1. हिन्दी समाचार
  2. देश
  3. सीबीआई ने रिश्वत मामले में सेना के दो हवलदार गिरफ्तार

सीबीआई ने रिश्वत मामले में सेना के दो हवलदार गिरफ्तार

सेना में हवलदार रैंक के दो अधिकारियों को सीबीआई की टीम ने गिरफ्तार किया है।

By इंडिया वॉइस 
Updated Date

नई दिल्ली, 17 नवंबर। केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) ने 50 हजार रुपये के कथित रिश्वत मामले में सेना में हवलदार रैंक के दो अधिकारियों को गिरफ्तार किया है। दक्षिणी कमान, पुणे के दो सैन्य अधिकारियों के खिलाफ शिकायत पर मामला दर्ज किया गया था।

नौकरी दिलाने के नाम पर रिश्वत लेते थे सेना के अधिकारी

केन्द्रीय एजेंसी के अनुसार यह आरोप लगाया गया था कि शिकायतकर्ता को सेना आयुध कोर, पुणे द्वारा ली गई परीक्षा में एमटीएस के पद पर चुना गया था और कॉल लेटर प्राप्त हुआ था, जिसके मुताबिक उसे 19 नवंबर को या उससे पहले आयुध कारखाने, वर्धा (महाराष्ट्र) में शामिल होना था।

आगे यह भी आरोप लगाया गया कि जल्द से जल्द औपचारिकताओं में शामिल होने के बहाने आरोपित ने शिकायतकर्ता का मूल कॉल लेटर ले लिया और 2.5 लाख रुपये की रिश्वत की मांग की और 50,000 रुपये की प्रारंभिक राशि स्वीकार करने के लिए सहमत हो गया।

यह भी आरोप लगाया गया था कि शिकायतकर्ता द्वारा फोनपे के माध्यम से एक आरोपित के खाते में 30 हजार रुपये की राशि हस्तांतरित की गई थी। इसके बाद दोनों आरोपित कथित रूप से शेष 20 हजार रुपये की राशि देने के लिए आए। सीबीआई ने जाल बिछाकर उक्त राशि की मांग व स्वीकार करते हुए आरोपित को पकड़ लिया। पुणे में आरोपित के परिसरों की तलाशी ली गई, जिसमें मामले से संबंधित आपत्तिजनक दस्तावेज बरामद हुए।

दोनों आरोपितों को आज सीबीआई के विशेष न्यायाधीश, पुणे की अदालत में पेश किया गया और उन्हें पांच दिन की पुलिस हिरासत में भेज दिया गया। एक अन्य मामले में सीबीआई ने शिकायतकर्ता से प्रारंभिक किश्त के रूप में 4 हजार रुपये की रिश्वत मांगने और स्वीकार करने के लिए भारतीय वायु सेना, लोहेगांव, पुणे के एक नागरिक राजपत्रित अधिकारी को गिरफ्तार किया है।

भारतीय वायु सेना 2 विंग, लोहेगांव, पुणे के उक्त अधिकारी के खिलाफ शिकायत पर मामला दर्ज किया गया था। यह आरोप लगाया गया था कि आरोपित ने शिकायतकर्ता से देहू रोड, पुणे में अपने स्थानांतरण अनुरोध पर विचार करने के लिए 50 हजार रुपये के अनुचित लाभ की मांग की।

सीबीआई ने जाल बिछाया और शिकायतकर्ता से प्रारंभिक किश्त के रूप में 4 हजार रुपये की रिश्वत मांगते और स्वीकार करते हुए आरोपित को पकड़ लिया। पुणे में आरोपित के कार्यालय और आवासीय परिसरों की तलाशी ली गई, जहां से आपत्तिजनक दस्तावेज बरामद हुए। आरोपित को सीबीआई के विशेष न्यायाधीश, पुणे की अदालत में पेश किया गया और उसे दो दिन की पुलिस हिरासत में भेज दिया गया।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...
India Voice Ads
X