Booking.com

राज्य

  1. हिन्दी समाचार
  2. देश
  3. केंद्र सरकार ने ‘एयर इंडिया’ के टाटा समूह के हाथ में जाने की खबरों का खंडन किया

केंद्र सरकार ने ‘एयर इंडिया’ के टाटा समूह के हाथ में जाने की खबरों का खंडन किया

दीपम के सचिव ने वित्त मंत्रालय के ट्वीटर हैंडल पर अपने ट्वीट में लिखा है कि मीडिया में इस तरह की खबरें आ रही हैं कि सरकार ने एयर इंडिया के फाइनेंशियल बिड को मंजूरी दे दी है, ये गलत है।

By इंडिया वॉइस 

Updated Date

नई दिल्ली, 01 अक्टूबर। सार्वजनिक क्षेत्र की एयरलाइन कंपनी एयर इंडिया के टाटा समूह के नियंत्रण में जाने से संबंधित मीडिया में चल रही खबरों का केंद्र सरकार ने खंडन किया है। वित्त मंत्रालय के निवेश और लोक संपत्ति प्रबंधन विभाग के सचिव ने शुक्रवार को ट्वीट कर ये जानकारी दी।

पढ़ें :- एअर इंडिया एक्सप्रेस के विमान में तकनीकी खराबी के बाद कोच्चि एयरपोर्ट पर हुई इमरजेंसी लैंडिंग

दीपम के सचिव ने वित्त मंत्रालय के ट्वीटर हैंडल पर अपने ट्वीट में लिखा है कि मीडिया में इस तरह की खबरें आ रही हैं कि सरकार ने एयर इंडिया के फाइनेंशियल बिड को मंजूरी दे दी है, ये गलत है। सरकार जब भी इस पर फैसला ले लेगी, मीडिया को इसकी जानकारी दी जाएगी।

पढ़ें :- AIE विमान की emergency landing, तिरुवनंतपुरम से मस्कट की फ्लाइट में तकनीकी खराबी, टेकऑफ के 47 मिनट बाद लौटी

बतादें कि घाटे में चल रही सार्वजनिक क्षेत्र की कंपनी एयर इंडिया के टाटा ग्रुप और स्पाइसजेट के अजय सिंह ने बोली लगाई थी। ये दूसरा मौका है जब एयर इंडिया को बेचने की कोशिश की जा रही है। इससे पहले साल 2018 में सरकार ने कंपनी में 76 फीसदी हिस्सेदारी बेचने की कोशिश की थी, लेकिन उसे कोई रिस्पांस नहीं मिला था।

गौरतलब है कि 68 साल बाद फिर टाटा समूह की होगी एयर इंडिया, सरकार ने टाटा समूह की बोली को स्वीकार कर लिया है। सरकार ने पूरी 100 फीसदी हिस्सेदारी बेचने के लिए टेंडर मंगाई थी। सूत्रों के मुताबिक एयर इंडिया का रिजर्व प्राइस 15 से 20 हजार करोड़ रुपये तय किया गया था। इस तरह की खबरें मीडिया में चल रही थीं। इन खबरों का खंडन करते हुए दीपम के सचिव ने सफाई दी है। उन्होंने कह कि अभी इस पर फैसला नहीं हुआ है। इस पर जब फैसला होगा तो इसकी जानकारी दी जाएगी।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook, YouTube और Twitter पर फॉलो करे...
Booking.com
Booking.com
Booking.com
Booking.com