1. हिन्दी समाचार
  2. क्षेत्रीय
  3. मुख्यमंत्री भूपेश बघेल का आदेश: छत्तीसगढ़ में पूरी तरह प्रतिबंधित होगा हुक्का बार, नशे के खिलाफ कड़ी कार्रवाई के निर्देश

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल का आदेश: छत्तीसगढ़ में पूरी तरह प्रतिबंधित होगा हुक्का बार, नशे के खिलाफ कड़ी कार्रवाई के निर्देश

मुख्यमंत्री बघेल ने प्रदेश में नशे के कारोबार को रोकने के लिए कड़ी कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि दूसरे राज्यों से आ रहे नशीले पदार्थ छत्तीसगढ़ में नहीं घुसने चाहिए।

By इंडिया वॉइस 
Updated Date

रायपुर, 22 अक्टूबर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने शुक्रवार को पुलिस अधीक्षकों और पुलिस महानिरीक्षकों की कॉन्फ्रेंस में दो टूक कहा कि प्रदेश में हुक्का बार पूरी तरह प्रतिबंधित होना चाहिए। मुख्यमंत्री ने प्रदेश में नशे के कारोबार को रोकने के लिए कड़ी कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि दूसरे राज्यों से आ रहे नशीले पदार्थ छत्तीसगढ़ में नहीं घुसने चाहिए। उन्होंने कहा कि गांजे की एक पत्ती भी दूसरे राज्य से छत्तीसगढ़ में नहीं घुसने देना चाहिए।

पढ़ें :- Chhattisgarh : रायगढ़ में हीरे के नए भंडार के होने के संकेत, छत्तीसगढ़ में करीब 13 लाख कैरेट हीरे की उम्मीद

मुख्यमंत्री बघेल की अध्यक्षता में शुक्रवार को न्यू सर्किट हाऊस ऑडिटोरियम में पुलिस अधीक्षकों और पुलिस महानिरीक्षकों की कॉन्फ्रेंस आयोजित हुई। कॉन्फ्रेंस में गृहमंत्री ताम्रध्वज साहू, कृषि मंत्री रवींद्र चौबे, मुख्य सचिव अमिताभ जैन, गृह विभाग के अपर मुख्य सचिव सुब्रत साहू, पुलिस महानिदेशक डीएम अवस्थी सहित कई अधिकारी मौजूद रहे। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कॉन्फ्रेंस में कहा कि कोविड महामारी के दौरान हमारी सरकार, प्रशासन और पुलिस ने अभूतपूर्व कार्य किए हैं। आपने प्रवासी मज़दूरों के हित में बेहतरीन कार्य किया है। उन्होंने इसके लिए सभी अधिकारी और कर्मचारियों को बधाई और शुभकामनाएं दीं।

मुख्यमंत्री भपेश ने पुलिस अधीक्षकों और पुलिस महानिरीक्षकों से कहा कि छोटी छोटी घटनाओं को साम्प्रदायिक और अराजक तत्व बड़ा रूप देने की कोशिश कर रहे हैं। सभी पुलिस अधीक्षक उन्हें पहचानें, अपना आसूचना तंत्र विकसित करें, क्योंकि ऐसी घटनाओं का सीधा असर प्रदेश की शांति व्यवस्था और सरकार की छवि पर होता है। मुख्यमंत्री ने कहा कि हर स्तर पर, थाना, अनुविभाग, ज़िला और रेंज लेवल पर सूचना तंत्र विकसित करें। पुलिस अधीक्षक हर जिले में सोशल मीडिया मॉनिटरिंग की स्पेशल टीम बनाएं, जो सोशल मीडिया में अफवाह फैलाने वालों का चिन्हित कर कार्रवाई करें। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा कि छोटी घटनाओं का राजनीतिक लाभ लेने अवसरवादी तत्व अफवाह, दुष्प्रचार और भ्रामक समाचार फैलाते हैं, उनकी पहचान कर कार्रवाई करना ज़रूरी है। सोशल मीडिया अफ़वाह फैलाने का सबसे बड़ा साधन बन गया है। सोशल मीडिया में भी एक सुदृढ़ आसूचना तंत्र विकसित करना ज़रूरी है।

वहीं इस दौरान बैठक में अधिकारियों ने बताया कि हत्या के प्रकरणों में 2011 की तुलना में आज की स्थिति में 32 प्रतिशत कमी आई है और हत्या के प्रयास में 2011 की तुलना में आज की स्थिति में 37 प्रतिशत कमी आई है। मुख्यमंत्री ने नशीले पदार्थों पर प्रभावी रोकथाम के लिए सीमावर्ती राज्यों ओडिशा, मध्य प्रदेश और राजस्थान के अधिकारियों के साथ IG-SP को बैठक करने के निर्देश दिए हैं। प्रदेश में अब तक चिटफंड कंपनियों के 774 डायरेक्टर और पदाधिकारी गिरफ़्तार किए गए हैं। उन्होंने सभी SP-IG को चिट फंड कम्पनी के शेष फ़रार डायरेक्टर और पदाधिकारियों को तुरंत गिरफ्तार करने के निर्देश दिए हैं।

उन्होंने सभी एसपी को इसके लिए एक समय सीमा तय कर कार्रवाई करने को कहा है। मुख्यमंत्री ने कहा कि कलेक्टर और एसपी आपसी समन्वय कर चिट फंड कंपनियों की अन्य सम्पत्तियों को चिन्हित कर उन्हें तत्काल कुर्क करने की कार्रवाई करें।

पढ़ें :- Chhattisgarh : नितिन गडकरी की छत्तीसगढ़ को 9240 करोड़ की सौगात, गडकरी ने कहा- छत्तीसगढ़ की सड़कें अमेरिका से भी अच्छी होंगी

हिन्दुस्थान समाचार

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook, YouTube और Twitter पर फॉलो करे...