1. हिन्दी समाचार
  2. देश
  3. लचीली अर्थव्यवस्था के लिए निष्पक्ष ऑडिट जरूरी- RBI गवर्नर

लचीली अर्थव्यवस्था के लिए निष्पक्ष ऑडिट जरूरी- RBI गवर्नर

RBI गवर्नर ने कहा कि ऑडिट देश के लिए महत्वपूर्ण है, क्योंकि सार्वजनिक व्यय के फैसले इन्हीं रिपोर्ट पर आधारित होते हैं। उन्होंने कहा कि मौजूद आंकड़ों के आधार पर पहले से अधिक आर्थिक फैसले किए जा रहे हैं। इसलिए गलत जानकारी के चलते अपेक्षा से कमतर निर्णय हो सकता है।

By इंडिया वॉइस 
Updated Date

नई दिल्ली, 25 अक्टूबर। RBI के गवर्नर शक्तिकांत दास ने कहा कि एक लचीली अर्थव्यवस्था के लिए निष्पक्ष और मजबूत ऑडिट व्यवस्था जरूरी है, क्योंकि इससे नागरिकों में भरोसा पैदा होता है। शक्तिकांत दास ने नेशनल एकेडमी ऑफ ऑडिट और अकाउंट्स में अधिकारियों को संबोधित करते हुए कही।

पढ़ें :- आठ सहकारी बैंकों पर रिजर्व बैंक ऑफ इंड‍िया (RBI) द्वारा लगाया गया जुर्माना ,जाने क्या है वजह

RBI गवर्नर ने कहा कि ऑडिट देश के लिए बहुत जरुरी है, क्योंकि सार्वजनिक व्यय के फैसले इन रिपोर्ट्स पर आधारित होते हैं। दास ने कहा कि मौजूद आंकड़ों के आधार पर पहले से अधिक आर्थिक फैसले किए जा रहे हैं। इसलिए गलत जानकारी की वजह से अपेक्षा से कम फैसले हो सकते हैं। दास ने कहा कि ऑडिट की गुणवत्ता में सुधार की बहुत जरूरत है। इसलिए RBI ने बैंकों और वित्तीय संस्थानों के ऑडिट में सुधार के लिए इंस्टीट्यूट ऑफ चार्टर्ड अकाउंटेंट्स ऑफ इंडिया की सलाह से कई कदम उठाए हैं।

पढ़ें :- Moody's Cuts Economic Growth : मूडीज ने भारत की आर्थिक वृद्धि दर का अनुमान घटाकर 8.8 फीसदी किया

गवर्नर शक्तिकांत दास ने कहा कि RBI मानक में सुधार के लिए लगातार ऑडिटिंग के लिए हितधारकों के साथ मिलकर काम कर रहा है। RBI गवर्नर ने बताया कि इस साल जनवरी में वाणिज्यिक बैंकों के लिए जोखिम आधारित आंतरिक लेखा परीक्षा प्रणाली को मजबूत किया है। इसके साथ ही RBI ने लचीले वित्तीय क्षेत्र के निर्माण के लिए बैंकों, NBFC में मजबूत प्रशासनिक ढांचे पर जोर दिया। इस मौके पर RBI गवर्नर ने ऑडिटर समुदाय से लगातार आधार पर स्किल को अपडेट, बेहतर करने और अपने काम को सबसे प्रभावी तरीके से करने का आग्रह किया।

हिन्दुस्थान समाचार

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook, YouTube और Twitter पर फॉलो करे...