1. हिन्दी समाचार
  2. क्षेत्रीय
  3. झारखंड में भाजपा नेता की गोली मारकर हत्या

झारखंड में भाजपा नेता की गोली मारकर हत्या

जीतराम मुंडा एक कार्यक्रम से लौट रहे थे। इसी दौरान बाइक पर सवार अपराधियों ने उन पर फायरिंग की।गोली मारने के बाद अपराधी फरार हो गए

By इंडिया वॉइस 
Updated Date

राजधानी रांची के ओरमांझी थाना क्षेत्र के पालू में एक होटल के समीप अपराधियों ने बुधवार को भाजपा अनुसूचित जनजाति जिला मोर्चा अध्यक्ष जीतराम मुंडा (38) की गोली मारकर हत्या कर दी।जीतराम मुंडा एक कार्यक्रम से लौट रहे थे। इसी दौरान बाइक पर सवार अपराधियों ने उन पर फायरिंग की।गोली मारने के बाद अपराधी फरार हो गए। गोलीबारी में घायल भाजपा नेता को आनन-फानन में ओरमांझी स्थित मेदांता अस्पताल लाया गया, जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया।

पढ़ें :- Jharkhand : झारखंड कांग्रेस प्रभारी पर केस दर्ज, कोतवाली पहुंचे पार्टी के बड़े नेता

घटना में मंडल मीडिया प्रभारी राजकिशोर साहू भी घायल हैं। वह खतरे से बाहर हैं। अपराधियों की संख्या दो बताई जा रही है। इससे पहले भी जीतराम मुंडा पर गोली चल चुकी थी। बताया गया कि भाजपा नेता ओरमांझी में कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष बंधु तिर्की का पुतला जलाकर आर्यन होटल के समीप खड़े थे। इसी दौरान अज्ञात अपराधी गोली मारकर फरार हो गए।

घटना की सूचना मिलते ही ओरमांझी पुलिस मौके पर पहुंची और जांच पड़ताल की। ग्रामीण एसपी नौशाद आलम घटना की जानकारी मिलते हैं घटनास्थल पर पहुंचे और आसपास के लोगों से पूछताछ की। साथ ही आसपास लगे सीसीटीवी फुटेज को भी खंगाला जा रहा है। गोलीबारी की घटना के बाद रांची पुलिस जगह-जगह छापेमारी कर रही है। अभी तक एक भी अपराधी पकड़े नहीं गए हैं। इस संबंध में ग्रामीण एसपी नौशाद आलम ने बताया कि पूरे मामले की गहन जांच पड़ताल की जा रही है। अपराधियों को शीघ्र ही गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

दूसरी ओर घटना के बाद भाजपा नेताओं में आक्रोश है। केंद्रीय मंत्री अर्जुन मुंडा ने घटना पर अपनी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा कि जीतराम मुंडा की ओरमांझी में गोली मारकर हत्या पूरी तरह से प्रशासनिक विफलता का परिणाम है। जीतराम को पहले से ही जानलेवा हमले की आशंका थी। उनपर पहले भी हमला हो चुका था।इसकी सूचना पूरे प्रशासनिक अमले को थी। उन्होंने आर्म्स लाइसेंस के लिए भी आवेदन दिया था, लेकिन प्रशासन ने न तो उन्हें सुरक्षा उपलब्ध करायी और न ही आर्म्स लाइसेंस दिया। मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन इस पूरे मामले की जांच कराएं और इस मामले में हुई प्रशासनिक चूक को सार्वजनिक करें।

मामले को लेकर झारखंड के पूर्व मुख्यमंत्री व भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष रघुवर दास ने भाजपा अनुसूचित जनजाति जिला मोर्चा अध्यक्ष जीतराम मुंडा की हत्या की कड़ी निंदा की है। उन्होंने कहा कि झारखंड में अपराधियों का राज हो गया है। हेमंत सरकार में कानून व्यवस्था की स्थिति पूरी चरमरा गई है। राज्य में अराजकता की स्थिति उत्पन्न हो गई है। झारखंड में आज न तो आदिवासी सुरक्षित है, न ही बच्चियां सुरक्षित हैं। सरकार के मंत्री-विधायक, अधिकारी सभी तुष्टिकरण की राजनीति में लगे हुए हैं। बाकी जनता की किसी को परवाह नहीं है। ऐसी स्थिति में भी सरकार अपनी पीठ ठोकने के अलावा दूसरा काम नहीं कर रही है। जीतराम मुंडा की हत्या अपराधियों के बढ़े मनोबल को दिखाता है। इस घटना की जितनी निंदा की जाए कम है। भाजपा कार्यकर्ता चुप नहीं बैठेंगे। राज्य की इस अक्षम सरकार को उखाड़ फेकेंगे। जीतराम मुंडा का बलिदान व्यर्थ नहीं जायेगा।

पढ़ें :- Jharkhand : राज्यसभा की सीट पर मंथन के लिए कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष ने सीएम से की मुलाकात, भाजपा में भी चल रही बैठक

रांची के सांसद संजय सेठ ने कहा राज्य में अपराधियों का राज कायम हो गया है। यहां कानून व्यवस्था पूरी तरह ध्वस्त हो चुकी है। अपराधी प्रशासन को ठेंगा दिखा कर अपराध कर रहे हैं। राज्य में कोई भी सुरक्षित नहीं है। राज्य में जज, पत्रकार, व्यापारी सहित सभी वर्ग अपराधियों से त्रस्त है। राज्य में माफिया राज कायम है। सांसद संजय सेठ ने सरकार और प्रशासन से 24 घंटे में हत्यारों को गिरफ्तार करने की मांग की है। इसके अलावा भाजपा के कई नेताओं ने इस घटना की कड़ी निंदा की है।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook, YouTube और Twitter पर फॉलो करे...