1. हिन्दी समाचार
  2. क्रिकेट
  3. न्यूज़ीलैंड ने जिस धमकी भरे ईमेल के कारण अपना पाकिस्तानी दौरा रद्द किया, वो ईमेल हिंदुस्तान से भेजा गया, बोले पाकिस्तानी मंत्री

न्यूज़ीलैंड ने जिस धमकी भरे ईमेल के कारण अपना पाकिस्तानी दौरा रद्द किया, वो ईमेल हिंदुस्तान से भेजा गया, बोले पाकिस्तानी मंत्री

न्यूज़ीलैंड क्रिकेट टीम हाल ही में पाकिस्तान दौरे पर थी। फिर सुरक्षा कारणों का हवाला देते हुए उन्होंने अपना दौरा आधे पर ही रद्द कर दिया।

By इंडिया वॉइस 
Updated Date

पाकिस्तान के मंत्री फवाद चौधरी ने बुधवार को भारत पर आरोप लगाया है। पाकिस्तान मंत्री के मुताबिक भारत की ओर से न्यूजीलैंड क्रिकेट टीम को एक धमकी भरा ईमेल भेजा गया था, जिसके कारण कीवी टीम को देश का दौरा रद्द करना पड़ा।

इस आरोप के बाद विदेश मंत्रालय (MEA) के प्रवक्ता अरिंदम बागची ने प्रतिक्रिया देते हुए आरोप को “निराधार प्रचार” कहा और कहा कि पाकिस्तान को पहले “अपनी धरती से उपजने वाले आतंकवाद के खिलाफ कार्रवाई करनी चाहिए।”

न्यूज़ीलैंड क्रिकेट टीम (New Zealand Cricket Team) हाल ही में पाकिस्तान दौरे पर थी। न्यूज़ीलैंड क्रिकेट टीम को पाकिस्तान में वनडे और टी20 सीरीज़ खेलनी थी। फिर सुरक्षा कारणों का हवाला देते हुए उन्होंने अपना दौरा आधे पर ही रद्द कर दिया। इस मामले पर काफी बवाल भी हुआ।

बुधवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस में, पाकिस्तान के सूचना मंत्री फवाद चौधरी ने अपने बयान में आरोप लगाया कि,अगस्त में तहरीक-ए-तालिबान पाकिस्तान के आतंकवादी एहसानुल्लाह एहसान के नाम से एक फर्जी पोस्ट बनाया गया था, जिसने न्यूजीलैंड क्रिकेट बोर्ड और सरकार को न्यूजीलैंड क्रिकेट टीम को पाकिस्तान न भेजने के लिए धमकी दी थी। क्योकि पाकिस्तान में न्यूजीलैंड क्रिकेट टीम  हर जगह हमले के निशाने पर रहेगी।फवाद ने अपनी बात जारी रखते हुए कहा कि,  24 अगस्त को न्यूजीलैंड के सलामी बल्लेबाज मार्टिन गुप्टिल की पत्नी को एक ईमेल मिला जिसमें उनके पति को ‘तहरीक-ए-लब्बैक’ नाम के आईडी से धमकी दी गई थी। “जब हमने मामले की जांच की, तो हमें कुछ तथ्य मिले है। सबसे पहले, यह ईमेल किसी भी सोशल मीडिया नेटवर्क से संबद्ध नहीं रखता है […]

उन्होंने आगे कहा ठीक उसी के एक दिन बाद हमजा अफरीदी आईडी के नाम से  न्यूजीलैंड टीम को दूसरा धमकी भरा ईमेल भेजा गया था। पाकिस्तान मंत्री ने दावा किया कि जांच अधिकारियों ने पाया कि ईमेल भारत से जुड़े एक उपकरण से भेजा गया था। “यह एक वर्चुअल प्राइवेट नेटवर्क (वीपीएन) का उपयोग करके भेजा गया था, इसलिए स्थान को भारत के जगह सिंगापुर दिखाया गया है”। फवाद ने कहा की जिस डिवाइस से यह मेल भेजा गया उसी डिवाइस से 13 अन्य आईडी लिंक है, जिनमें से लगभग सभी भारतीय नाम थे। “न्यूजीलैंड टीम को धमकी भरे सन्देश के लिए जो डिवाइस इस्तेमाल किया गया था वह भारत का है। धमकी देने के लिए जिस फर्जी आईडी का इस्तेमाल किया गया था और असल में इसे महाराष्ट्र से भेजा गया था।

उन्होंने बताया कि गृह मंत्रालय ने यह संजीदा मामला दर्ज किया था और तहरीक-ए-लब्बैक प्रोटोनमेल और हमजा अफरीदी की आईडी की जानकारी उपलब्ध कराने के लिए इंटरपोल से अनुरोध किया था।

फवाद ने कहा, “यह दुर्भाग्यपूर्ण है। हमारा मानना ​​है कि यह अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट के खिलाफ एक अभियान है। अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (ICC) और अन्य संस्थानों को इस पर ध्यान देना चाहिए, ”उन्होंने कहा।

 

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...
India Voice Ads
X