1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. उत्तर प्रदेश : सीएम योगी का बड़ा फैसला, प्रदेश में ”कोविड महामारी एक्ट” उल्लंघन में दर्ज मुकदमें होंगे वापस

उत्तर प्रदेश : सीएम योगी का बड़ा फैसला, प्रदेश में ”कोविड महामारी एक्ट” उल्लंघन में दर्ज मुकदमें होंगे वापस

आज 31 जनपदों में एक भी कोरोना के एक्टिव केस नहीं है

By इंडिया वॉइस 
Updated Date

लखनऊ, 03 अक्टूबर – उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने बड़ा फैसला लिया है। जी हाँ योगी सरकार ने प्रदेश में लागू कोविड महामारी एक्ट को समाप्त करने और उससे जुड़े सभी दर्ज मुकदमों को समाप्त करने का आदेश जारी किया है। बता दें कि सीएम योगी ने रविवार को कोविड-19 प्रबंधन के लिए गठित ”टीम-09” की बैठक में अधिकारियों को यह निर्देश दिया है।

पढ़ें :- UP News: पति द्वारा पत्नी की हत्या का मामला आया सामने, पुलिस ने आरोपी पति और उसके भाई को किया गिरफ्तार

बैठक में अधिकारियों को निर्देश देते हुए सीएम योगी ने कहा कि व्यापक जनहित को दृष्टिगत रखते हुए ”कोविड महामारी एक्ट” के उल्लंघन से जुड़े सभी दर्ज मुकदमों को जल्द से जल्द समाप्त किया जाय। योगी सरकार ने गृह विभाग को आदेश जारी कर कहा है कि इस संबंध में आवश्यक कार्यवाही की जाए।
आपको बता दें कि प्रदेश सरकार द्वारा जारी कोविड महामारी का उलंघन करने वालों के खिलाफ एक हज़ार से लेकर दस हज़ार रूपये तक के जुर्माने का प्रावधान था। जिसे आज समाप्त करने का फैसला लिया गया है।

आपको बता दें कि इसके आलावा सीएम योगी ने यह भी निर्देश दिया है कि थाना व सर्किल सहित फील्ड में तैनात अवैध गतिविधियों में संलिप्त और खराब रिकॉर्ड वाले दागी पुलिसकर्मियों की सूची यथाशीघ्र तैयार कर प्रस्तुत की जाए। उन्होंने कहा कि ऐसे लोग जो प्रदेश की पुलिस व्यवस्था की साख खराब करने वाले हैं, सभी के विरुद्ध कठोरतम कार्रवाई की जायेगी।

उन्होंने इस बैठक में आगे कहा कि ”प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के मार्गदर्शन में जारी सतत प्रयासों से कोरोना की दूसरी लहर पर प्रभावी नियंत्रण बना हुआ है”। प्रदेश के आज 31 जनपदों में एक भी कोरोना के एक्टिव केस नहीं है, जबकि 21 जिलों में एक-एक एक्टिव केस शेष बचे हैं।

सीएम योगी ने अधिकारियों को बरसात के कारण उत्पन्न हो रही बिमारियों से अवगत कराते हुए कहा कि ”बरसात के मौसम में बीमारियों से बचाव के लिए इस वक्त विशेष सतर्कता की जरूरत है”। ”डेंगू, डायरिया, कॉलरा सहित सभी वायरल बीमारियों” से प्रभावित लोगों के समुचित उपचार की व्यवस्था सही समय से उपलब्ध कराई जाय। साथ ही सर्विलांस को और बेहतर बनाने की कोशिश हो और हर एक मरीज के स्वास्थ्य की सतत निगरानी की जाए। स्वच्छता, सैनिटाइज़ेशन, फॉगिंग का सघन अभियान लगातार जारी रखा जाए।

पढ़ें :- UP IPS Transfer: यूपी में 6 आईपीएस अफसरों के तबादले, छह आईपीएस अफसरों को नई तैनाती

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook, YouTube और Twitter पर फॉलो करे...