Booking.com

राज्य

  1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तराखंड
  3. उत्तराखंड : शहीद अजय रौतेला का पार्थिव शरीर पंचतत्व में विलीन

उत्तराखंड : शहीद अजय रौतेला का पार्थिव शरीर पंचतत्व में विलीन

बीते शनिवार की देर शाम को सेना के अधिकारियों ने पुष्टि की थी।

By इंडिया वॉइस 

Updated Date

उत्तराखंड, 18 अक्टूबर। जम्मू-कश्मीर के पुंछ में आतंकवादियों के साथ हुई मुठभेड़ में गढ़वाल राइफल्स और वर्तमान में राष्ट्रीय राइफल 48 के सूबेदार शहीद अजय सिंह रौतेला का पार्थिव शरीर आज पंचतत्व में विलीन हो गया। इससे पूर्व शहीद अजय रौतेला के पार्थिव शरीर को ऋषिकेश के मुक्तिधाम पर सैन्य सम्मान में गार्ड ऑफ ऑनर दिया गया। शहीद अजय सिंह रौतेला के बड़े बेटे अरुण ने उन्हें मुखाग्नि दी।

पढ़ें :- Uttarakhand News: हल्द्वानी से रिश्तों को शर्मसार करने का मामला आया सामने, सगे भाई ने नाबालिग बहन को बनाया हवस का शिकार

46 वर्षीय सूबेदार अजय सिंह रौतेला के शहीद होने की बात को बीते शनिवार की देर शाम को सेना के अधिकारियों ने पुष्टि की थी। इसकी सूचना मिलते ही उनके गांव रामपुर में कोहराम मच गया था। वर्तमान में शहीद रौतेला का परिवार रामपुर में रहता है ,लेकिन कुछ दिन पहले ही उनकी पत्नी विमला देवी अपने दो जुड़वा बेटे सुमित और अमित के साथ गांव गए थे। शहीद के चाचा अधिवक्ता हरपाल रौतेला ने बताया कि अजय के तीन पुत्र हैं। बड़े बेटे अरुण रौतेला ने हाल ही में बीटेक पास किया है। जबकि सुमित और अमित इंटर कॉलेज में पढ़ते हैं। पत्नी विमला देवी गृहणी हैं।

छोटे भाई दीपक के कन्धों पर घर की जम्मेदारी 

शहीद के छोटे भाई दीपक भी सूचना के बाद से ही गांव में रह रहे हैं। वह परिजनों को संभाल रहे हैं। शहीद के छोटे भाई दीपक पेशे से शिक्षक हैं। उन्होंने बताया कि 2 साल बाद भाई की भी सेवनिवृति होनी थी, लेकिन उससे पहले आतंकवादियों के साथ हुईं मुठभेड़ में वे शहीद हो गए। उनके पार्थिव शरीर को रविवार की दोपहर 2.30 बजे सेना के जवान जौलीग्रांट हवाई अड्डे पर लेकर पहुंचे थे, लेकिन देर हो जाने के कारण उसे उनके गांव नहीं ले जाया गया। इसके चलते उनके पार्थिव शरीर को ऋषिकेश एम्स में रखा गया था।

शहीद अजय का पार्थिव शरीर सुबह आठ बजे उनके पैतृक गांव पहुंचा 

पढ़ें :- Earthquake News: उत्तराखंड के उत्तरकाशी में महसूस किए गए भूकंप के झटके, लोगों में दहशत

सेना के जवान सोमवार की सुबह आठ बजे शहीद अजय के पार्थिव शरीर को पैतृक गांव लेकर पहुंचे। इसके बाद वे शहीद के पार्थिव शरीर को लेकर दोपहर 1.00 बजे ऋषिकेश के मुक्तिधाम पर पहुंचे और वहां पर गार्ड ऑफ आनर दिया। इसके बाद शहीद अजय के पार्थिव शरीर को विधि विधान के साथ उनके बड़े बेटे के मुखाग्नि के देने बाद पंचतत्व में विलीन कर दिया गया है। अजय जम्मू-कश्मीर के पुंछ में आतंकवादियों के साथ हुई मुठभेड़ के दौरान गत 14 अक्टूबर को टिहरी जिले के दो सैनिक शहीद हुए थे।

इस दौरान टिहरी की जिलाधिकारी ईवा श्रीवास्तव, टिहरी की उप पुलिस अधीक्षक तृप्ति भटृ, विधानसभा अध्यक्ष प्रेमचंद अग्रवाल ,उत्तराखंड सरकार के कैबिनेट मंत्री सुबोध उनियाल नरेंद्र नगर के पूर्व विधायक ओम गोपाल रावत, सूबेदार प्रेमाराम, ऋषिकेश नगर निगम महापौर अनीता ममगांई, अजय के चाचा जबरसिंह रौतेला, कर्नल संजय सिंह,नरेंद्र नगर के उप जिलाधिकारी देवेंद्र सिंह नेगी सहित काफी संख्या में राजनीतिक सामाजिक संस्थाओं के प्रतिनिधियों के परिजन वह गांव के लोग भी उपस्थित थे।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook, YouTube और Twitter पर फॉलो करे...
Booking.com
Booking.com
Booking.com
Booking.com