1. हिन्दी समाचार
  2. क्षेत्रीय
  3. हिमाचल प्रदेश में लगातार बारिश से जगह-जगह भूस्खलन, कई सड़कें बंद

हिमाचल प्रदेश में लगातार बारिश से जगह-जगह भूस्खलन, कई सड़कें बंद

हिमाचल प्रदेश में लगातार हो रही बारिश से नदी-नाले पूरी तरह से उफान पर हैं। जगह-जगह भूस्खलन की घटनाएं सामने आ रही हैं, जिससे कई सड़कें बाधित हो गई हैं।

By इंडिया वॉइस 
Updated Date

शिमला, 12 सितम्बर। हिमाचल प्रदेश में दक्षिणी-पश्चिमी मानसून की सक्रियता के कारण कई क्षेत्रों में हल्की से मध्यम तो कुछ जगहों पर भारी बारिश का सिलसिला जारी है। हिमाचल प्रदेश के मैदानी और मध्य पर्वतीय इलाकों में बीती रात से बादल बरस रहे हैं। वहीं उच्चे पहड़ों पर हल्की बर्फबारी से तापमान में गिरावट दर्ज की गई है और पर्वतीय क्षेत्रों में सर्दी महसूस की जा रही है। राज्य में लगातार हो रही बारिश से नदी-नाले पूरी तरह से उफान पर हैं। जगह-जगह भूस्खलन की घटनाएं सामने आई हैं, जिससे कई सड़कें बाधित हो गई हैं।

पढ़ें :- Himachal Pradesh : हिमाचल प्रदेश में बीजेपी का 'मिशन रिपीट' तय- संबित पात्रा

राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण की रिपोर्ट के मुताबिक भूस्खलन से रविवार सुबह तक एक नेशनल हाईवे सहित 35 सड़कें बंद हैं। इसके अलावा 97 ट्रांसफार्मर ठप पड़ गए हैं। पानी की आपूर्ति की 6 परियोजनाएं भी बारिश से प्रभावित हुई हैं। राजधानी शिमला में भी बारिश का कहर जारी है। शहर में कुछ स्थानों पर भूस्खलन और पेड़ गिरने की घटनाएं सामने आई हैं।

बारिश का कहर

उपनगर खलीणी के पास कनलोग में पेड़ गिरने से एक रिहायशी मकान आंशिक रूप से क्षतिग्रस्त हुआ है, हालांकि कोई जानी नुकसान नहीं हुआ। खलीणी में ही देवदार का पेड़ जड़ से उखड़कर सड़क के बीचों-बीच गिर गया, जिससे सड़क बाधित हो गई। इसी तरह विकास नगर से ब्रोक होस्ट छोटा शिमला की तरफ जाने वाली सड़क भी भूस्खलन से बंद हो गई, जिससे स्थानीय लोगों को आवागमन में परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।

किस इलाके में कितने बारिश दर्ज हुई

पढ़ें :- Himachal Pradesh : विधानसभा के तपोवन परिसर में खालिस्तान समर्थक पोस्टर लगाने वाले सलाखों के पीछे होंगे- मुख्यमंत्री

मौसम विभाग ने 15 सितंबर तक मौसम के खराब रहने की संभावना जताई है। वहीं अगले 24 घंटों के दौरान मैदानी और मध्यपर्वतीय इलाकों में अंधी और बिजली गिरने की चेतावनी जारी की है। मौसम विभाग के मुताबिक रविवार सुबह साढ़े आठ बजे तक शिमला में 22, सुंदरनगर में 21, चंबा में 6, कल्पा में 4, धर्मशाला में 9, उना में 7, नाहन और पालमपुर में चार-चार, सोलन में 17, कांगड़ा में 10, मंडी में 11, चंबा और कुफरी में 14-14, डल्हौजी में 14, जुब्बड़हट्टी में 15 ओैर पांवटा साहिब में दो मिमी बारिश दर्ज की गई है। लाहोल-स्पीति के मुख्यालय केलंग में न्यूनतम तापमान 9.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया, जो राज्य का सबसे ठंडा स्थल रहा।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook, YouTube और Twitter पर फॉलो करे...