1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. कांग्रेस-सपा और बसपा के लिए परिवार ही प्रदेश था, बीजेपी के लिए पूरा प्रदेश परिवार है- सीएम योगी

कांग्रेस-सपा और बसपा के लिए परिवार ही प्रदेश था, बीजेपी के लिए पूरा प्रदेश परिवार है- सीएम योगी

सीएम योगी ने कहा कि पहले दीपावली-दुर्गापूजा-होली पर कर्फ्यू लग जाता था, लेकिन 2017 के बाद दंगाई सर नहीं उठा पाए। उन्हें पता है कि 7 पीढ़ी का उन्हें हिसाब देना पड़ेगा, क्योंकि सरकार का अपना बुलडोजर तैयार रहता है।

By इंडिया वॉइस 
Updated Date

सुलतानपुर, 23 अक्टूबर। कांग्रेस-सपा और बसपा के लिए अपना परिवार प्रदेश था, लेकिन भारतीय जनता पार्टी के लिए प्रदेश की 25 करोड़ जनता परिवार है। ये कहना है उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का। सीएम योगी का कहना है कि 2004 से 2014 तक की सरकार का उद्देश्य भारत की आस्था पर प्रहार था। 2009 के बाद तो केवल घोटाले हुए हैं। एक परिवार दिल्ली में तो दूसरा लखनऊ में जनता के पैसे से लाभ लेता था। उन्होंने कहा कि 2017 के पहले पर्व-त्योहार शांति से नहीं हो सकता था।

पढ़ें :- Uttar Pradesh : सभी प्रदेशों के संगठनों की समीक्षा कर जल्द होगा संगठन में बड़ा बदलाव, एक ड्राफ्ट कमेटी का होगा गठन- एसडी शर्मा

सीएम योगी शनिवार को कई परियोजनाओं का शिलान्यास और लोकार्पण के बाद इसौली में एक जनसभा को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने इसौली विधानसभा के देहली बाजार कस्बे में हर्ष महाविद्यालय के पास कार्यक्रम स्थल पर जिले की कई विकास योजनाओं का लोकार्पण और शिलान्यास किया। जिसमें 271 करोड़ से निर्मित होने वाले राजकीय मेडिकल कॉलेज सहित 39 परियोजनाओं का शिलान्यास शामिल है। इस दौरान उन्होंने लगभग 25 करोड़ की धनराशि से निर्मित वृहद गोशाला केवटली सहित 88 परियोजनाओं का लोकार्पण भी किया।

सीएम योगी ने कहा कि पहले दीपावली-दुर्गापूजा-होली पर कर्फ्यू लग जाता था, लेकिन 2017 के बाद दंगाई सर नहीं उठा पाए। उन्हें पता है कि 7 पीढ़ी का उन्हें हिसाब देना पड़ेगा, क्योंकि सरकार का अपना बुलडोजर तैयार रहता है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि अब कोई आस्था के साथ खिलवाड़ नहीं करता है। पहले दंगाई अराजकता फैलाते थे और सत्ता मौन बनी रहती थी। यहां चीन से कोरोना आया था, आज भी वहां हजारों मरीज रोज आ रहे है, लेकिन उत्तर प्रदेश में शनिवार को 12 मरीज आए हैं। कोरोना को हम सबने परास्त किया है। मुख्यमंत्री ने कांग्रेस के स्मार्ट फोन और स्कूटी वाले बयान पर कहा कि हम नवंबर के अंतिम समय से टैबलेट और स्मार्ट फोन देंगे, जिनके पास इसकी सुविधा नहीं होगी।

बतादें कि जिले की 5 विधानसभा सीट में से कादीपुर, लम्भुआ, सुल्तानपुर और सदर की सीट बीजेपी की झोली में है, जबकि इसौली से लगातार दो बार से समाजवादी पार्टी जीत रही है। बीते दो विधानसभा चुनाव में बीजेपी को यहां हार का सामना करना पड़ा है।

पढ़ें :- West Bengal : बीजेपी सांसद अर्जुन सिंह ने तृणमूल कांग्रेस में की वापसी, अभिषेक बनर्जी ने किया पार्टी में स्वागत

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook, YouTube और Twitter पर फॉलो करे...