1. हिन्दी समाचार
  2. क्षेत्रीय
  3. ‘दोस्त-दोस्त ना रहा’ कांग्रेस नेता कन्हैया कुमार उमर खालिद से दूरी बनाने पर हुए ट्रोल

‘दोस्त-दोस्त ना रहा’ कांग्रेस नेता कन्हैया कुमार उमर खालिद से दूरी बनाने पर हुए ट्रोल

कन्हैया कुमार से उनकी उमर खालिद की दोस्ती के बारे में सवाल पूछा तो सवाल के जवाब में कन्हैया ने कहा- ''उमर खालिद मेरा दोस्त है, ये कौन बताया?''

By इंडिया वॉइस 
Updated Date

नई दिल्ली, 21 दिसंबर। कांग्रेस नेता कन्हैया कुमार का सोशल मीडिया पर एक वीडियो जमकर वायरल हो रहा है। जिसमें कन्हैया एक पत्रकार के प्रश्न के उत्तर में JNU के अपने साथी उमर खालिद से दूरी बनाते हुए दिखाई दे रहे हैं। उनका ये वीडियो 11 सिंतबर का बताया जा रहा है। लेकिन मंगलवार को उनका ये वीडियो ट्रैंड कर रहा है और कन्हैया की इसको लेकर काफी आलोचना भी हो रही है।

पढ़ें :- Jaipur : Intelligence Team की गिरफ्त में ISI को भारतीय सेना की गोपनीय जानकारी देने वाला जासूस नवाब खान

कन्हैया कुमार की उमर खालिद से दोस्ती पर सवाल

वीडियो बिहार के सीवान का बताया जा रहा है। जिसमें रिपोर्टर ने कन्हैया कुमार से उनकी उमर खालिद की दोस्ती के बारे में सवाल पूछा तो सवाल के जवाब में कन्हैया ने कहा- ”उमर खालिद मेरा दोस्त है, ये कौन बताया?”

‘दोस्त-दोस्त ना रहा’- यूजर्स

वीडियो सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रहा है। लोग कन्हैया कुमार की आलोचना कर रहे हैं। आलोचना के साथ दोनों की साथ वाली तस्वीरें भी वायरल हो रही हैं। लोगों का कहना कि कांग्रेस में शामिल होने के बाद कन्हैया उमर को भूल गए। उनका कहना है कि ‘दोस्त-दोस्त ना रहा’।

पढ़ें :- तंबाकू संबंधित उत्पादों के प्रचार के लिए सोशल मीडिया का सहारा ले रही हैं कंपनियां- रिपोर्ट

दिल्ली दंगों से जुड़े मामलों में जेल में बंद है उमर खालिद

बतादें कि उमर खालिद फिलहाल दिल्ली दंगों से जुड़े मामलों में जेल में बंद है। उमर खालिद के समर्थन में कुछ आवाजें भी उठ रही हैं जिसमें कन्हैया कुमार का नाम नहीं है। ऐसे में रिपोर्टर के सवाल ने सोशल मीडिया पर ट्रैंड ला दिया।

JNU के छात्र संगठन के पूर्व प्रेजिडेंट एन सांई बालाजी ने कहा कि न्याय, समानता और सम्मान की लड़ाई में उमर खालिद हमेशा मेरे दोस्त और कामरेड रहेंगे।

इसके अलावा पत्रकार राणा अय्युब, राजनीतिक कार्यकर्ता कवलप्रीत कौर और कई वामपंथी विचारधारा से जुड़े लोगों ने भी इसी तरह के ट्वीट किए हैं।

वहीं एक अन्य ट्विटर यूजर इरीना अकबर ने कहा कि एक दोस्त जो आपको आपके कठिन समय में छोड़ देता है, वो पीठ में छुरा घोंपने वाले से कम नहीं है। वो एक दुश्मन से भी बदतर है। स्वार्थी, अवसरवादी, कायर कन्हैया कुमार उमर खालिद की दोस्ती के लायक नहीं थे।

और पढ़ें:

Punjab: अकाली नेता बिक्रम सिंह मजीठिया के खिलाफ केस दर्ज, हो सकती है गिरफ्तारी, मामले पर गरमाई सियासत

पढ़ें :- कन्हैया कुमार कांग्रेस में शामिल, जिग्नेश मेवाणी पार्टी के टिकट पर लड़ेंगे अगला चुनाव
इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook, YouTube और Twitter पर फॉलो करे...