1. हिन्दी समाचार
  2. क्षेत्रीय
  3. सरकार की स्वर्ण आभूषणों की अनिवार्य हॉलमार्किंग व्यापक बनाने की योजना, 256 जिलों में लागू हुई योजना

सरकार की स्वर्ण आभूषणों की अनिवार्य हॉलमार्किंग व्यापक बनाने की योजना, 256 जिलों में लागू हुई योजना

सोने की अनिवार्य हॉलमार्किंग देश के 226 जिलों में लागू हो चुकी है- सरकार

By इंडिया वॉइस 
Updated Date

नई दिल्ली, 27 दिसंबर। सोने (Gold) के आभूषणों की अनिवार्य हॉलमार्किंग 256 जिलों में लागू हो चुकी है। सरकार इसका विस्तार देश के सभी जिलों में करने की तैयारी कर रही है। ये जानकारी उपभोक्ता मामलों के मंत्रालय ने सोमवार को दी।

पढ़ें :- 'हर घर गंगाजल' का सपना होगा पूरा,सबसे पहले नालंदा से होगी शुरूआत

देश के 256 जिलों में कम से कम एक हॉलमार्किंग केंद्र

उपभोक्ता मामलों के मंत्रालय ने तैयार अपनी मासिक रिपोर्ट में कहा है कि स्वर्ण आभूषणों की अनिवार्य हॉलमार्किंग (Hallmarking) सुचारू रूप से चल रही है। इस व्यवस्था के व्यापक कार्यान्वयन की योजना है, जिसे देश के सभी जिलों में लागू करने की प्रक्रिया जारी है। फिलहाल देश के 256 जिलों में कम से कम एक हॉलमार्किंग केंद्र है।

स्वर्ण आभूषणों पर हॉलमार्किंग एक गुणवत्ता प्रमाण पत्र

मंत्रालय के मुताबिक भारतीय मानक ब्यूरो (BIS) के साथ पंजीकृत सर्राफा कारोबारियों की संख्या अनिवार्य हॉलमार्किंग लागू होने के बाद लगभग चौगुनी हो गई है। बतादें कि स्वर्ण आभूषणों पर हॉलमार्किंग एक गुणवत्ता प्रमाण पत्र है। इसे देश के 256 जिलों में 23 जून, 2021 से 14, 18 और 22 कैरेट सोने के आभूषणों के लिए अनिवार्य कर दिया गया है।

पढ़ें :- ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट के लिए 9 दिसंबर से विदेश जाएंगे योगी के मंत्री,अमेरिका-ब्रिटेन जाएंगे सीएम योगी

वहीं रिपोर्ट में कहा गया है कि अब तक 1.27 लाख ज्वैलर्स ने हॉलमार्क वाले आभूषण बेचने के लिए BIS के साथ पंजीकरण कराया है। इसके लिए 976 BIS मान्यता प्राप्त AHC संचालित हैं। देश में ऑटोमेशन सॉफ्टवेयर के जरिए से 5 महीनों में करीब 4.5 करोड़ आभूषणों की हॉलमार्किंग की गई है।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook, YouTube और Twitter पर फॉलो करे...