1. हिन्दी समाचार
  2. देश
  3. मानहानि केस: समीर वानखेड़े के पिता की याचिका पर मंत्री नवाब मलिक को हाईकोर्ट का नोटिस

मानहानि केस: समीर वानखेड़े के पिता की याचिका पर मंत्री नवाब मलिक को हाईकोर्ट का नोटिस

ज्ञानदेव वानखेड़े के वकील अरशद शेख ने हाईकोर्ट में कहा कि नवाब मलिक बार-बार समीर वानखेड़े और उनके परिवार के सदस्यों पर झूठे और तथ्यहीन आरोप लगा रहे हैं। इससे उनके परिवार की बदनामी हो रही है।

By इंडिया वॉइस 
Updated Date

मुंबई, 08 नवंबर। बॉम्बे हाईकोर्ट ने NCB के जोनल डायरेक्टर समीर वानखेड़े के पिता ज्ञानदेव वानखेड़े की मानहानि याचिका पर सोमवार को महाराष्ट्र के अल्पसंख्यक कार्यमंत्री नवाब मलिक को नोटिस जारी कर जवाब मांगा है। नवाब मलिक को मंगलवार तक हलफनामा दायर कर जवाब देने की मोहलत दी गई है। मामले में अगली सुनवाई 10 नवंबर को होगी।

क्रूज शिप पर ड्रग्स पार्टी मामले में NCB के छापे के बाद नवाब मलिक लगातार एनसीबी की कार्रवाई पर सवाल उठा रहे हैं। NCB की टीम का नेतृत्व करने वाले जोनल डायरेक्टर समीर वानखेड़े के पारिवारिक जीवन को लेकर भी नवाब मलिक कई तरह के दावे कर चुके हैं। इससे आहत समीर के पिता ज्ञानदेव वानखेड़े ने नवाब मलिक पर 1.25 करोड़ रुपये की मानहानि का केस ठोका है।

ज्ञानदेव वानखेड़े के वकील अरशद शेख ने हाईकोर्ट में कहा कि नवाब मलिक बार-बार समीर वानखेड़े और उनके परिवार के सदस्यों पर झूठे और तथ्यहीन आरोप लगा रहे हैं। इससे उनके परिवार की बदनामी हो रही है। अरशद शेख ने नवाब मलिक के समीर वानखेड़े के परिवार के सदस्यों के खिलाफ अनर्गल बयान देने पर रोक लगाने की मांग की।

वहीं नवाब मलिक के वकील अतुल दामले ने कहा कि उन्हें इस केस के संबंध में रविवार को नोटिस मिला है। इसलिए हलफनामा पेश करने के लिए 15 दिन का समय दिया जाए। जस्टिस जामदार ने कहा कि इस मामले में मंगलवार तक नवाब मलिक को हलफनामा पेश करना होगा। जस्टिस जामदार ने नवाब मलिक के बयान पर रोक लगाने से इनकार कर दिया है।

हिन्दुस्थान समाचार

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...
India Voice Ads
X