1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. उत्तर प्रदेश : योगी सरकार के नए मंत्रिमंडल विस्तार पर मायावाती ने किया कटाक्ष

उत्तर प्रदेश : योगी सरकार के नए मंत्रिमंडल विस्तार पर मायावाती ने किया कटाक्ष

मंत्री जब तक मंत्रालय का काम काज समझेंगे तब तक प्रदेश में आचार संहिता लागू हो जायेगी.

By इंडिया वॉइस 
Updated Date

लखनऊ, 27 सितम्बर। बहुजन समाज पार्टी (बसपा) की अध्यक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री मायावती ने योगी मंत्रिमंडल के नए विस्तार पर कटाक्ष करते हुए हमला बोला है. बसपा सुप्रीमो मायावती ने हमला करते हुए कहा है कि उत्तर प्रदेश के नए मंत्री जब तक मंत्रालय का काम काज समझेंगे, तब-तक प्रदेश में आचार संहिता लागू हो जाएगी। बसपा अध्यक्ष ने कहा कि भाजपा ने 26 सितम्बर को उत्तर प्रदेश में जातिगत आधार पर वोटों को साधने के लिए कुछ चेहरों को मंत्री बनाया है। बेहतर होता कि वे लोग इसे स्वीकार नहीं करते क्योंकि जब-तक वह अपने-अपने मंत्रालय को समझकर कुछ करना भी चाहेंगे, तब तक चुनाव आचार संहिता लागू हो जाएगी।

पढ़ें :- मायावती ने कहा, सपा मुखिया को बंद कर देना चाहिए बचकाना बयान

उन्होंने आगे कहा कि उनके समाज के विकास एवं उत्थान के लिए अभी तक वर्तमान भाजपा सरकार ने कोई भी ठोस कदम नहीं उठाए हैं। आगे उन्होंने कहा कि जनता के हितों में बसपा की सरकार ने जो भी कार्य शुरू किए थे उन्हें भी मौजूदा सरकार के कार्यकाल में अधिकांश बंद कर दिया गया है। वहीं आगे मायावती ने भाजपा पर आरोप लगाते हुए कहा कि भाजपा के इस दोहरे चरित्र से इन वर्गों को सावधान रहने की जरूरत है। किसानों पर पूर्व मुख्यमंत्री मायावती ने कहा कि उत्तर प्रदेश भाजपा सरकार पूरे साढ़े 4 वर्षों तक यहां के किसानों की घोर अनदेखी करती रही है। गन्ना का समर्थन मूल्य नहीं बढ़ाया गया। जिस उपेक्षा की ओर 7 सितंबर को प्रबुद्ध वर्ग सम्मेलन में मेरे द्वारा इंगित करने पर अब चुनाव से पहले गन्ना किसान याद आए हैं। जो भाजपा का स्वार्थ दर्शाता है।

पढ़ें :- Assembly Elections 2022 : सोमवार को यूपी में आखिरी चरण का मतदान, 9 जिले की 54 सीटों पर होगा मतदान

उन्होंने आगे कहा कि केंद्र और प्रदेश की योगी सरकार के किसान विरोधी नीतियों से पूरा किसान समाज आज दुखी है। अब जब चुनाव नज़दीक है तो चुनाव से पहले अपनी फेस सेविंग के लिए गन्ना का समर्थन मूल्य थोड़ा बढ़ाना खेती किसानी की मूल समस्या का सही समाधान नहीं हो सकता है। ऐसे में किसान इनके बहकावे में बिल्कुल भी आने वाला नहीं है।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook, YouTube और Twitter पर फॉलो करे...