1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. मोदी ने वाराणसी को दी 2100 करोड़ की परियोजनाओं की सौगात

मोदी ने वाराणसी को दी 2100 करोड़ की परियोजनाओं की सौगात

हमारी सरकार सिर्फ कोरोना वैक्सीन ही मुफ्त नहीं लगा रही बल्कि पशु धन को बचाने के लिए अनेक टीके मुफ्त लगा रही है।

By इंडिया वॉइस 
Updated Date

वाराणसी, 23 दिसम्बर। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी आज गुरुवार को वाराणसी दौरे पर थे। जहां उन्होंने अपने संसदीय क्षेत्र के करखियांव में 870 करोड़ रुपये की लागत से तैयार 22 परियोजनाओं का लोकार्पण और 1225.51 करोड़ रुपये की 5 परियोजनाओं का शिलान्यास किया। पीएम मोदी ने परियोजनाओं की शुरुआत करने के उपरांत उपस्थित जनसभा को संबोधित भी किया।

पढ़ें :- Assembly Elections 2022 : सोमवार को यूपी में आखिरी चरण का मतदान, 9 जिले की 54 सीटों पर होगा मतदान

 

मंच पर शंखध्वनि से हुआ पीएम मोदी का स्वागत 

जनसभा में राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन, प्रधानमंत्री आवास योजना सहित अन्य योजनाओं से लाभान्वित लाभार्थियों से संवाद कर प्रधानमंत्री ने उनका उत्साह बढ़ाया। इसके पहले प्रधानमंत्री ने करखियांव में अमूल प्लांट की आधारशिला रखने के पूर्व इसके मॉडल को देखा और इसकी जानकारी कम्पनी के अफसरों से ली।

मंच पर प्रधानमंत्री शंखध्वनि के बीच पहुंचे। प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को अंगवस्त्र पहना कर स्वागत किया। मंच पर चंदौली के सांसद और केन्द्रीय मंत्री डॉ महेन्द्रनाथ पांडेय भी मौजूद रहे।

 

पढ़ें :- गुरुवार को अमेठी और प्रयागराज में रैली करेंगे प्रधानमंत्री मोदी

डबल इंजन की सरकार पूरी ईमानदारी से कर रही है काम 

डबल इंजन की हमारी सरकार पूरी ईमानदारी और शक्ति से किसानों और पशुपालकों का साथ दे रही है। आज यहां जो बनास काशी संकुल का शिलान्यास किया गया है, वो भी सरकार और सहकार की इसी भागीदारी का प्रमाण है। 6-7 वर्ष पहले की तुलना में देश में दूध उत्पादन लगभग 45% बढ़ा है।

पीएम मोदी ने कहा कि आज भारत दुनिया का लगभग 22% दूध उत्पादन करता है।  UP आज देश का सबसे अधिक दूध उत्पादक राज्य तो है ही, डेयरी सेक्टर के विस्तार में भी बहुत आगे है। हमारे यहां कहा जाता था कि किसके दरवाजे पर कितने खूंटे हैं, इसे लेकर स्पर्धा रहती थी। लेकिन बहुत लंबे समय तक इस सेक्टर को जो समर्थन मिलना चाहिए था, वो पहले की सरकारों में नहीं मिला।

 

डेयरी सेक्टर किसानों की स्थिति बदलने में बड़ी भूमिका निभा सकती है 

मेरा अटूट विश्वास है कि देश का डेयरी सेक्टर, पशुपालन, श्वेत क्रांति में नई ऊर्जा, किसानों की स्थिति को बदलने में बहुत बड़ी भूमिका निभा सकती है। इस विश्वास के कई कारण भी हैं। पहला ये कि पशुपालन, देश के छोटे किसान जिनकी संख्या 10 करोड़ से भी अधिक है, उनकी अतिरिक्त आय का बहुत बड़ा साधन बन सकता है।

