1. हिन्दी समाचार
  2. क्षेत्रीय
  3. Bihar News : सिंगल यूज प्लास्टिक के प्रयोग पर 15 दिसंबर से बिहार में होगा प्रतिबंध

Bihar News : सिंगल यूज प्लास्टिक के प्रयोग पर 15 दिसंबर से बिहार में होगा प्रतिबंध

Single Use Plastic Ban : बिहार में अब सिंगल यूज प्लास्टिक (Single Use Plastic) का प्रयोग और उत्पादन दोनों पर प्रतिबंध लगेगा।

By इंडिया वॉइस 
Updated Date

पटना, 14 दिसंबर। सिंगल यूज प्लास्टिक के प्रयोग पर कल यानि 15 दिसम्बर से बिहार में प्रतिबंध लग जायेगा। प्रतिबंध के बाद इसका उपयोग करते हुए पकड़े जाने पर जेल और जुर्माना दोनों का प्रावधान है। बता दें कि ये आदेश आज मध्य रात्री से पूरे राज्य में लागू कर दिया जाएगा।

पढ़ें :- बिहार विधान परिषद की 11 सीटों पर लगभग तय हुए जदयू के उम्मीदवार

 

पकड़े जाने पर होगी कड़ी कार्रवाई 

बिहार में सिंगल यूज प्लास्टिक की बिक्री पर और उपयोग को लेकर बिहार सरकार कड़ा रुख अपना चुकी है। बता दें कि बिहार में प्लास्टिक और थर्माकोल से बनी वस्तुओं का प्रयोग करने वाले पर अब कार्रवाई होगी। हालांकि अभी तक सिंगल यूज प्लास्टिक का कोई विकल्प तैयार नहीं किया गया है।

First Australian state to ban single-use plastics

File Photo

जानकरी के अनुसार इसका उत्पादन मई 2022 से शुरू होने की संभावना है। इसके लिए राज्य के प्लास्टिक उत्पादकों ने बायो डिग्रेडेबल दाना को सीपेट चेन्नई में जांच के लिए भेजा है। वहीं बता दें कि इस पूरी प्रक्रिया में करीब 6 से 7 महीने का समय लगेगा। जिससे लोगों को जेब ज्यादा ढीली करनी पड़ेगी।

पढ़ें :- बिहार में विप की सीटों का बंटवारा, 13 पर भाजपा और 11 पर जदयू लड़ेगी चुनाव

लोगों की जेब होगी ढीली

‘बिहार प्लास्टिक इंडस्ट्री एसोसिएशन’ के प्रेम कुमार ने कहा है कि राज्य के बाहर से आने वाली ‘बायो डिग्रेडेबल प्लास्टिक‘ के लिए लोगों को 6 से 7 गुना ज्यादा पैसे देने पड़ेंगे। 25 पैसा के प्लास्टिक बैग के लिए डेढ़ रुपये तक चुकाना पड़ेगा। उन्होंने कहा है कि सिंगल यूज प्लास्टिक पर प्रतिबंध लगने से इस धंधे में लगे उद्यमियों की पूंजी टूट जाएगी और कई उद्यमी कर्ज में डूब जायेंगे।

कैट (CAIT) के बिहार चेयरमैन कमल नोपानी ने प्रतिबंध की समय सीमा बढ़ाने की मांग की है। उन्होंने कहा है कि देश में 1 जुलाई 2022 से इस पर प्रतिबंध लगाया जा रहा है। राज्य में भी इस प्रतिबंध को देश के साथ ही लागू किया जाना चाहिए।

 

प्रतिदिन 60 टन से ज्यादा होता सिंगल यूज प्लास्टिक का उत्पादन 

उल्लेखनीय है कि राज्य में लगभग 20 बड़ी उत्पादन इकाइयां है जो निबंधित हैं। इसके अलावा बड़ी संख्या में छोटी-छोटी सैकड़ों उत्पादन इकाइयां है। प्लास्टिक इंडस्ट्री में लगभग 100 करोड़ रुपये की पूंजी लगी हुई है। बैंकों ने भी कई इकाइयों को कर्ज दिया है। आपको बता दें कि राज्य में प्रतिदिन 60 टन से ज्यादा सिंगल यूज वाले प्लास्टिक का उत्पादन होता है।

 

और पढ़ें – Bihar News : बिहार बनेगा टूरिज्म हब, इस जिले में 1.5 किलोमीटर लंबे ‘हैंगिंग ब्रिज’ का होगा निर्माण 

पढ़ें :- युवाओं के लिए अच्छी खबर, बिहार में जल्द ही होगी 45 हज़ार शिक्षकों की भर्ती
इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook, YouTube और Twitter पर फॉलो करे...