1. हिन्दी समाचार
  2. शिक्षा
  3. IIT – रुड़की ने शुरू किये इंजीरियरिंग के 7 नए प्रोग्राम

IIT – रुड़की ने शुरू किये इंजीरियरिंग के 7 नए प्रोग्राम

यह कोर्सेज डाटा साइंस व आर्टीफिशियल इंटेलिजेंस में स्पेसिलाइजेशन के साथ अर्थशास्त्र, प्रबंधन और आर्किटेक्चर के लिए शुरू किये गये हैं।

By इंडिया वॉइस 
Updated Date

आईआईटी रूड़की ने आने वाले समय के लिए युवाओं को तैयार करने के उद्देश्य से सात नए कोर्सेज (प्रोग्राम) शुरू किये हैं। यह कोर्सेज डाटा साइंस व आर्टीफिशियल इंटेलिजेंस में स्पेसिलाइजेशन के साथ अर्थशास्त्र, प्रबंधन और आर्किटेक्चर के लिए शुरू किये गये हैं।

आईआईटी विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विभाग के सचिव प्रोफेसर आशुतोष शर्मा ने बताया कि इस कोर्सेज से छात्रों को इंडस्ट्री की नई तकनीकों के विषय में संपूर्ण जानकारी मिलेगी। इन कोर्सेज के शुरूआत पर उन्होंने कहा कि  “इस तरह की नई पहल लीडर्स को फॉलोवर्स से अलग करती हैं और मैं कार्यक्रमों की रूपरेखा व इससे जुड़ी जानकारियों को सुनकर खासा खुश हूं।”

डीएसटी सचिव ने कहा, “नए कार्यक्रमों में वर्तमान में प्रासंगिक जानकारियों का प्रसार और हमारे द्वारा सृजित ज्ञान का उपयोग शामिल है। वे अंतर-विषयक और बहु विषयक हैं तथा साथ ही राष्ट्रीय शिक्षा नीति, 2020 के अनुरूप भी हैं। इनकी शुरुआत से पता चलता है कि हम कुछ सीमाओं को तोड़ने की राह पर हैं, जो हमने ऐतिहासिक रूप से तैयार की हैं।”

इन कार्यक्रमों में छह पोस्ट ग्रेजुएट डिग्री लेवल कोर्स शामिल हैं और एक पांच वर्षीय एकीकृत कोर्स है, जो अगले शैक्षणिक सत्र (2021-22) से विद्यार्थियों पढ़ सकेंगे। इन प्रोग्राम्स में एमटेक डाटा साइंस, एमटेक सीएआईडीएस, डिजाइनिंग विभाग में एमडेस (औद्योगिक विज्ञान), एमआईएम, एमटेक (माइक्रोइलेक्ट्रॉनिक्स एंड वीएलएसआई), डिपार्टमेंट ऑफ ह्यूमैनिटीज एंड सोशल साइंस के अंतगर्त एमएस अर्थशास्त्र और प्रस्तावित इंटरनेशनल सेंटर फॉर डैम्स (वर्तमान में हाइड्रोलॉजी डिपार्टमेंट द्वारा समन्वित) के अंतगर्त एमटेक (बांध सुरक्षा एवं पुनर्वास) शामिल हैं।

आईआईटी रुड़की के निदेशक प्रोफेसर अजित के. चतुर्वेदी ने विश्वास व्यक्त किया कि नए कार्यक्रमों से उच्च शिक्षा में भविष्य की प्रौद्योगिकियों की मांग पूरी होगी। उन्होंने कहा, “ये सभी नए शैक्षणिक कार्यक्रम हमारे देश की जरूरतों को पूरा करते हैं। इन्हें कई स्तरों पर सावधानीपूर्वक विचार विमर्श के बाद तैयार किया गया है।” इन नए कार्यक्रमों के शुभारम्भ के अवसर पर संस्थान के कई अन्य गणमान्य लोग भी उपस्थित रहे।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...
India Voice Ads
X