1. हिन्दी समाचार
  2. क्षेत्रीय
  3. झारखण्ड में पारा शिक्षकों को नहीं मिला वेतनमान, सरकार पर निकाल रहे हैं भड़ास

झारखण्ड में पारा शिक्षकों को नहीं मिला वेतनमान, सरकार पर निकाल रहे हैं भड़ास

शिक्षा मंत्री ने भी कहा है कि जब पारा शिक्षकों की नियुक्ति में आरक्षण रोस्टर का पालन ही नहीं हुआ तो वे उन्हें वेतनमान कैसे दे सकते हैं। हालांकि उन्होंने पारा शिक्षकों के साथ पूर्व  बैठक में वेतनमान का वादा किया था।

By इंडिया वॉइस 
Updated Date

रांची :  झारखण्ड में पारा शिक्षकों को वेतनमान नहीं मिलने से शिक्षक काफी नाराज़ हैं शिक्षकों ने शिक्षा मंत्री जगरनाथ महतो पर सोशल मीडिया पर काफी भड़ास भी निकाली, वेतनमान न मिलने में सबसे बड़ा अड़चन बना आरक्षण रोस्टर। दरअसल,  नियुक्ति की प्रक्रिया में आरक्षण रोस्टर का पालन नहीं हुआ। बिना आरक्षण रोस्टर के आधार पर ग्राम शिक्षा समिति द्वारा आमसभा कर इनकी नियुक्ति हुई थी, जब पारा शिक्षकों को वेतनमान देने की बात हुई तो नियुक्ति में आरक्षण रोस्टर का पालन नहीं होना ही सबसे बड़ी बाधा बनी।

पढ़ें :- Jharkhand: अवैध खनन मामले में आज ED के सामने पेश होंगे झारखंड के CM हेमंत सोरेन

बताया जाता है कि शिक्षा मंत्री की अध्यक्षता वाली उच्च स्तरीय कमेटी में शिक्षकों के वेतनमान देने पर चर्चा हुई तो वित्त सचिव ने स्पष्ट रूप से कहा कि इनकी नियुक्ति में आरक्षण रोस्टर का पालन नहीं हुआ, इसलिए इन्हें वेतनमान नहीं दिया जा सकता। इन्हें वेतनमान देने में कानूनी अड़चन का पेच फंस सकता है। शिक्षा मंत्री ने भी कहा है कि जब पारा शिक्षकों की नियुक्ति में आरक्षण रोस्टर का पालन ही नहीं हुआ तो वे उन्हें वेतनमान कैसे दे सकते हैं। हालांकि उन्होंने पारा शिक्षकों के साथ पूर्व  बैठक में वेतनमान का वादा किया था।

बता दें कि नियमावली में पारा शिक्षकों को वेतनमान ना देकर टेस्ट पास पारा शिक्षकों का मानदेय 50 प्रतिशत तथा अन्य का मानदेय 40 प्रतिशत बढ़ाने की बात कही गई है। बिना टेस्ट पास पारा शिक्षकों द्वारा आकलन परीक्षा उत्तीर्ण करने पर 10 प्रतिशत अतिरिक्त मानदेय बढ़ेगा, जिसके लिए उन्हें तीन अवसर मिलेंगे। वहीं, सभी पारा शिक्षकों का प्रतिवर्ष तीन प्रतिशत मानदेय बढ़ेगा। प्रस्तावित पारा शिक्षक सेवा शर्त नियमावली में यह भी कहा गया है कि राज्य में और पारा शिक्षकों की नियुक्ति नहीं होगी।

 

पारा शिक्षकों में है नाराजगी

 

पढ़ें :- Jharkhand news:दुर्गा मंदिर के शिखर पर चढ़ कर देर रात एक युवक ने की तोड़फोड़,पुलिस ने किया गिरफ्तार

वेतनमान न देने की बात के सामने आने के बाद शिशकों में काफी नाराजगी है पारा शिक्षक शिक्षा मंत्री पर अपना गुस्सा उतार रहे हैं आपको बता दें शिक्षकों ने शिक्षा मंत्री पर वादाखिलाफी का आरोप लगाया है। सोशल मीडिया पर कई पारा शिक्षकों समेत कई अन्य लोगों ने भी अपनी मार्यादा लांघ दी। मंत्री के खिलाफ कई आपत्तिजनक बातें भी कहीं गयीं आपको बता दें कि शिक्षा मंत्री ने इंटरनेट मीडिया पर पारा शिक्षकों के साथ बैठक की तस्वीर शेयर करते हुए उनके मानदेय बढ़ाने की बात कही थी। यह नियमावली सामने आने के बाद इसपर तुरंत ही लोग टिप्पणियां करने लगे। हालांकि एकीकृत पारा शिक्षक संघर्ष मोर्चा की ओर से अभी तक कोई अधिकृत प्रतिक्रिया नहीं आई है। बता दें कि पारा शिक्षकों ने मंत्री से दो दिनों का समय मांगा है। इसी बीच यह नियमावली सामने आने के बाद एकीकृत पारा शिक्षक संघर्ष मोर्चा के संजय दूबे ने अपने पद से यह कहते हुए इस्तीफा दे दिया है कि वह पारा शिक्षकों को वेतनमान नहीं दिला सके इसलिए वह अब संघ में किसी भी पद पर नहीं रहेंगे।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook, YouTube और Twitter पर फॉलो करे...