1. हिन्दी समाचार
  2. देश
  3. Infinity Forum: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 3 दिसंबर को ‘इनफिनिटी-फोरम’ का करेंगे उद्घाटन

Infinity Forum: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 3 दिसंबर को ‘इनफिनिटी-फोरम’ का करेंगे उद्घाटन

प्रधानमंत्री कार्यालय (PMO) ने मंगलवार को बताया कि इस कार्यक्रम का आयोजन भारत सरकार के तत्वावधान में अंतरराष्ट्रीय वित्तीय सेवा केंद्र प्राधिकरण (IFSCA) द्वारा किया जा रहा है। आयोजन में गिफ्ट-सिटी (गुजरात इंटरनेशनल फाइनेंस टेक-सिटी) और ब्लूमबर्ग सहयोग कर रहे हैं।

By इंडिया वॉइस 
Updated Date

नई दिल्ली, 30 नवंबर। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 3 दिसंबर को सुबह 10 बजे वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए ‘इनफिनिटी-फोरम’ का उद्घाटन करेंगे। इनफिनिटी फोरम, फिन-टेक पर एक विचारशील नेतृत्वकारी मंच है।

पढ़ें :- Food Supply : WTO मंजूरी दे तो दुनिया को खाद्य सामग्री देने में सक्षम है भारत- प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

फोरम के पहले आयोजन में इंडोनीशिया, दक्षिण अफ्रीका और UK साझीदार देश

प्रधानमंत्री कार्यालय (PMO) ने मंगलवार को बताया कि इस कार्यक्रम का आयोजन भारत सरकार के तत्वावधान में अंतरराष्ट्रीय वित्तीय सेवा केंद्र प्राधिकरण (IFSCA) द्वारा किया जा रहा है। आयोजन में गिफ्ट-सिटी (गुजरात इंटरनेशनल फाइनेंस टेक-सिटी) और ब्लूमबर्ग सहयोग कर रहे हैं। कार्यक्रम 3 और 4 दिसम्बर को होगा। फोरम के पहले आयोजन में इंडोनीशिया, दक्षिण अफ्रीका और यूके साझीदार देश हैं।

प्रौद्योगिकी और नवाचार पर मंथन

इनफिनिटी-फोरम (Infinity Forum)के जरिए नीति, व्यापार और प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में विश्व की जानी-मानी प्रतिभाएं एक साथ आएंगी और इस बात पर गहन विचार करेंगी कि कैसे प्रौद्योगिकी और नवाचार को फिन-टेक उद्योग में इस्तेमाल किया जा सकता है। ताकि समावेशी विकास हो और बड़े पैमाने पर सबकी सेवा हो।

फोरम का ऐजंडा ‘बियॉन्ड’ विषय पर आधारित

फोरम का ऐजंडा ‘बियॉन्ड’ (सर्वोच्च) विषय पर आधारित है। इसमें कई उप-विषय शामिल हैं। जैसे ‘फिन-टेक बियॉन्ड बाऊंड्रीज,’(वित्त-प्रौद्योगिकी सर्वोच्च सीमा तक), जिसके तहत सरकारें और व्यापार संस्थाएं वित्तीय समावेश को प्रोत्साहित करने के लिए भौगोलिक सरहदों के परे ध्यान देंगी, ताकि वैश्विक समूह का विकास हो सके।‘फिन-टेक बियॉन्ड फाइनेन्स’के तहत स्पेस-टेक, ग्रीन-टेक और एग्री-टेक जैसे उभरते क्षेत्रों में एकरूपता लाई जा सके और सतत विकास हो सके और‘फिन-टेक बियॉन्ड नेक्सट’(वित्त-प्रौद्योगिकी सर्वोच्च अग्रिम तक), जिसके तहत इस बात पर ध्यान दिया जाएगा कि कैसे क्वॉन्टम कंप्यूटिंग, भावी फिन-टेक उद्योग और नए मौकों को प्रोत्साहित करने के लिए प्रभावी हो सकता है।

फोरम में लेंगे 70 से अधिक देश हिस्सा

फोरम में 70 से अधिक देश हिस्सा लेंगे। मुख्य वक्ताओं में मलेशिया के वित्तमंत्री तेंगकू जफरुल-अजीज, इंडोनेशिया की वित्तमंत्री मुल्यानी इंद्रावती, इंडोनेशिया के संरचनात्मक अर्थव्यवस्था के मंत्री सैनडियागा एस. ऊनो, रिलायंस इंडस्ट्रीज के अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक मुकेश अंबानी, सॉफ्टबैंक ग्रुप कॉर्प के अध्यक्ष और CEO मासायोशी सून, IBM कॉरपोरेशन के अध्यक्ष एवं CEO अरविन्द कृष्ण, कोटक महिंद्रा बैंक लिमिटेड के प्रबंध निदेशक और CEO उदय कोटक और अन्य गणमान्य शामिल हैं। इस साल के फोरम में नीति आयोग, इनवेस्ट इंडिया, फिक्की और नैसकॉम मुख्य साझीदारों में से हैं।

पढ़ें :- Gujarat : किसान प्राकृतिक खेती को अपनाएं और धरती मां को बचाएं- प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

गौरतलब है कि अंतरराष्ट्रीय वित्तीय सेवा केंद्र प्राधिकरण का मुख्यालय गिफ्ट-सिटी, गांधीनगर, गुजरात में स्थित है। इसकी स्थापना अंतरराष्ट्रीय वित्तीय सेवा केंद्र प्राधिकरण अधिनियम, 2019 के तहत की गई थी। ये संस्था भारत में वित्तीय उत्पादों, वित्तीय सेवाओं और वित्तीय संस्थानों के नियमन और विकास के लिए एक एकीकृत प्राधिकार के रूप में काम करती है। इस समय गिफ्ट-आईएफएससी भारत में पहला अंतरराष्ट्रीय वित्तीय सेवा केंद्र है।

ये ख़बर भी पढ़ें:

Uttarakhand News : मुख्यमंत्री धामी ने किया उत्तराखंड देवस्थानम बोर्ड को भंग

पढ़ें :- ऑस्ट्रेलिया से आए पुरावशेषों का प्रधानमंत्री ने किया निरीक्षण
इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook, YouTube और Twitter पर फॉलो करे...