1. हिन्दी समाचार
  2. बिहार
  3. Bihar News : पूर्व मुख्यमंत्री की जुबान काटने की बात करने वाले नेता को पार्टी ने किया निष्कासित

Bihar News : पूर्व मुख्यमंत्री की जुबान काटने की बात करने वाले नेता को पार्टी ने किया निष्कासित

हाल ही में बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी ने ब्राहमण समाज को लेकर विवादित बयान दिया था, जिसके बाद मामले को बढ़ता देख मांझी ने माफ़ी मांग ली। पर इन सब के बीच भाजपा नेता पर पार्टी की गाज गिर गई और पार्टी ने उन्हें बाहर का रास्ता दिखा दिया।

By इंडिया वॉइस 
Updated Date

बिहार, 22 दिसंबर 2021 : हाल ही में ब्राह्मण समाज को लेकर दिए गए अपने विवादित बयान के लिए बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा के संस्थापक जीतन राम मांझी ने माफी मांग ली है। उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा कि एक जाति के खिलाफ बोला गया मेरा शब्द ‘स्लिप ऑफ टंग’ हो सकता है, इसके लिए मैं खेद प्रकट करता हूं। हालांकि उन्होंने आगे लिखा कि मैं ब्राह्मणवाद के खिलाफ हूं और इस व्यवस्था का विरोध जारी रहेगा।

पढ़ें :- Bihar News:पुलिसवाले ने पत्नी को मिट्टी तेल डालकर जिंदा जलाया,आरोपी जवान बक्सर में है पोस्टेड

 

पढ़ें :- Bihar News: गोपालगंज में ठेकेदार की हत्या, हाईवे किनारे मिली लावारिस हालत में बाइक और लाश

जीभ काटने की बात करने वाले भाजपा नेता को पार्टी ने किया निष्कासित 

वहीं दूसरी तरफ उनके द्वारा दिए गए विवादित बयान को लेकर उनकी जीभ काटने पर 11 लाख ईनाम देने के बात कहने वाले भाजपा नेता गजेन्द्र झा को पार्टी ने निष्कासित कर दिया है। साथी ही भाजपा ने गजेंद्र झा को 15 दिनों का अल्टीमेटम भी दिया है कि वो अपने दिए गए बयान पर पार्टी को अपना स्पष्टीकरण भी दें।

पढ़ें :- तेजस्वी यादव ने जनसभा को किया संबोधित, कहा: हमारा गठबंधन ए टू जेड वाला है...

आपको बता दें कि भाजपा नेता गजेंद्र झा ने जीतन राम मांझी को लेकर यह बयान दिया था कि जो भी जीतन राम मांझी की जीभ काटकर लाएगा उसे वो 11 लाख रुपए का ईनाम देंगे। उनके द्वारा दिए गए विवादित बयान पर सियासत गर्म होने लगी ऐसे में इस मामले को संज्ञान में लेते हुए भाजपा ने गजेंद्र झा को पार्टी से निष्कासित कर दिया है।

 

जीतन राम माझी के दिए बयान से ब्राह्मण समाज में नाराजगी 

गौरतलब है कि हाल ही में ‘हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा’ के संस्थापक और बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी ने ब्राह्मण समुदाय को लेकर एक विवादित बयान दिया था। हालांकि मामले को बढ़ता देख उन्होंने ट्वीट कर माफी मांग ली। बावजूद इसके जीतन राम मांझी के दिए बयान के बाद से ब्राह्मण समाज में उनके खिलाफ नाराजगी बढ़ती ही जा रही है। जिसके बाद से जीतन राम मांझी के खिलाफ बिहार के अलग अलग थानों में शिकायत दर्ज की गई है। साथ ही उनके खिलाफ कार्रवाई करने की भी मांग उठाई जा रही है।

 

और पढ़ें – यूपी में चुनाव आयोग की तैयारी, 50% बूथों की होगी वेब कास्टिंग

Bihar News : गिरिराज सिंह के संसदीय क्षेत्र का कौन बनेगा जिला परिषद अध्यक्ष, एनडीए का पलड़ा भारी

पढ़ें :- बिहार के शख्स ने 4 अलग-अलग राज्यों में 6 महिलाओं से की शादी; दूसरी पत्नी के भाई ने पकड़ा

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook, YouTube और Twitter पर फॉलो करे...