1. हिन्दी समाचार
  2. राजनीति
  3. अब वरिष्ठ कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल ने भी उठाये कांग्रेस नेतृत्व पर सवाल, पढ़ें क्या दी सलाह

अब वरिष्ठ कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल ने भी उठाये कांग्रेस नेतृत्व पर सवाल, पढ़ें क्या दी सलाह

सिब्बल ने बुधवार को मीडिया से बातचीत करते हुए कहा कि अभी पार्टी में कोई स्थायी अध्यक्ष नहीं है और पार्टी में निर्णय कौन ले रहा है इसको लेकर स्थिति स्पष्ट नहीं है।

By इंडिया वॉइस 
Updated Date

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता कपिल सिब्बल ने कहा कि नेताओं का पार्टी छोड़कर जाना गंभीर चिंता का विषय है और पार्टी को मजबूत बनाने के लिए ठोस उपाय किए जाने की जरूरत है। इस मुद्दे पर पार्टी को चिंतन करने की जरूरत है और जितनी जल्दी हो सके कांग्रेस कार्यसमिति की बैठक बुलाई जाए।

सिब्बल ने बुधवार को मीडिया से बातचीत करते हुए कहा कि अभी पार्टी में कोई स्थायी अध्यक्ष नहीं है और पार्टी में निर्णय कौन ले रहा है इसको लेकर स्थिति स्पष्ट नहीं है। उन्होंने कहा कि पिछले कुछ महीनों में कई कांग्रेसी नेता दूसरे दलों में चले गए। यह चिंता विषय है। उन्होंने इन नेताओं के नाम लिए और कहा कि सुष्मिता देव, फेलेरो, जितिन प्रसाद, ज्योतिरादित्य सिंधिया, अभिजीत मुखर्जी, ललितेश त्रिपाठी इनमें से कुछ प्रमुख नाम है।

कपिल सिब्बल ने कहा कि पार्टी को राष्ट्रीय मुद्दों पर आंदोलन करना चाहिए। इस समय देश के सामने चीनी घुसपैठ, अफगानिस्तान में तालिबान, गरीबी और बेरोजगारी सहित कई मुद्दे हैं। इन मुद्दों पर कांग्रेस को आंदोलन करना चाहिए। देश को इस समय एक मजबूत विपक्ष की जरूरत है। इस दिशा में पार्टी को सोचना ही होगा। उन्होंने कहा कि जल्द से जल्द कांग्रेस कार्यसमिति की बैठक बुलानी चाहिए और पार्टी की मजबूती के बारे में मंथन करना चाहिए।

सिब्बल ने खुद को पार्टी का हितैषी बताया और कहा कि वह ‘जी हजूरी’ करने वाले नेताओं में से नहीं है। उन्होंने कहा कि बहुत ऐसे विषय हैं जिन्हें सार्वजनिक तौर पर उठाया नहीं जा सकता। सिब्बल ने कहा कि पार्टी के वरिष्ठ नेताओं जिन्हें जी-23 कहा गया है पार्टी छोड़कर जाने वालों में से नहीं है। देश को बचाने के लिए कांग्रेस को मजबूत करना बहुत जरूरी है। इसके लिए पार्टी की अंदरूनी कलह को पूरी तरह खत्म करना होगा।

पंजाब कांग्रेस में फैली अंतर कलह की स्थितियों पर सिब्बल ने पार्टी से आग्रह किया कि इसे समय रहते सुलझाया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि पंजाब राज्य में अस्थिरता होने से पाकिस्तान को फायदा होगा। पंजाब को पृथकवादियों से हुए नुकसान के हम साक्षी रहे हैं। ऐसे में कांग्रेस को एकजुट रहना चाहिए।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...
India Voice Ads
X