1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. स्पेशल एजुकेशन जोन बनेगा गोरखपुर नगरी : धर्मेंद्र प्रधान

स्पेशल एजुकेशन जोन बनेगा गोरखपुर नगरी : धर्मेंद्र प्रधान

गोरखपुर में महाराणा प्रताप शिक्षा परिषद के संस्थापक सप्ताह में मुख्य अतिथि के रूप में पहुंचे केंद्रीय शिक्षा मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने कहा कि कोरोना भी एक प्रकार के जैविक युद्ध की तरह हो सकता है। आने वाले समय में ऐसे मुश्किल दौर के लिए देश को तैयारी कर लेनी चाहिए।

By इंडिया वॉइस 
Updated Date

गोरखपुर में आज सुबह महाराणा प्रताप इंटर कॉलेज में महाराणा प्रताप शिक्षा परिषद के संस्थापक सप्ताह का समापन समारोह आयोजित किया गया। इस अवसर पर केंद्रीय शिक्षा मंत्री धर्मेंद्र प्रधान (Dharmendra Pradhan) को मुख्य अतिथि के रूप में आमंत्रित किया गया था। समारोह में बोलते हुए शिक्षा मंत्री ने कहा कि गोरक्षनगरी को भारत का स्पेशल एजुकेशन जोन (Special Education Zone) बनाया जाएगा। यहां विश्व को नई दिशा प्रदान करने वाले वैश्विक नागरिक तैयार किये जाएंगे। प्रधानमंत्री का लक्ष्य है कि देश में इस तरह के वैश्विक नागरिक तैयार हों। साथ ही देश को आने वाले समय में कोरोना जैसी महामारी  से लड़ने के लिए तैयारी कर लेनी चाहिए। ये समस्या आने वाले समय में जैविक युद्ध की तरह ही उत्पन्न हो सकती है। इस कार्यक्रम में प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) को भी आमंत्रित किया गया था।

पढ़ें :- गोरखपुर कांड : अखिलेश यादव मृतक के परिजनों को देंगे 20 लाख रूपये की आर्थिक मदद

 

प्रधानमंत्री और प्रदेश के मुख्यंत्री योगी ने पूरा किया वादा

इस कार्यक्रम में छात्रों को संबोधित करते हुए धर्मेंद्र प्रधान ने कहा कि नेतृत्व उसी को कहते हैं जो समस्या को उजागर करने के साथ ही उसके समाधान पर भी काम करें। पीएम मोदी और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ऐसे ही सराहनीय कार्य कर रहे हैं। आज से पहले कई नेताओं ने कहा है कि हम गरीबी हटाएंगे लेकिन इसको करके केवल मोदी और योगी ने ही दिखाया है। बीते दिनों प्रदेश में खाद कारखाना और एम्स खोलना इसी का एक उदाहरण है। केंद्रीय शिक्षा मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने कहा कि कोरोना भी एक प्रकार का जैविक युद्ध हो सकता है। इसके लिए देश की चिकित्सा क्षेत्र को आने वाले समय के लिए तैयार होना होगा। हम इस क्षेत्र में भी काम कर रहें हैं।

 

समृद्ध समाज के लिए शिक्षा जरूरी : योगी आदित्यनाथ 

समारोह में बोलते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि समाज को समृद्ध बनान के लिए शिक्षा को सुदृढ़ करना पड़ेगा। शिक्षा से ही छात्र दुनिया के बारे में सही तरह से समझ पाता है। नई योजनाओं और नए कार्यों के विकास के बारे में सोचता है। हमारे देश में महाराणा प्रताप ने कभी भी विदेशी आक्रांतओं की स्वाधीनता स्वीकार नहीं की। वह स्वाभिमान और स्वदेश को ही प्राथमिकता देते थे। आज के युवाओं को महाराणा को अपना प्रेरणा स्त्रोत बनाना चाहिए। तभी देश और राष्ट्र तरक्की करेगा।

और पढ़ें – News Bulletin : पढ़ें सुबह की 10 बड़ी ख़बरें, जिन पर रहेंगी हमारी ख़ास नज़र

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook, YouTube और Twitter पर फॉलो करे...