1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. मोहल्ले व परिवार के विवादों को राजनितिक फायदे के लिए सांप्रदायिक फुट का नाम दिया जा रहा है : पूर्व सांसद

मोहल्ले व परिवार के विवादों को राजनितिक फायदे के लिए सांप्रदायिक फुट का नाम दिया जा रहा है : पूर्व सांसद

सुभाषिनी अली ने कहा कि पिछले कई हफ्तों से कानपुर महानगर में संघ परिवारों से जुड़े कई संगठनों द्वारा माहौल खराब करने का प्रयास हो रहा है

By इंडिया वॉइस 
Updated Date

उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव के नजदीक आते ही कुछ लोग प्रदेश में साम्प्रदायिकीकरण करने का प्रयास कर रहे हैं। इसी कड़ी में कानपुर में भी देखा जा रहा है कि संघ परिवार से जुड़े लोग मोहल्ले व परिवार के विवाद का साम्प्रदायिकीकरण कर रहे हैं। ऐसे लोगों को चिन्हित कर उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाए, ताकि शहर का माहौल खराब न हो सके। यह बातें बुधवार को अपर पुलिस आयुक्त को ज्ञापन सौंपते हुए संयुक्त विपक्षी मोर्चा की अगुवाई कर रहीं पूर्व सांसद सुभाषिनी अली ने कहीं।

पढ़ें :- Uttar Pradesh : सभी प्रदेशों के संगठनों की समीक्षा कर जल्द होगा संगठन में बड़ा बदलाव, एक ड्राफ्ट कमेटी का होगा गठन- एसडी शर्मा

संयुक्त विपक्षी मोर्चा के तत्वाधान में सुभाषिनी अली के नेतृत्व में बुधवार को अपर पुलिस आयुक्त आनंद कुमार तिवारी को ज्ञापन दिया गया। आरोप लगाते हुए पूर्व सांसद सुभाषिनी अली ने कहा कि पिछले कई हफ्तों से कानपुर महानगर में संघ परिवारों से जुड़े कई संगठनों द्वारा माहौल खराब करने का प्रयास हो रहा है। मोहल्ले व परिवार के विवादों का सांप्रदायिकीकरण करने का प्रयास हो रहा है। धर्मांतरण का झूठा आरोप लगाकर लोगों को उत्पीड़न किया जा रहा है। सकारात्मक बात यह है कि स्थानीय जनता ने उत्तेजित होने के बजाय पीड़ित का साथ दिया है। प्रशासन ने भी मामले को नियंत्रित करने का प्रयास किया। इसके बावजूद अल्पसंख्यक समुदाय के निर्दोष लोगों के साथ मारपीट व उत्पीड़न भी हुआ।

आरएलडी नगर अध्यक्ष मोहम्मद उस्मान ने पुलिस अधिकारियों से मांग की कि भविष्य में सांप्रदायिकता भड़काने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करें और अप्रिय घटनाओं के लिए जिम्मेदार लोगों को दंडित करें तथा पीड़ित पक्ष के साथ किसी प्रकार का अन्याय ना हो। इस दौरान पूर्व सांसद सुभाषिनी अली, भूधर नारायण मिश्रा, सुरेश गुप्ता, मोहम्मद उस्मान, शाकिर अली, प्रदीप यादव आदि मौजूद रहें।

हिन्दुस्थान समाचार

पढ़ें :- Gyanvapi Case : वाराणसी के ज्ञानवापी परिसर में मिले शिवलिंग को सील करने का सुप्रीम आदेश, 19 मई को सुनवाई
इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook, YouTube और Twitter पर फॉलो करे...