1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. अब यूपी सरकार के मंत्री आनंद स्वरूप शुक्ला ने लिखा डीएम को पत्र, कहा- मस्जिदों से हटवाएं लाउड स्पीकर

अब यूपी सरकार के मंत्री आनंद स्वरूप शुक्ला ने लिखा डीएम को पत्र, कहा- मस्जिदों से हटवाएं लाउड स्पीकर

लाहाबाद विश्वविद्यालय की कुलपति के बाद अब बलिया नगर से भाजपा विधायक और योगी सरकार के मंत्री आनन्द स्वरूप शुक्ला को अजान से दिक्कत होने लगी है। आनन्द स्वरूप शुक्ला ने इसको लेकर जिलाधिकारी को पत्र लिखा है। उन्होंने लाउडस्पीकर पर पाबंदी लगाने की मांग की है।

By Team India Voice 
Updated Date

लखनऊ। इलाहाबाद विश्वविद्यालय की कुलपति के बाद अब बलिया नगर से भाजपा विधायक और योगी सरकार के मंत्री आनन्द स्वरूप शुक्ला को अजान से दिक्कत होने लगी है। आनन्द स्वरूप शुक्ला ने इसको लेकर जिलाधिकारी को पत्र लिखा है। उन्होंने लाउडस्पीकर पर पाबंदी लगाने की मांग की है।

पढ़ें :- Jharkhand : कांग्रेस विधायक बंधु तिर्की के खिलाफ 9 घंटे चली CBI की कार्रवाई, मामले में राजनीति तेज

मंत्री ने पत्र में लिखा है कि मस्जिदों में नमाज के दौरान अजान, दिन भर लाउडस्पीकर के माध्यम से धार्मिक प्रचार-प्रसार, मस्जिद निर्माण के लिए चंदा एकत्र करने एवं विभिन्न प्रकार की सूचनाओं को अत्यधिक तेज आवाज में प्रसारित किया जाता है। इसको लेकर पढ़ने वाले बच्चों को परेशानी उठानी पड़ती है।

इसके साथ ही वृद्ध व बीमार लोगों के स्वास्थ्य पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ रहा है। जनसामान्य को अत्यधिक ध्वनि प्रदूषण का सामना करना पड़ रहा है। डीएम को लिखे हुए पत्र में मंत्री ने कहा कि उनकी विधानसभा क्षेत्र स्थित मदीना मस्जिद काजीपुरा, थाना कोतवाली, बलिया के समीप अनेक शैक्षणिक संस्थान स्थित हैं।

इनमें सेंट जोसेफ, महर्षि विद्या मंदिर, सतीश चन्द्र महाविद्यालय आदि में अध्ययनरत विद्यार्थियों को लाउडस्पीकर की तेज आवाज के कारण पढ़ाई में दिक्कत होती है। मस्जिद में पांचों वक्त नमाज की अजान तथा सारा दिन अन्य सूचनाएं प्रसारित की जा रही हैं, जिससे होने वाले वाले शोर के कारण योग, ध्यान, पूजा पाठ तथा शासकीय कार्यों में बाधा उत्पन्न हो रही है। मंत्री ने कोर्ट की आरे से जारी आदेश का इस पत्र में हवाला भी दिया है।

 

पढ़ें :- Gyanvapi Case : ज्ञानवापी श्रृंगार गौरी मामले में 30 मई को फिर होगी सुनवाई, दोनों पक्ष में हुई जोरदार बहस, शिवलिंग से छेड़छाड़ का आरोप

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook, YouTube और Twitter पर फॉलो करे...