Booking.com

राज्य

  1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तराखंड
  3. CDS Bipin Rawat : मुख्यमंत्री धामी ने CDS जनरल बिपिन रावत के निधन को बताया निजी क्षति

CDS Bipin Rawat : मुख्यमंत्री धामी ने CDS जनरल बिपिन रावत के निधन को बताया निजी क्षति

Uttarakhand Cm Pushkar Singh Dhami expressed grief : हेलिकॉप्टर क्रैश पर धामी ने जताया दुःख.

By इंडिया वॉइस 

Updated Date

Uttarakhand Update : मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी (CM Pushkar Singh Dhami) ने हेलीकाप्टर दुर्घटना में CDS जनरल बिपिन रावत, उनकी पत्नी मधुलिका रावत और अन्य अधिकारियों की आकस्मिक मृत्यु पर गहरा दुख व्यक्त करते हुए इसे देश के लिए अपूरणीय क्षति बताया है। उन्होंने कहा कि इस महान सपूत का देश की सुरक्षा और महान सेवा के योगदान पर हमेशा गर्व रहेगा।

पढ़ें :- Uttarakhand News: हल्द्वानी से रिश्तों को शर्मसार करने का मामला आया सामने, सगे भाई ने नाबालिग बहन को बनाया हवस का शिकार

 

सीएम धामी ने बिपिन रावत के निधन को बताया निजी क्षति 

जनरल बिपिन रावत जी का निधन मेरे लिए एक निजी क्षति भी है। उन्होंने सदैव एक अभिभावक की तरह मेरा संरक्षण और मार्गदर्शन किया। एक सैनिक पुत्र होने के नाते मैं उनके परिवार पर आए इस कष्ट से परिचित हूं। इस अत्यंत दुख की घड़ी में मेरी संवेदनाएं परिजनों के साथ हैं। उन्होंने आगे कहा कि जनरल बिपिन रावत जी एक निष्ठावान और राष्ट्र के लिए सदैव समर्पित रहने वाले सैन्य अधिकारी थे। देश के पहले Chief of Defence Staff के रूप में उन्होंने अभूतपूर्व कार्य किए। उनका आकस्मिक निधन भारत और विशेष रूप से उत्तराखंड के लिए एक अपूरणीय क्षति है।

 

साहसिक निर्णयों को देश सदैव याद करेगा 

मुख्यमंत्री ने उनके परिजनों को इस दुख को सहन करने की शक्ति प्रदान करने की ईश्वर से प्रार्थना की। उन्होंने कहा कि देश की सीमाओं की सुरक्षा और देश की रक्षा के लिए उनके लिए गए साहसिक निर्णयों और सैन्य बलों के मनोबल को सदैव ऊंचा बनाए रखने में उनके योगदान को देश सदैव याद रखेगा।

पढ़ें :- Earthquake News: उत्तराखंड के उत्तरकाशी में महसूस किए गए भूकंप के झटके, लोगों में दहशत

और पढ़ें –  CDS Bipin Rawat : बिपिन रावत का आर्मी चीफ से CDS तक का सफर

 

बिपिन रावत का निधन उत्तराखंड के लिए बड़ी क्षति है 

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने आगे कहा कि सीडीएस जनरल बिपिन रावत की परवरिश उत्तराखण्ड के छोटे से गांव में हुई। वे अपनी विलक्षण प्रतिभा, परिश्रम, अदम्य साहस और शौर्य के बल पर सेना के सर्वोच्च पद पर आसीन हुए। उनके आकस्मिक निधन से उत्तराखण्ड को भी बड़ी क्षति हुई है।

 

और पढ़ें – Mi-17v5 Chopper : आज क्रैश हुए Mi-17 को क्यों कहते हैं दुनिया का सबसे एडवांस हेलिकॉप्टर, जानें इसके बारे में सबकुछ

पढ़ें :- जोशीमठ को भूस्खलन से ध्वस्त होने से बचाने के लिए रिसर्च में जुटे वैज्ञानिक

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook, YouTube और Twitter पर फॉलो करे...
Booking.com
Booking.com
Booking.com
Booking.com