1. हिन्दी समाचार
  2. देश
  3. सेना प्रमुख जनरल नरवणे ने मुंबई में की व्यापारिक घरानों से मुलाकात

सेना प्रमुख जनरल नरवणे ने मुंबई में की व्यापारिक घरानों से मुलाकात

सेना प्रमुख जनरल नरवणे ने अपने दौरे के आखिरी दिन मंगलवार को महाराष्ट्र, गुजरात और गोवा एरिया मुख्यालय और मुंबई में स्थित कई प्रशासनिक क्षेत्रों का दौरा किया।

By इंडिया वॉइस 
Updated Date

नई दिल्ली, 14 सितम्बर। थल सेनाध्यक्ष जनरल एमएम नरवणे ने अपने दो दिवसीय मुंबई दौरे में रक्षा बलों के लिए अत्याधुनिक उपकरणों के निर्माण और आपूर्ति के लिए मुंबई के प्रमुख व्यापारिक घरानों से मुलाकात की। दौरे के आखिरी दिन मंगलवार को जनरल एमएम नरवणे महत्वपूर्ण थल सेना और नौसेना प्रतिष्ठानों में भी गए।

पढ़ें :- केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने दिया इस्तीफा, नई भूमिका पर चल रही चर्चा

सेना प्रमुख ने पहले दिन सोमवार को पश्चिमी नौसेना कमान मुख्यालय (डब्ल्यूएनसी) का दौरा किया, जहां उन्होंने गार्ड ऑफ ऑनर की औपचारिक समीक्षा की। उन्होंने पश्चिमी नौसेना कमान के फ्लैग ऑफिसर कमांडिंग इन चीफ वाइस एडमिरल आर हरि कुमार के साथ बातचीत की। उन्होंने सेना प्रमुख को परिचालन संबंधी पहलुओं के बारे में जानकारी दी। इसके बाद सेना प्रमुख ने ”सिख लाइट इन्फैंट्री रेजिमेंट” से संबद्ध मिसाइल फ्रिगेट ”INS तेग” का भी दौरा किया। युद्धपोत के कप्तान ने सीओएएस को इसकी भूमिका, क्षमताओं और हाल की परिचालन तैनाती के बारे में जानकारी दी। इस मौके पर पश्चिमी बेड़े फ्लैग ऑफिसर कमांडिंग रियर एडमिरल अजय कोचर भी मौजूद थे।

इस दौरान सेना प्रमुख ने महाराष्ट्र के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी से मुलाकात की और राज्य में पूर्व सैनिकों के कल्याण और पुनर्वास सहित पारस्परिक हित के मुद्दों पर चर्चा की। बाद में जनरल एमएम नरवणे ने रक्षा बलों के लिए अत्याधुनिक उपकरणों के निर्माण और आपूर्ति में शामिल महिंद्रा डिफेंस, अडानी ग्रुप, लार्सन एंड टुब्रो और टाटा ग्रुप के बिजनेस हेड्स के साथ बातचीत की। उन्होंने ”आत्मनिर्भर भारत” और भारतीय सेना की क्षमता बढ़ाने के लिए शानदार योगदान के लिए व्यापारिक घरानों की सराहना की।

सेना प्रमुख ने अपने दौरे के आखिरी दिन मंगलवार को महाराष्ट्र, गुजरात और गोवा एरिया मुख्यालय और मुंबई में स्थित कई प्रशासनिक क्षेत्रों का दौरा किया। जनरल कमांडिंग ऑफिसर (जीओसी) लेफ्टिनेंट जनरल एसके पराशर ने उन्हें एरिया मुख्यालय के कामकाज और इस वर्ष कोरोना और बाढ़ राहत कार्यों के दौरान कई मानवीय सहायता में सेना के योगदान के बारे में जानकारी दी। जनरल कमांडिंग ऑफिसर ने उन्हें ऑपरेशनल लॉजिस्टिक्स और प्रशासनिक मुद्दों के बारे में जानकारी दी। सीओएएस ने क्षेत्र मुख्यालय की पहल और कार्यात्मक तत्परता की सराहना की।
सेना प्रमुख ने क्षेत्र मुख्यालय की ओर से सैनिकों, उनके परिवारों और पूर्व सैनिकों के जीवन की गुणवत्ता में सुधार के लिए शुरू की गई कई कल्याणकारी पहलों और परियोजनाओं की सराहना की।

पढ़ें :- गैस सिलेंडर हुआ 50 रुपये महंगा, आम जनता को मंहगाई का लगेगा एक और झटका
इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook, YouTube और Twitter पर फॉलो करे...