1. हिन्दी समाचार
  2. दुनिया
  3. रमजान में जाना है मक्का तो कर लें ये काम, हज यात्रा और उमरा के लिए गाइडलाइन जारी

रमजान में जाना है मक्का तो कर लें ये काम, हज यात्रा और उमरा के लिए गाइडलाइन जारी

मक्का की पावन मस्जिद में आम लोगों को एंट्री के लिए सऊदी अरब सरकार ने मक्का आने वाले तीर्थयात्रियों के लिए कड़े दिशा-निर्देश जारी किए हैं। कोरोना वैक्सीन को लेकर सऊदी अरब प्रशासन ने कहा है कि अगर आपके पास वैक्सीन सर्टिफिकेट नहीं है, तो आपको किसी भी हाल में पवित्र मस्जिद में एंट्री नहीं दी जाएगी।

By Team India Voice 
Updated Date

जेद्दाह: मक्का की पावन मस्जिद में आम लोगों को एंट्री के लिए सऊदी अरब सरकार ने मक्का आने वाले तीर्थयात्रियों के लिए कड़े दिशा-निर्देश जारी किए हैं। कोरोना वैक्सीन को लेकर सऊदी अरब प्रशासन ने कहा है कि अगर आपके पास वैक्सीन सर्टिफिकेट नहीं है, तो आपको किसी भी हाल में पवित्र मस्जिद में एंट्री नहीं दी जाएगी। इसके साथ ही ऐसे लोग जिन्हें वैक्सीन की पहली डोज लग चुकी है और 14 दिनों की क्वारंटाइन को पूरा कर चुके हैं, या फिर ऐसे लोग जिन्हें कोरोना महामारी हो चुकी है और ठीक हो चुके हैं, उन्हें भी मक्का में एंट्री दी जाएगी।

पढ़ें :- United Nations : खाद्य सुरक्षा पर संयुक्त राष्ट्र की बैठक में बिलावल का कश्मीर राग, भारत का जोरदार जवाब

सऊदी अरब के हज और उमरा मंत्रालय ने एक बयान में कहा कि ‘इम्यूनाइज’ की कैटेगरी में आने वाले केवल ये लोग ही उमरा करने के लिए और पवित्र शहर मक्का के ग्रैंड मस्जिद में नमाज अता करने के लिए प्रवेश के पात्र होंगे। बता दें कि उमरा मक्का के लिए एक इस्लामी तीर्थयात्रा है, जिसे साल में किसी भी समय ‘हाजी’ बनने के लिए पूरा किया जा सकता है।

करना होगा रजिस्ट्रेशन
प्रशासन की तरफ से गाइडलाइंस में कहा गया है कि जिन लोगों की वैक्सीनेशन हो गया है और जो मक्का आना चाहते हैं, उन्हें इसके लिए रजिस्ट्रेशन कराना होगा। प्रशासन की तरफ से कहा गया है कि वैक्सीन लेने की स्टेटस रिपोर्ट सऊदी अरब सरकार को देनी होगी। इसके लिए सऊदी अरब की कोविड-19 एप  पर रजिस्ट्रेशन कराना होगा। भारत में जिस तरह से आरोग्य सेतु एप है, उसी तरह से पिछले साल सऊदी अरब में इस एप को लॉन्च किया गया था।

मंत्रालय ने कहा कि यह दिशा-निर्देश रमजान से शुरू होंगे, जो इस महीने के अंत में शुरू होने वाले है, लेकिन यह स्पष्ट नहीं है कि यह कब तक लागू रहेंगे। बता दें कि बीते साल कोरोना के ही कारण सऊदी अरब में रहने वाले 10 हजार मुस्लिम लोगों को ही हज में हिस्सा लेने की अनुमति मिली थी। गौरतलब है कि, सऊदी अरब में अभी तक कोविड-19 के 393,000 मामले सामने आए हैं और संक्रमण से 6,700 लोगों की मौत भी हुई है।

पढ़ें :- राजीव कुमार ने 25वें मुख्य चुनाव आयुक्त के रूप में आज से कार्यभार संभाला, सुशील चंद्रा की जगह ली
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook, YouTube और Twitter पर फॉलो करे...