1. हिन्दी समाचार
  2. क्षेत्रीय
  3. Jal Jeevan Mission: मध्य प्रदेश में 36.5% परिवारों को नल से जल- प्रहलाद सिंह पटेल

Jal Jeevan Mission: मध्य प्रदेश में 36.5% परिवारों को नल से जल- प्रहलाद सिंह पटेल

राज्यमंत्री प्रहलाद सिंह पटेल ने कहा कि जल जीवन मिशन के तहत प्रदेश में साल 2024 तक कुल 1 करोड़ 22 लाख क्रियाशील घरेलू नल कनेक्शन उपलब्ध कराए जाने हैं।

By इंडिया वॉइस 
Updated Date

भोपाल, 18 दिसंबर। केंद्रीय खाद्य प्रसंस्करण उद्योग और जल शक्ति राज्यमंत्री प्रहलाद सिंह पटेल ने शनिवार को जानकारी देते हुए कहा कि मध्य प्रदेश में जल जीवन मिशन से पहले 14.5 प्रतिशत घरों में नल से जल की आपूर्ति होती थी। अब ये बढ़कर 36.5 फीसदी हो चुकी है। देश में अगस्त 2019 से ‘जल जीवन मिशन’ का काम शुरू हुआ पर मध्य प्रदेश में ये काम सालभर बाद मई 2020 में शुरू हुआ।

पढ़ें :- Madhya Pradesh : भारत में दुनिया का तीसरा सबसे बड़ा स्टार्टअप्स ईकोसिस्टम- प्रधानमंत्री मोदी

MP में 36.5% परिवारों को नल से जल

राज्यमंत्री प्रहलाद सिंह पटेल ने कहा कि जल जीवन मिशन के तहत प्रदेश में साल 2024 तक कुल 1 करोड़ 22 लाख क्रियाशील घरेलू नल कनेक्शन उपलब्ध कराए जाने हैं। 17 दिसंबर तक प्रदेश में 44.64 लाख (36.5 प्रतिशत) परिवारों को घरेलू नल कनेक्शन उपलब्ध करा दिए गए हैं।

मिशन के लिए बजट को साल 2021-22 में तीन गुना किया

प्रहलाद सिंह पटेल ने कहा कि मध्य प्रदेश अकेला राज्य है, जहां जिलास्तरीय पेयजल परीक्षण प्रयोगशालाएं प्रमाणित हैं। जल जीवन मिशन के तेजी से क्रियान्वयन के लिए प्रदेश के बजट को साल 2021-22 में तीन गुना (5824 करोड़ रुपये) किया गया है। राज्यांश व्यय करने में मध्य प्रदेश (1260 करोड़ रुपये) पहले स्थान पर है। पटेल ने कहा कि अगर एक करोड़ से अधिक परिवार वाले राज्यों उत्तर प्रदेश, पश्चिम बंगाल, बिहार, महाराष्ट्र, तमिलनाडु, मध्य प्रदेश और राजस्थान की बात करें तो नल से जल आच्छादन में मध्य प्रदेश (36.50 प्रतिशत) चौथे स्थान पर है। हर घर जल उपलब्ध कराने के मामले में भी मध्य प्रदेश (3950 ग्राम) चौथे स्थान पर है।

पढ़ें :- Madhya Pradesh : खरगौन में रामनवमी जुलूस पर पथराव के आरोपियों के घरों पर चला बुलडोजर, अब तक 84 उपद्रवी गिरफ्तार

8 दिसंबर को केन-बेतवा नदी लिंक प्रोजेक्ट को केंद्र से मंजूरी

पटेल ने कहा कि केंद्रीय मंत्रिमंडल ने 8 दिसंबर को केन-बेतवा नदी लिंक प्रोजेक्ट को मंजूरी दी है। इस प्रोजेक्ट के अस्तित्व में आने के बाद राज्य के कई जिलों को फायदा होगा। देश में फूड प्रोसेसिंग के क्षेत्र में अपार संभावनाएं हैं। भारतीय फूड प्रोसेसिंग कंपनियां विश्व के मंच पर अपना मुकाम हासिल करें और वैश्विक ब्रांड के तौर पर उभरें, इसके लिए हर संभव प्रयास सरकार की ओर से किया जा रहा है।

पटेल ने कहा कि मध्य प्रदेश में दो मेगा फूड पार्क स्कीम इंडस मेगा फूड पार्क प्राइवेट लिमिटेड, खरगोन और अवंति मेंगा फूड पार्क प्राइवेट लिमिटेड, देवास प्रचालनरत हैं।

और पढ़ें:

कुछ राजनीतिक दलों को देश की विरासत और विकास से हो रही है दिक्कत- प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

पढ़ें :- Madhya Pradesh : खरगौन में रामनवमी के जुलूस पर हुआ पथराव, प्रशासन ने लगाया कर्फ्यू

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook, YouTube और Twitter पर फॉलो करे...