1. हिन्दी समाचार
  2. क्षेत्रीय
  3. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने बारिश से प्रभावित इलाकों का हवाई सर्वेक्षण कर जायजा लिया

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने बारिश से प्रभावित इलाकों का हवाई सर्वेक्षण कर जायजा लिया

सीएम नीतीश ने कहा कि सजायाफ्ता जनप्रतिनिधियों को पेंशन दिए जाने का मामला जनप्रतिनिधि रहा है, उनको जो संविधान के तहत ही मदद मिलती है वो दी जाती है।

By इंडिया वॉइस 
Updated Date

पटना, 05 अक्टूबर। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने मंगलवार को वैशाली, मुजफ्फरपुर, सीतामढ़ी, शिवहर, पूर्वी चंपारण, गोपालगंज और सारण जिले के अतिवृष्टि से प्रभावित इलाकों का हवाई सर्वेक्षण कर जायजा लिया।

पढ़ें :- हाई कोर्ट ने नितीश सरकार को दिया नए सिरे से हलफनामा दायर करने का निर्देश

एरियल सर्वे के बाद पटना पहुंचे सीएम नीतीश ने कहा कि महागठबंधन में टूट की बात आप लोगों के जरिए से ही पता चली है। जहां तक सजायाफ्ता जनप्रतिनिधियों को पेंशन दिए जाने का मामला है कोई भी जनप्रतिनिधि रहा है, उनको जो संविधान के तहत ही मदद मिलती है वो दी जाती है।

सीएम नीतीश कुमार ने कहा कि विधानसभा की दो सीटों के उपचुनाव पर राजग पूरी मजबूती से चुनाव लड़ रही है। इस पर जनता को फैसला करना है। हम कोई दावा नहीं करते हैं। बाकी कौन क्या बोलता है, किस भाषा का इस्तेमाल करता है आप सब जानते हैं। आप सबको मालूम है दोनों सीट जदयू ने जीती थी। इन दोनों सीटों के उपचुनाव के लिए राजग ने एक साथ उम्मीदवारों का चयन किया, मंगलवार को उनका नामांकन हो गया है। सब लोग आपस में मिलकर सहयोग कर रहे हैं। जनता मालिक है वो फैसला करेगी। लालू प्रसाद के चुनाव प्रचार से संबंधित पूछे गए सवाल के बारे में मुख्यमंत्री ने कहा कि उनकी अपनी इच्छा है वो जो करें।

बारिश के कारण लोगों को हुए नुकसान पर दी जाएगी सहायता

सीएम नीतीश ने कहा कि अक्टूबर महीने में भी बारिश की ऐसी स्थिति आई है। अब माना जा रहा है कि बारिश की स्थिति घटेगी लेकिन इसके बाद भी अगर कहीं कोई समस्या पैदा होती है तो लोगों की सहायता की जाएगी। अधिक बारिश की वजह से कई जगहों पर फसल बर्बाद हुई है और लोग प्रभावित हुए हैं। 2 अक्टूबर को हमने पटना, नालंदा और नवादा जिले के प्रभावित इलाकों का सड़क मार्ग के जरिए जायजा लिया था।

पढ़ें :- Bihar latest News : हाई कोर्ट ने राज्य सरकार और बीएसएससी से मांगा जवाब

सीएम ने कहा कि हमने मंगलावर को वैशाली, मुजफ्फरपुर, सीतामढ़ी, शिवहर, पूर्वी चंपारण, गोपालगंज जिलों का हवाई सर्वेक्षण कर जायजा लिया है। पहले से भी इन क्षेत्रों के जो प्रभावित इलाके हैं उनकी भी जानकारी ली है। हम इसी मामले में सभी संबद्ध जिलों एवं विभाग के अधिकारियों के साथ बैठक करेंगे। उन्होंने कहा कि इससे पहले भी बाढ़ से प्रभावित इलाकों का आंकलन किया गया था।

मुख्यमंत्री ने कहा कि बाढ़ से फसल को नुकसान और जो फसल लगा नहीं सके उन सभी को दी जाने वाली सहायता को लेकर सबकुछ तय कर दिया गया है। सभी जिलों के प्रभारी मंत्रियों ने जिलों में जनप्रतिनिधियों के साथ बैठक कर एक-एक चीज का एसेस्मेंट बनाया है। उधर प्रदेश में फिर अधिक बारिश शुरू हो गई है, इससे लोग प्रभावित हुए हैं। उन्होंने कहा कि पहले से जो प्रभावित इलाके हैं उसके अलावा जो अब प्रभावित हुए हैं उन सबकी राहत और सहायता के लिए सब तरह से मदद की जाएगी। आपदा प्रबंधन को लेकर शुरू से हम राहत के लिए काम करते आ रहे हैं।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook, YouTube और Twitter पर फॉलो करे...