1. हिन्दी समाचार
  2. क्षेत्रीय
  3. रांची: भारत बंद के विरोध में सड़कों पर उतरे विभिन्न राजनीतिक दलों के नेता

रांची: भारत बंद के विरोध में सड़कों पर उतरे विभिन्न राजनीतिक दलों के नेता

रांची में भारत बंद के समर्थन में सड़कों पर उतरे विपक्षी दल के नेता।

By इंडिया वॉइस 
Updated Date

रांची- तीन कृषि कानूनों के विरोध में देश भर के 40 किसान संगठनों के द्वारा बुलाए गए भारत बंद का खास असर नहीं दिख रहा है। बंद के समर्थन में विपक्षी दलों के नेता सड़क पर उतर जरूर थे, लेकिन उनके द्वारा जोर-जबर्दस्ती नहीं की गयी। हालांकि जब तक बंद समर्थक सड़कों पर थे, तब तक रांची के मेन रोड अल्बर्ट एक्का चौक से लेकर सुजाता चौक के बीच ट्रैफिक व्यवस्था बाधित रही। गाड़ियां सड़कों पर रेंग रही थी।

पढ़ें :- Jharkhand : झारखंड में गहराता जा रहा है बिजली-पानी का संकट, रांची के करीब 157 इलाकों में पानी की किल्लत

झारखंड मुक्ति मोर्चा केंद्रीय महासचिव के नेतृत्व में उतरे नेता और कार्यकर्ता

झारखंड मुक्ति मोर्चा के केंद्रीय महासचिव सुप्रियो भट्टाचार्य के नेतृत्व में जेएमएम के नेता और कार्यकर्ता अल्बर्ट एक्का चौक पहुंचे। इस दौरान सभी नेता सड़कों पर ही बैठ गए। महासचिव सुप्रियो भट्टाचार्य ने कहा कि देश के किसान-मजदूर सभी इस आंदोलन के साथ हैं। उन्होंने केंद्र सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि जमीन से लेकर आसमान तक का सौदा पीएम मोदी ने करने का काम किया है।

वाम मोर्चा के लोगों ने भी किया भारत बंद का समर्थन

वहीं भाकपा, भाकपा माले, मासस, ऑल इंडिया स्टूडेंट्स यूनियन(AISA), मजदूर एवं कर्मचारी समन्वय समिति के नेताओं ने भारत बंद के समर्थन में अल्बर्ट एक्का चौक पर पदयात्रा करते हुए पहुंचे। इस दौरान भाकपा नेता और पूर्व सांसद भुवनेश्वर मेहता ने केंद्र सरकार को चेतावनी देते हुए कहा कि जब तक यह तीनों कृषि कानून वापस नहीं लिया जाता है तब तक यह आंदोलन जारी रहेगा।

पढ़ें :- Ranchi : राज्यपाल से विधायक सीता सोरेन की मुलाकात, अपनी ही पार्टी पर खड़े किए सवाल- जमीन की लूट मची है, सरकार रोक नहीं रही

कांग्रेस के नेताओं ने भी किया बंद का समर्थन

वहीं कृषि कानून के विरोध में कांग्रेस के भी नेता सड़कों पर उतरे। सड़क पर उतरने वालों में मुख्य रूप से कांग्रेस पार्टी के नेता सुनील सिंह, महिला मोर्चा की प्रदेश अध्यक्ष गुंजन सिंह, प्रवक्ता राजीव रंजन, राकेश सिन्हा समेत सैकड़ों की संख्या में कांग्रेसियों ने केंद्र सरकार के विरोध में नारेबाजी की।

राष्ट्रीय जनता दल के नेताओं ने भी केंद्र सरकार विरोध में की नारेबाजी

वहीं राष्ट्रीय जनता दल के नेताओं ने भी कृषि कानून को विरोध में सड़कों पर उतरकर प्रदर्शन किया। राजद के महासचिव कमलेश यादव, इरफान अंसारी और युवा राजद के राष्ट्रीय महासचिव विशु विशाल के नेतृत्व में राजद कार्यकर्ताओं ने सड़क पर उतरकर प्रदर्शन किया। नेताओं ने एक स्वर में कहा कि 2024 में भाजपा सरकार की देश से विदाई तय है।

सड़कों पर मुस्तैद थी पुलिस, नहीं गिरफ्तार हुए बंद समर्थक

पढ़ें :- Ranchi : IG आवास में होली मना रहे पुलिसकर्मियों पर मधुमक्खियों का हमला, कई लोग घायल

वहीं भारत बंद के मद्देनजर पुलिस के जवान सुबह से ही अल्बर्ट एक्का चौक पर मुस्तैद दिखे। बंद समर्थकों ने शांतिपूर्ण प्रदर्शन किया। हालांकि जब तक समर्थक सड़कों पर थे उस वक्त तक ट्रैफिक व्यवस्था बाधित रही। बंद समर्थकों के जाते ही ट्रैफिक सुचारू हुआ। हालांकि बंद समर्थकों की गिरफ्तारी नहीं हुई।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook, YouTube और Twitter पर फॉलो करे...