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. स्वास्थ्य विभाग की बड़ी लापरवाही, नसबंदी के बाद महिला हुई गर्भवती

स्वास्थ्य विभाग की बड़ी लापरवाही, नसबंदी के बाद महिला हुई गर्भवती

पीड़ित महिला ने बताया कि उसके 05 बच्चे होने के कारण उसने नसबंदी का रास्ता चुना था, लेकिन नसबंदी के बाद भी महिला फिर से प्रग्नेंट हो गयी।

By इंडिया वॉइस 
Updated Date

स्वास्थ ही मानव की असली संपत्ति है, स्वास्थ विभाग का ये दायित्व है कि प्राथमिक से लेकर स्वस्थ की सभी मूलभूत आवश्यकताओं के प्रति अपने दायित्व को पूरा करे , लेकिन क्या हो अगर वाहू स्वास्थ्य विभाग अपने काम में लापरवाही करने लगे। आपको बता दें कि, स्वास्थ्य विभाग की लापरवाही का नतीजा एक औरैया के ग्राम जनेतपुर निवासी महिला को भुगतना पड़ रहा है।

पढ़ें :- अजवाईन के अनेक फ़ायदे जान आप भी हो जाएंगे हैरान ,तेजी से घटेगा वजन

पीड़ित महिला ने बताया कि उसके 05 बच्चे होने के कारण उसने नसबंदी का रास्ता चुना था, लेकिन नसबंदी के बाद भी महिला फिर से प्रग्नेंट हो गयी। जब इस प्रकरण की जानकारी महिला ने स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को बताई तो वह भी हैरान हो गए, जिसकें बाद स्वास्थ विभाग में हड़कंप मच गया और स्वास्थ्य विभाग महिला के साथ हुई घटना पर चुप्पी साध गया।

जनेतपुर निवासी गुड्डी ने बताया कि नसबंदी कराने के लिए गांव की आशा बहू ने उसे प्रेरित किया था। जिसके बाद वह नसबंदी के लिए तैयार हो गयी थी। स्वास्थ्य विभाग ने महिला की नसबंदी 05 जनवरी को कर दी, लेकिन महिला ने कभी नहीं सोचा था कि नसबंदी कामयाब नहीं होगी और वह फिर से प्रेग्नेंट हो जाएगी।फिलहाल स्वास्थ्य विभाग की लापरवाही का नतीजा महिला को भुगतना पड़ रहा है। इस घटना से महिला काफी परेशान नजर आ रही है क्योंकि वह पहले से 05 बच्चों की मां है जो कि उनके लालन-पालन करने में मुसीबतें झेल रही है। इस घटना के बाद स्वास्थ्य विभाग ने महिला के मुसीबत का बोझ और बढ़ा दिया है।

फिलहाल महिला इस प्रकरण की शिकायत को लेकर अपनी कोख में 08 माह का बच्चा लेकर न्याय के लिये अधिकारियों के दरवाजे के चक्कर लगा रही है।

पढ़ें :- मेरठ को सता रहा डेंगू का डंक, मरीजों की खोज जारी
इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook, YouTube और Twitter पर फॉलो करे...