1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. प्रधानमंत्री के कानपुर पहुंचने से पहले पुलिस हिरासत में व्यापारी नेता, जानें क्या है पूरा मामला

प्रधानमंत्री के कानपुर पहुंचने से पहले पुलिस हिरासत में व्यापारी नेता, जानें क्या है पूरा मामला

विरोध प्रदर्शन कर रहे व्यापारी नेता संदीप पाण्डेय को पुलिस ने हिरासत में ले लिया।

By इंडिया वॉइस 
Updated Date

कानपुर, 28 दिसम्बर। शहरवासियों के लिए खुशी का क्षण आने ही वाला है जब प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी मेट्रो का शुभारंभ करेंगे, लेकिन उससे पहले एक व्यापारी नेता विरोध प्रदर्शन पर उतारु हो गया। उसकी मांग थी कि मेट्रो सरकारी उपक्रम है, इसलिए एसपीएम मेट्रो स्टेशन का नाम बदला जाए, क्योंकि इससे उस अस्पताल का प्रचार हो रहा है जो निजी अस्पताल है। विरोध प्रदर्शन कर रहे व्यापारी नेता संदीप पाण्डेय को पुलिस ने हिरासत में ले लिया।

पढ़ें :- लखनऊ मेट्रो से भी कम समय में बन कर तैयार हुआ कानपुर मेट्रो

मेट्रो स्टेशन का नाम बदलने को लेकर कर रहा था प्रदर्शन

कल्याणपुर थाना क्षेत्र के अंतर्गत बने एक मेट्रो स्टेशन का नाम एसपीएम मेट्रो स्टेशन है। यह नाम प्राइवेट हॉस्पिटल के नाम पर रखा गया है जिसका विरोध बराबर क्षेत्रीय लोग कर रहे हैं। क्षेत्रीय लोगों का कहना है कि इससे निजी अस्पताल का प्रचार प्रसार हो रहा है, जबकि मेट्रो सरकारी उपक्रम है और निजी अस्पताल को लाभ न पहुंचाया जाये।

विरोध प्रदर्शन कर रहे व्यापारी नेता गिरफ्तार

इसको लेकर कानपुर ग्रामीण उद्योग व्यापार मंडल के जिलाध्यक्ष संदीप पाण्डेय भी बराबर विरोध जता रहे हैं। इसी क्रम में मंगलवार को जब प्रधानमंत्री मेट्रो का शुभारंभ करने जा रहे हैं उससे पहले एक बार फिर व्यापारी नेता ने विरोध प्रदर्शन कर दिया। विरोध प्रदर्शन देख पुलिस ने व्यापारी नेता को हिरासत में ले लिया।

पढ़ें :- कानपुर मेट्रो के 9 स्टेशनों को इंडियन ग्रीन बिल्डिंग काउन्सिल ने दी प्लैटिनम रेटिंग

किसी महापुरुष के नाम पर किया जाय मेट्रो स्टेशन का नाम 

व्यापारी नेता का कहना है कि उनके द्वारा मुख्यमंत्री और राष्ट्रपति तक ज्ञापन के माध्यम से अपना विरोध प्रकट करते हुए पोस्टकार्ड अभियान भी चलाया जा रहा था। आज हम प्रधानमंत्री से मांग करते हैं कि एसपीएम मेट्रो स्टेशन का नाम बदलकर किसी महापुरुष के नाम कर दिया जाये। संदीप पांडेय का कहना है कि वह ऐसी गिरफ्तारी से नहीं डरते हैं और उनका विरोध तब तक जारी रहेगा जब तक एसपीएम मेट्रो स्टेशन का नाम बदला नहीं जाता है। उन्होंने कहा कि हम व्यापारी डरने दबने वाले नहीं हैं और विरोध जारी रहेगा।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook, YouTube और Twitter पर फॉलो करे...