1. हिन्दी समाचार
  2. दुनिया
  3. तालिबान के साथ पाकिस्तान: इमरान ने कहा, अफगानिस्तान अब गुलामी की बेड़ियों से आज़ाद

तालिबान के साथ पाकिस्तान: इमरान ने कहा, अफगानिस्तान अब गुलामी की बेड़ियों से आज़ाद

इमरान खान ने सोमवार को इस्लामाबाद में एक कार्यक्रम के दौरान तालिबान का अफगान पर कब्ज़े का समर्थन करते हुए कहा कि तालिबान ने वास्तव में गुलामी की जंजीरों को तोड़ दिया है।

By इंडिया वॉइस 
Updated Date

अफगानिस्तान में तालिबानी हुकूमत शुरू होते ही पूरी दुनिया ने तालिबान की निंदा शुरू कर दी है और तालिबान के तरीके को गलत ठहराया है, लेकिन एक देश ऐसा भी है जिसको अफगान पर तालिबान फतह एक स्वर्णिम काल की शुरुआत लग रही है।  पाकिस्तान ने तालिबान का समर्थन किया है।

पढ़ें :- इमरान खान का PM शहबाज शरीफ पर बड़ा हमला, कही ये बात, पढ़ें

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने अपने बयान से एक बार फिर साबित कर दिया कि वो तालिबान के कितने बड़े समर्थक हैं। इमरान खान ने सोमवार को इस्लामाबाद में एक कार्यक्रम के दौरान तालिबान के अफगान पर कब्ज़ा करने का समर्थन करते हुए कहा कि तालिबान ने वास्तव में गुलामी की जंजीरों को तोड़ दिया है। पाकिस्तान ने हमेशा तालिबान का समर्थन किया है, इसलिए इमरान का यह कहना कुछ नया नहीं है पर चौंकाने वाली बात यह है कि जब दुनियाभर के देश अफगानिस्तान पर तालिबानी शासन को लेकर तमाम आशंकाओं से घिरे हैं, तो ऐसे में पाकिस्तान के प्रधानमंत्री का यह बयान उनकी मानसिकता को दर्शाता है।

सोमवार को इस्लामाबाद में आयोजित एक कार्यक्रम के दौरान इमरान खान ने इंग्लिश मीडियम एजुकेशन के कल्चर से पड़ रहे गलत प्रभावों का जिक्र किया और इसी सन्दर्भ में उन्होंने तालिबान का जिक्र करते हुए कहा कि, “जब आप दूसरी संस्कृतियों को स्वीकार करते हैं, तो एक तरह का दबाव आ जाता है। जब ये हो जाता है तो मैं इसे वास्तविक गुलामी से बुरा मानता हूं। सांस्कृतिक गुलामी से निकलना आसान नहीं होता। अफगानिस्तान में क्या हुआ या क्या हो रहा है? वहां गुलामी की जंजीरे ही तो तोड़ी जा रही हैं। ”

पाकिस्तान का तालिबान समर्थन हमेशा से होता आया है। पाकिस्तान ने तालिबान के अल कायदा सरगना ओसामा बिन लादेन को अपने घर में छुपा कर रखा था जिसे अमेरिका ने पाकिस्तान के एबटाबाद में मार गिराया था। आज जब तालिबानियों का गुट काबुल पर कब्ज़ा कर चुका है तो पाकिस्तान के कई इलाकों में खुशी की लहर दौड़ चुकी है। लोग अपने इलाकों में काफिले निकाल कर और मिठाइयां बाँट कर तालिबान के जीत का जश्न मना रहें हैं। पाकिस्तान पर लगातार आरोप लगते आये हैं कि वो तालिबान के सरगनाओं को अपने देश में संरक्षण देता है और तालिबान को हथियार एवं सैन्य सहायता प्रदान करता है।

पढ़ें :- Pakistan के पूर्व PM Imran khan पर रैली के दौरान हुआ हमला, अस्पताल में भर्ती
इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook, YouTube और Twitter पर फॉलो करे...