1. हिन्दी समाचार
  2. देश
  3. महंत नरेंद्र गिरी मौत मामला : 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेजे गए आनंद गिरी और आद्या तिवारी

महंत नरेंद्र गिरी मौत मामला : 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेजे गए आनंद गिरी और आद्या तिवारी

महंत की इच्छा के अनुसार उनके पार्थिव शरीर को बुधवार दोपहर में बाघम्बरी मठ परिसर में नींबू के पेड़ के नीचे भू-समाधि दी गई है।

By इंडिया वॉइस 
Updated Date

अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरी की संदिग्ध हालात में हुई मौत के मामले में आनंद गिरी और बड़े हनुमान मन्दिर के पुजारी आद्या तिवारी को 14 दिन की न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया गया है। महंत की इच्छा के अनुसार उनके पार्थिव शरीर को बुधवार दोपहर में बाघम्बरी मठ परिसर में नींबू के पेड़ के नीचे भू-समाधि दी गई है।

जनपद के अल्लापुर स्थित बाघम्बरी मठ पर बीती सोमवार को महंत नरेंद्र गिरी का शव फांसी के फंदे से लटका मिला था। पुलिस ने मामले की जांच की और घटनास्थल से मिले सुसाइड नोट के आधार पर तीन लोगों को गिरफ्तार किया। आठ पन्नों के सुसाइड नोट में अपनी मौत का जिम्मेदार आनंद गिरी, बड़े हनुमान मन्दिर के पुजारी आद्या तिवारी और उनके बेटे संदीप पर लगाया था।

पुलिस आनंद को हरिद्वार से गिरफ्तार कर प्रयागराज लेकर आयी थी जबकि आद्या तिवारी और उनके बेटे संदीप को पहले से ही हिरासत में ले रखा था। पूछताछ के बाद उन्हें भी गिरफ्तार कर लिया था। बुधवार को आनंद गिरी और आद्या तिवारी को न्यायालय के समक्ष पेश किया गया, जहां उन्हें 14 दिन की न्याययिक हिरासत में जेल भेज दिया गया है। हालांकि संदीप के बारे में पुलिस कोई जानकारी नहीं दे रही है।

आनंद ने खुद को बताया निर्दोष

महंत नरेंद्र गिरी की हत्या के मामले में गिरफ्तार किये गए आनंद गिरी से कई घंटे पूछताछ हुई। बदल-बदल कर पुलिस अधिकारियों ने उससे पूछताछ की, लेकिन उसने खुद को निर्दोष बताया है। उसका कहना है कि उसे साजिशन फंसाया जा रहा है। वह पुलिस की जांच में सहयोग करने को तैयार है।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...
India Voice Ads
X