1. हिन्दी समाचार
  2. बड़ी खबर
  3. Bihar News : काबर से अतिरिक्त जल निकासी शुरू होने से किसानों के खिले चेहरे

Bihar News : काबर से अतिरिक्त जल निकासी शुरू होने से किसानों के खिले चेहरे

रास्ते में विभिन्न गांव के लोगों ने भी नहर में मिट्टी भरकर रास्ता बना लिया, जिससे पानी निकासी अवरुद्ध हो गया।

By इंडिया वॉइस 
Updated Date

बिहार, 16 नवंबर। शासन-प्रशासन जो काम नहीं कर सकती है, वह काम समाज के लिए असंभव नहीं है। ऐसा है एक अनमोल उदाहरण दिख रहा है बेगूसराय जिला के काबर इलाके में, जहां की विधायक सूर्यकांत पासवान के प्रयास से किसानों के लिए जल निकासी शुरू करवा दिया है। काबर से अतिरिक्त जल निकासी के लिए डरहा के समीप बनाए गए डायवर्सन को विधायक तथा स्थानीय लोगों के सामने जब तोड़कर हटा दिया गया तो किसानों में खुशी की लहर फैल गई है।

 

कृषि योग जमीन में जमा पानी भी निकला

पिछले 48 घंटों के दौरान लगातार पानी निकासी से काबर के पांच सौ एकड़ से अधिक कृषि योग जमीन में जमा पानी निकल गया है। किसानों में आशा जगी है कि लेट से ही सही लेकिन वे अपनी जमीन पर फसल लगा सकेंगे। काबर के किसानों ने बताया कि आजादी के बाद प्रथम पंचवर्षीय योजना में बिहार के प्रथम मुख्यमंत्री डॉ. श्रीकृष्ण सिंह काबर झील से अतिरिक्त जल निकासी के लिए नहर खुदवाया था।

जिसमें नियम बना कि प्रत्येक साल 15 अक्टूबर को बूढ़ी गंडक नदी में बगरस सलुइस गेट का फाटक खोल दिया जाएगा और काबर में जमा अतिरिक्त पानी नहर के रास्ते निकल जाने से किसान खेती कर सकेंगे। कई दशक तक नहर सुचारू रूप से चलती रही, बाद के दिनों में इसकी उड़ाही नहीं होने से नहर कई जगह अवरुद्ध हो गया।

 

किसानों के गुहार को अधिकारियों ने भी किया अनसुना 

रास्ते में विभिन्न गांव के लोगों ने भी नहर में मिट्टी भरकर रास्ता बना लिया, जिससे पानी निकासी अवरुद्ध हो गया। इस वर्ष अत्यधिक बारिश के कारण जब काबर के चारों ओर काफी अधिक मात्रा में पानी जमा हो गया और निकासी नहीं होने से किसानों में हड़कंप मच गया। किसानों के लिए गेहूं और सरसों लगाना मुश्किल हो गया। बनाए गए डायवर्सन को तोड़ने के लिए किसानों ने अधिकारियों और जनप्रतिनिधियों तक गुहार लगाई, लेकिन किसी ने उनकी नहीं सुनी।

काबर इलाके के किसानों द्वारा डरहा डायवर्सन काटने के प्रयास किया गया, लेकिन बखरी के एसडीओ द्वारा रोक लगा दिया गया। जल निकासी नहीं हो पाने की स्थिति में किसानों के खेत मे फसल लगाने पर प्रश्नचिन्ह उत्पन्न हो गया था। किसानों ने अधिकारी के साथ चेरिया बरियारपुर के अपने विधायक के पास भी गुहार लगाई लेकिन वहां के राजद विधायक ने किसी प्रकार की मदद किसानों को नहीं किया।

इसके बाद मंझौल इलाके के किसान मेनन कुमार, साकेत कुमार सिंह, प्रभात कुमार, सुबोध कुमार सिंह, डॉ. संजय कुमार, रामप्रीत सिंह, उमेश सिंह,कृष्ण कुमार सिंह आदि किसानों ने चेरिया बरियारपुर के भाकपा अंचल मंत्री संजीव कुमार के साथ बखरी विधायक सूर्यकान्त पासवान से मिलकर जल निकासी की गुहार लगाया।

 

जल निकासी शुरू होने से किसानों में दौड़ी खुशी की लहर 

किसानों ने कहा कि अगर डरहा डायवर्सन को नहीं काटा गया तो मंझौल इलाके के खेतों में किसानों का फसल नहीं लग सकेगी, किसान परिवार अनाज के बिना मर जाएंगे। मामले की गंभीरता को देखते हुए विधायक सूर्यकान्त पासवान एवं बागवन के नवनिर्वाचित मुखिया योगेंद्र राय ने प्रभावित किसानों के साथ स्थल निरीक्षण किया, बखरी के एसडीओ अशोक कुमार गुप्ता से वार्ता कर किसानों की समस्या से अवगत कराया तथा विधायक के पहल पर पोकलेन की व्यवस्था कर डरहा डायवर्सन से मिट्टी हटाने का कार्य प्रारंभ किया गया। जल निकासी शुरू होने से किसानों में खुशी है तथा फसल लगाने की तैयारी शुरू हो गई है।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...
India Voice Ads
X