Booking.com

राज्य

  1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तराखंड
  3. उत्तराखंड : रामनगर में कोसी नदी ने बरपाया कहर, रिकॉर्ड तोड़ बारिश से लोगों का जीवन हुआ अस्त व्यस्त !

उत्तराखंड : रामनगर में कोसी नदी ने बरपाया कहर, रिकॉर्ड तोड़ बारिश से लोगों का जीवन हुआ अस्त व्यस्त !

जानकारी के अनुसार कोसी नदी में आए जबरदस्त पानी से लोगों का जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया है।

By इंडिया वॉइस 

Updated Date

रामनगर, 19 अक्टूबर। कोसी नदी में भारी बारिश के बाद बाढ़ ने अपना रौद्र रूप दिखाना शुरू कर दिया है। प्रदेश में हो रही लगातार बारिश के चलते कोसी नदी के जलस्तर में भी भारी बढ़ोत्तरी देखी गई है। वहीं कोसी नदी में लगातार बढ़ रहे जलस्तर के चलते आसपास के इलाकों में खतरा मंडराने लगा है। साथ ही बता दें कि बाढ़ की वजह से यहां कई सैलानियों के फंसे होने की भी खबर हैं।

पढ़ें :- Uttarakhand News: हल्द्वानी से रिश्तों को शर्मसार करने का मामला आया सामने, सगे भाई ने नाबालिग बहन को बनाया हवस का शिकार

जानकारी के अनुसार कोसी नदी में आए जबरदस्त पानी से लोगों का जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया है। मोहान और ढिकुली के कई रिजॉर्टों में पानी भरने से वहां पर रुके सैलानियों को देर रात वहां से निकाल लिया गया। लेमन ट्री रिजॉर्ट में भी कई सैलानी फंसे हुए हैं। वहीं आपको बता दें कि ‘सुंदरखाल गांव’ में एक टापू में कुछ परिवारों के करीब ‘बारह लोगों’ के फंसे होने की भी सूचना मिली है। बहरहाल प्रशासन लगातार राहत और बचाव कार्यों के इंतजाम में जुटा हुआ है।

कोसी बैराज पर नदी का जलस्तर अब तक के अधिकतम 160000 क्यूसेक से थोड़ा ही कम है। पहाड़ों में हो रही बारिश से नदी के पानी में और बढ़ोत्तरी की संभावना है। लिहाजा नदी के किनारे रहने वालों को अपने मकान खाली करने को कहा गया है। पर्वतीय क्षेत्रों के साथ हल्द्वानी और नैनीताल मार्ग पर भी सड़क यातायात बंद कर दिया है। सिंचाई विभाग के अधिशासी अभियंता कैसी उनियाल ने बताया कि कोसी के जलस्तर में लगातार वृद्धि हो रही है, अगर बारिश थमी तभी नदी का प्रवाह कम हो पायेगा। अन्यथा मुश्किलें बढ़ेंगी।

दर्जनों सड़कें हुई बाधित 

लगातार हो रही बारिश के चलते जहाँ एक तरफ लोगों का जीवन अस्त व्यस्त हुआ है वहीं कई सड़के भी भूस्खलन की वजह से कई सड़के भी बाधित हो गईं। वहीं प्रदेश में आई इस आपदा के कारण पौड़ी में 3 तो चंपावत में 2 लोगों के मरने की भी खबर है। इसके अलावा भूस्खलन और मलबे में दब कर प्रदेश भर में कुल करीब 20 लोगों की मौत हो चुकी है। शासन के आदेश पर प्रदेश भर में राहत व बचाव का कार्य तेज़ी से चलाया जा रहा है। बता दें कि मौसम विभाग के द्वारा जारी भविष्यवाणी के अनुरूप प्रदेश भर में भीषण बारिश देखने को मिल रही है। पूरे प्रदेश में औसत बारिश से 148 गुना ज्यादा बारिश हुई है।

पढ़ें :- Earthquake News: उत्तराखंड के उत्तरकाशी में महसूस किए गए भूकंप के झटके, लोगों में दहशत

बहरहाल सरकार लगातार स्थिति पर नज़र बनाए हुए है। एसडीआरएफ की टीम सभी प्रभावित इलाकों पर मौजूद है। साथ ही हर तरह की स्थिति से निपटने के लिए तैयार है।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook, YouTube और Twitter पर फॉलो करे...
Booking.com
Booking.com
Booking.com
Booking.com