दूसरा ये कि भारत के डेयरी प्रॉडक्ट्स के पास, विदेशों का बहुत बड़ा बाजार है जिसमें आगे बढ़ने की बहुत सारी संभावनाएं हमारे पास हैं। तीसरा ये कि पशुपालन, महिलाओं के आर्थिक उत्थान, उनकी उद्यमशीलता को आगे बढ़ाने का बहुत बड़ा जरिया है। और चौथा ये कि जो हमारा पशुधन है, वो बायोगैस, जैविक खेती, प्राकृतिक खेती का भी बहुत बड़ा आधार है।

 

पढ़ें :- खीरी : ईवीएम में फेवीक्विक लगाने के मामले में दो के खिलाफ मुकदमा दर्ज

गाय की बात करना कुछ लोगों ने गुनाह बना दिया है

जनसभा को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा कि हमारे यहां गाय की बात करना, गावेर्धन की बात करना कुछ लोगों ने गुनाह बना दिया है। गाय कुछ लोगों के लिए गुनाह हो सकती है, हमारे लिए गाय माता है, पूजनीय है। उन्होंने कहा कि गाय-भैंस का मजाक उड़ाने वाले लोग ये भूल जाते हैं कि देश के 8 करोड़ परिवारों की आजीविका ऐसे ही पशुधन से चलती है।

 

डेयरी सेक्टर को मजबूत करना सरकार की सर्वोच्च प्राथमिकता – नरेन्द्र मोदी

उन्होंने प्रधानमंत्री स्वामित्व योजना के तहत प्रदेश के 20 लाख से अधिक लोगों को ग्रामीण आवासीय अधिकार रिकॉर्ड ‘घरौनी’ का वर्चुअली वितरण भी किया। इस दौरान प्रधानमंत्री ने कहा कि भारत के डेयरी सेक्टर को मजबूत करना, आज हमारी सरकार की सर्वोच्च प्राथमिकताओं में से एक है।

इसी कड़ी में आज यहां बनास काशी संकुल का शिलान्यास किया गया है। 6-7 वर्ष पहले की तुलना में देश में दूध उत्पादन लगभग 45 प्रतिशत बढ़ा है। आज भारत दुनिया का लगभग 22 प्रतिशत दूध उत्पादन करता है। मुझे खुशी है कि यूपी आज देश का सबसे अधिक दूध उत्पादक राज्य तो है ही, डेयरी सेक्टर के विस्तार में भी बहुत आगे है।

पढ़ें :- कुंडा विधानसभा सीट से राजा भैया के किले को भेदना भाजपा और सपा के लिए कड़ी चुनौती !

 

वाराणसी आज बहुत बड़े कार्यक्रम का साक्षी बना है

उन्होंने कहा कि आज वाराणसी और आसपास का पूरा क्षेत्र एक बार फिर से पूरे देश, उत्तर प्रदेश के गांवों, किसानों, पशुपालकों के लिए बहुत बड़े कार्यक्रम का साक्षी बना है। उन्होंने बताया कि सरकार ने कामधेनु आयोग का गठन किया, हजारों करोड़ का विशेष फंड बनाया है, किसानों को किसान क्रेडिट कार्ड से जोड़ा है।

किसानों को गुणवत्ता वाले बीज मुफ्त में मिलें, इसका भी कार्य हो रहा है। हमारी सरकार सिर्फ कोरोना वैक्सीन ही मुफ्त नहीं लगा रही बल्कि पशु धन को बचाने के लिए अनेक टीके मुफ्त लगा रही है।

 

पढ़ें अन्य ख़बरें – 

भारत रत्न अटल बिहारी बाजपेई की जयंती को राज्य में सुशासन दिवस के तौर पर मनाएगी भाजपा\

किसान सम्मान दिवस कार्यक्रम में बोले सीएम योगी 2014 से पहले देश में किसान करता था आत्महत्या

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook, YouTube और Twitter पर फॉलो करे...