1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. पंचायत चुनाव यूपी 2021: जिला पंचायत और प्रधानों के आरक्षण में भारी उलटफेर का शिकार हुआ जिला मेरठ

पंचायत चुनाव यूपी 2021: जिला पंचायत और प्रधानों के आरक्षण में भारी उलटफेर का शिकार हुआ जिला मेरठ

उच्च न्ययालय के आदेश के तहत शासन की गाइडलाइन के आधार पर प्रशासन और पंचायती राज विभाग ने मेरठ में त्रिस्तरीय पंचायतों के आरक्षण को अंतिम रूप दे दिया है। मेरठ में होने वाले जिला पंचायत और ग्राम पंचायतों के चुनाव में आरक्षण के मामले में भारी उलटफेर हो गया है। सूची के अनुसार जिला पंचायत की 33 वार्डों के आरक्षण में काफी बदलाव हो गया है।

By Team India Voice 
Updated Date

मेरठ। उच्च न्ययालय के आदेश के तहत शासन की गाइडलाइन के आधार पर प्रशासन और पंचायती राज विभाग ने मेरठ में त्रिस्तरीय पंचायतों के आरक्षण को अंतिम रूप दे दिया है। मेरठ में होने वाले जिला पंचायत और ग्राम पंचायतों के चुनाव में आरक्षण के मामले में भारी उलटफेर हो गया है। सूची के अनुसार जिला पंचायत की 33 वार्डों के आरक्षण में काफी बदलाव हो गया है।

हस्तिनापुर का वार्ड-1 अनारक्षित से एससी हो गया है। हस्तिनापुर का वार्ड-2 ओबीसी महिला के लिए प्रस्तावित किया गया है। इसी तरह सरधना, सिवालखास क्षेत्र की वार्ड-10 से 17 तक की सीटें अनारक्षित होने की चर्चा है। वहीं मवाना क्षेत्र के वार्ड-3,4,5 ओबीसी और एससी के लिए आरक्षित हो गया है।

 

इसी तरह दौराला क्षेत्र की वार्ड-6 ओबीसी, वार्ड-7 एससी महिला, वार्ड-8 एससी महिला, जानीखुर्द के वार्ड-18 ओबीसी, वार्ड-19 एससी, वार्ड-20 ओबीसी, वार्ड-22 अनारक्षित, वार्ड-23 महिला, वार्ड-24 एससी, वार्ड-25 अनारक्षित, वार्ड-28 अनारक्षित, वार्ड-31 अनारक्षित, वार्ड-32 ओबीसी और वार्ड-33 ओबीसी के लिए आरक्षित हो गई है।

जिला पंचायत में सरधना, सिवालखास क्षेत्र की सीटें आरक्षित से अनारक्षित हो गई हैं। हालांकि यह अभी अनंतिम सूची है। आपत्तियों के निस्तारण के बाद आधिकारिक और अंतिम सूची शनिवार सुबह घोषित की जाएगी।

 

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...
India Voice Ads
X