1. हिन्दी समाचार
  2. क्षेत्रीय
  3. पालघर में नकली डीजल बनाने वाली फैक्ट्री का भंडाफोड़

पालघर में नकली डीजल बनाने वाली फैक्ट्री का भंडाफोड़

पुलिस ने जानकारी दी कि इस नकली डीजल का उपयोग लंबी दूरी की लक्जरी बसें करती थीं

By इंडिया वॉइस 
Updated Date

मुंबई : पालघर जिले में सोलापुर पुलिस ने 16.20 करोड़ रुपये के मिलावटी डीजल की बिक्री में शामिल 7 लोगों को गिरफ्तार किया व पुलिस ने साई ओम पेट्रोकेमिकल्स वाडा यूनिट को सील कर दिया, जिसमें नकली रासायनिक से डीजल का निर्माण किया जाता था और बाद में उसे बाजार में बेचा जाता था। मामले की जानकारी पुलिस ने गुरुवार को दी है।

पढ़ें :- दलित किशोरी के साथ दुष्कर्म करने में नाकाम रहे आरोपी, तो डीजल डाल कर ज़िंदा जला डाला

सोलापुर पुलिस के सीनियर अधिकारी पीआई संजय सालुंखे ने अपनी टीम के साथ वाडा, पालघर के खुपरी गांव में स्थित वाडा यूनिट को सील कर दिया ।

पुलिस ने जानकारी दी कि इस नकली डीजल का उपयोग लंबी दूरी की लक्जरी बसें करती थीं जो नकली डीजल से ईंधन टैंक भरती थीं और अपने मालिको को धोखा देने के लिए बिक्री के जाली बिल बनवाकर लेते थे और कुछ निजी टैक्सी चालक भी जो अपने वाहनों में नकली डीजल भरने में शामिल थे।

पुलिस ने बारशी तालुका के हिमांशु भुमकर व तानाजी ताते, युवराज प्रभालकर, अविनाश गांजे, सुधाकर गंजे और दो अन्य को आवश्यक वस्तु अधिनियम, 1955 और धारा 379 (चोरी), 285 के तहत गिरफ्तार किया।

पुलिस ने वाडा यूनिट से सोलापुर ले जाने के लिए इस्तेमाल किए जाने वाले कुछ टैंकरों को भी जब्त किया है, साथ ही कच्चा तेल बनाने का लाइसेंस न होने के चलते वाडा की इस यूनिट को सील कर लिया है।

पढ़ें :- 7 साल के सर्वोच्च स्तर पर क्रूड, पेट्रोलियम की कीमतों में फिलहाल राहत के आसार नहीं

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook, YouTube और Twitter पर फॉलो करे...