1. हिन्दी समाचार
  2. दुनिया
  3. G20 शिखर सम्मेलन: पीएम मोदी ने कहा- विश्व करे चिंता, अफगानिस्तान ना खो दे दो दशकों की उपलब्धियां

G20 शिखर सम्मेलन: पीएम मोदी ने कहा- विश्व करे चिंता, अफगानिस्तान ना खो दे दो दशकों की उपलब्धियां

प्रधानमंत्री मोदी ने अफगानिस्तान में पिछले दो दशकों में भारत की ओर से शुरू किए गए विकास कार्यक्रमों का उल्लेख करते हुए कहा कि, अंतरराष्ट्रीय बिरादरी को सुनिश्चित करना चाहिए कि अफगानिस्तान के लोगों तक मानवीय सहायता बिना किसी बाधा के तुरंत पहुंच सके।

By इंडिया वॉइस 
Updated Date

नई दिल्ली, 12 अक्टूबर। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को अफगानिस्तान पर आयोजित G20 देशों के शिखर सम्मेलन को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए संबोधित किया। सम्मेलन का आयोजन जी20 के मौजूदा अध्यक्ष इटली ने किया था, इटली के प्रधानमंत्री मारियो द्राघी ने सम्मेलन की अध्यक्षता की। विश्व नेताओं ने अफगानिस्तान में मानवीय हालात के अलावा आतंकवाद और मानवाधिकारों पर चर्चा की।
इस दौरान पीएम मोदी ने कहा कि अफगानिस्तान में पिछले 20 सालों के दौरान हासिल की गई सामाजिक और आर्थिक उपलब्धियों को बरकरार रखा जाना चाहिए। साथ ही उग्रवादी विचारधारा को रोकने के लिए प्रभावी कार्रवाई होनी चाहिए। इन लक्ष्यों को हासिल करने के लिए जरूरी है कि अफगानिस्तान में समावेशी सरकार बने, जिसमें महिलाओं और अल्पसंख्यकों का प्रतिनिधित्व हो।

पढ़ें :- वैशाली हादसे पर राष्ट्रपति-पीएम ने जताया दुख, 15 की मौत के बाद लोगों ने ट्रक ड्राईवर को जमकर पीटा

प्रधानमंत्री मोदी ने अफगानिस्तान में पिछले दो दशकों में भारत की ओर से शुरू किए गए विकास कार्यक्रमों का उल्लेख करते हुए कहा कि, अंतरराष्ट्रीय बिरादरी को सुनिश्चित करना चाहिए कि अफगानिस्तान के लोगों तक मानवीय सहायता बिना किसी बाधा के तुरंत पहुंच सके।

प्रधानमंत्री ने कहा कि अफगानिस्तान की सीमा से क्षेत्रीय और वैश्विक स्तर पर आतंकवाद और उग्रवाद समस्या बनकर ना उभरे ये सुनिश्चित किया जाना चाहिए। उन्होंने आतंकवाद, धार्मिक कट्टरता, मादक द्रव्यों और हथियारों की तस्करी के गठजोड़ के खिलाफ संयुक्त रूप से अभियान चलाने पर जोर दिया।

पीएम मोदी ने अपने संबोधन में संयुक्त राष्ट्र प्रस्ताव संख्या 2593 के प्रति भारत के समर्थन को दोहराते हुए कहा कि अफगानिस्तान में हालात सुधारने के लिए अंतरराष्ट्रीय बिरादरी को सामूहिक कार्रवाई करनी चाहिए।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook, YouTube और Twitter पर फॉलो करे...