1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. प्रधानमंत्री की कानपुर रैली में दंगा भड़काने की साजिश का खुलासा, अब तक सपा के 5 नेता गिरफ्तार, सपा ने पांचों को पार्टी से निष्कासित किया

प्रधानमंत्री की कानपुर रैली में दंगा भड़काने की साजिश का खुलासा, अब तक सपा के 5 नेता गिरफ्तार, सपा ने पांचों को पार्टी से निष्कासित किया

मामले में समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव के निर्देश पर सचिन केसरवानी, अंकुर पटेल, अंकेश यादव, सुकान्त शर्मा और सुशील राजपूत को 28 दिसम्बर 2021 को कानपुर में हुई घटना में शामिल पाए जाने पर समाजवादी पार्टी से निष्कासित कर दिया।

By इंडिया वॉइस 
Updated Date

कानपुर, 29 दिसंबर। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की मंगलवार को कानपुर के निराला नगर में हुई रैली के दौरान दंगा भड़काने की साजिश रचने और गाड़ी में तोड़फोड़ करने के मामले में पुलिस ने नौबस्ता थाने में केस दर्ज कर अब तक 5 लोगों को गिरफ्तार किया है। जिसमें से 4 आरोपियों की गिरफ्तारी लखनऊ से की गई है। आरोप है कि गिरफ्तार पांचों लोग समाजवादी पार्टी (सपा) के कार्यकर्ता हैं। अपर पुलिस आयुक्त आनंद प्रकाश तिवारी ने बुधवार को सपा के कार्यकर्ताओं की गिरफ्तारी की पुष्टि की। उन्होंने बताया कि कई संलिप्तों की तलाश जारी है।

पढ़ें :- गुजरात के वडोदरा में हुआ सड़क हादसा, ट्रक और ऑटोरिक्शा की टक्कर में 7 लोगों की मौत और 7 घायल

दंगा भड़काने के आरोप में सपा नेता गिरफ्तार

आनंद प्रकाश तिवारी ने बताया कि जिन 4 लोगों को लखनऊ से गिरफ्तार किया गया है, उनमें सपा छात्र सभा के राष्ट्रीय सचिव सचिन केसरवानी, यूथ ब्रिगेड के नगर सचिव अभिषेक रावत, मुलायम सिंह यूथ ब्रिगेड के जिला प्रवक्ता सुकांत शर्मा और अनिकेत कुमार शामिल हैं। बाकी आरोपियों की तेजी से तलाश की जा रही है। उन्होंने बताया कि पुलिस ने तोड़ी गई कार को भी बरामद कर लिया है। इस मामले में पुलिस ने नौबस्ता थाने में कानपुर के आरोपी सपा नेताओं के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की अलग-अलग धाराओं में FIR दर्ज की है।

आरोपियों से पूछताछ में हुआ खुलासा

प्रधानमंत्री की रैली के ठीक पहले कानपुर के नौबस्ता क्षेत्र में सपा के नेता ने खुद अपनी ही गाड़ी पर प्रधानमंत्री मोदी का पोस्टर लगाकर जमकर तोड़फोड़ और आगजनी भी की थी। इसमें उनके साथ सपा के 7 अन्य लोग भी थे। आरोप है कि सपा नेताओं ने प्रधानमंत्री मोदी के कार्यक्रम में दंगा कराने की कोशिश में गाड़ी में तोड़फोड़ और आगजनी की थी। इसका वीडियो वायरल हुआ था। वीडियो वायरल होते ही पुलिस ने तेजी दिखाते हुए कार मालिक को दबोच लिया था। पूछताछ के बाद भेद खुला और पुलिस ने तोड़फोड़ करने वाले सपा के 4 अन्य कार्यकर्ताओं को भी लखनऊ से गिरफ्तार कर लिया।

पढ़ें :- उत्तराखंड में हिमस्खलन से नौ की मौत, 20 लोग फंसे,बचाव कार्य शुरु

गौरतलब है कि कानपुर मेट्रो के लोकार्पण के बाद सपा के कुछ नेता नौबस्ता में प्रधानमंत्री मोदी का पुतला फूंक रहे थे। इस दौरान बीजेपी के कार्यकर्ताओं ने जब उन्हें रोका तो सपा कार्यकर्ताओं ने पथराव कर कार तोड़ दी थी। इसका वीडियो जब सोशल मीडिया पर वायरल हुआ तब पुलिस हरकत में आई। पुलिस आयुक्त असीम अरुण ने ऐसा करने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की बात कही। पुलिस ने जब इस मामले में जांच शुरू की तो बड़ा खुलासा हुआ। पुलिस की जांच में पाया गया कि प्रधानमंत्री की रैली को लेकर बड़ा बवाल रचने की साजिश रची गई थी। इस तोड़फोड़ के जरिए माहौल को भड़काने का मकसद भी सामने आया।

सपा ने आरोपी नेताओं को पार्टी से निष्कासित किया

पढ़ें :- मनी लॉन्ड्रिंग मामले में NCP नेता और महाराष्ट्र के पूर्व गृहमंत्री अनिल देशमुख को बॉम्बे HC से मिली जमानत

वहीं मामले में समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव के निर्देश पर सचिन केसरवानी, अंकुर पटेल, अंकेश यादव, सुकान्त शर्मा और सुशील राजपूत को 28 दिसम्बर 2021 को कानपुर में हुई घटना में शामिल पाए जाने पर समाजवादी पार्टी से निष्कासित कर दिया गया है।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook, YouTube और Twitter पर फॉलो करे...