1. हिन्दी समाचार
  2. क्षेत्रीय
  3. 15 दिसम्बर से शुरू होगी झारखंड में धान की खरीद, जानें कैसे कर सकते हैं रजिस्ट्रेशन

15 दिसम्बर से शुरू होगी झारखंड में धान की खरीद, जानें कैसे कर सकते हैं रजिस्ट्रेशन

सरकार ने कहा है कि इस बार किसानों द्वारा बेचे जाने वाले धान की कुल कीमत का 50 फीसदी हिस्सा सरकार तत्काल भुगतान कर देगी किसानों को शेष 50 फीसदी राशि 3 महीने के अन्दर दी जाएगी। सरकार के द्वारा प्रति किसान धान खरीदारी के लिए 200 क्विंटल की अधिकतम सीमा तय की गयी है।

By इंडिया वॉइस 
Updated Date

रांची 4 दिसम्बर :  15 दिसंबर से झारखंड राज्य में किसानों से धान की खरीद शुरू की जायेगी राज्य के विभिन्न प्रखंडों में धान की खरीदारी शुरू करने के लिए ज़रूरी तैयारियां की जा रही हैं। सरकार ने कहा है कि इस बार किसानों द्वारा बेचे जाने वाले धान की कुल कीमत का 50 फीसदी हिस्सा सरकार तत्काल भुगतान कर देगी किसानों को शेष 50 फीसदी राशि 3 महीने के अन्दर दी जाएगी। सरकार के द्वारा प्रति किसान धान खरीदारी के लिए 200 क्विंटल की अधिकतम सीमा तय की गयी है।

पढ़ें :- Jharkhand : झारखंड कांग्रेस प्रभारी पर केस दर्ज, कोतवाली पहुंचे पार्टी के बड़े नेता

 

पिछले साल के ही समान होंगी दरें

झारखंड के कृषि एवं सहकारिता मंत्री बादल पत्रलेख के अनुसार सरकार ने इस बार पिछले साल की तुलना में 2 लाख टन से अधिक धान खरीद का लक्ष्य रखा है। इस बार करीब 8 लाख टन की खरीद का लक्ष्य तय किया गया है। पिछली बार 6.2 लाख टन धान की खरीद की गई थी। धान खरीदारी की दरें पिछले साल के ही समान हैं। साधारण धान के लिए 2050 रुपये प्रति क्विंटल और ग्रेड ए किस्म के लिए 2070 रुपये प्रति क्विंटल की दर से भुगतान किया जाएगा इस राशि में केंद्र द्वारा तय न्यूनतम समर्थन मूल्य समेत राज्य सरकार से दिया जाने वाला बोनस भी शामिल है।

 

तय है 200 क्विंटल की अधिकतम सीमा

इससे पूर्व में झारखण्ड राज्य के कुछ जिलों में FCI के माध्यम से धान की खरीददारी हुई थी लेकिन उसमे आ रही समस्याओं को देखते हुए सरकार के द्वारा यह फैसला लिया गया है कि अब सभी खरीददारियां लैम्प्स के माध्यम से की जाएँगी। सरकार का कहना है कि 200 क्विंटल की सीमा तय किये जाने से मकसद है कि वह ज्यादा से ज्यादा किसानों को सरकारी समर्थन मूल्य का फायदा पहुंचाना चाहती है।

पढ़ें :- Jharkhand : राज्यसभा की सीट पर मंथन के लिए कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष ने सीएम से की मुलाकात, भाजपा में भी चल रही बैठक

 

ऐसे कर सकते हैं रजिस्ट्रेशन

धान बेचने के लिए किसानों को ई-उपार्जन पोर्टल या बाजार एप पर पहले रजिस्ट्रेशन कराना होगा। जानकारी के रूप में इसमें आधार संख्या, मोबाइल नंबर, बैंक खाता, कृषि कार्य हेतु प्रयुक्त जमीन का रकबा (खाता, प्लाट संख्या सहित) और अन्य जानकारियां देनी होंगी यह सभी कागजात जिला आपूर्ति कार्यालय द्वारा निर्धारित पोर्टल एवं एप पर अपलोड किए जाएंगे। यदि किसी का भी आवेदन रिजेक्ट हो जाता है या कोई त्रुटि उसमें रह जाती है तब भी इसकी सूचना एसएमएस या फोन के जरिए दी जाएगी।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook, YouTube और Twitter पर फॉलो करे...