1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. होली से पहले रेलवे स्टेशन पर बढ़ी यात्रियों की भीड़, प्रशासन सतर्क

होली से पहले रेलवे स्टेशन पर बढ़ी यात्रियों की भीड़, प्रशासन सतर्क

चारबाग रेलवे स्टेशन पर गुरुवार  से यात्रियों की भीड़ में इजाफा हुआ है। होली पर्व से पहले रेलवे स्टेशन पर घर को जाने के लिए ट्रेन पकड़ने वाले यात्रियों की संख्या में बढ़ोत्तरी होने से रेलवे प्रशासन सतर्क हो गया है। कोविड 19 के खतरे के बीच यात्रियों की सुरक्षा को लेकर हेल्प डेस्क को सावधान कर दिया गया है

By इंडिया वॉइस 
Updated Date

लखनऊ: चारबाग रेलवे स्टेशन पर गुरुवार  से यात्रियों की भीड़ में इजाफा हुआ है। होली पर्व से पहले रेलवे स्टेशन पर घर को जाने के लिए ट्रेन पकड़ने वाले यात्रियों की संख्या में बढ़ोत्तरी होने से रेलवे प्रशासन सतर्क हो गया है। कोविड 19 के खतरे के बीच यात्रियों की सुरक्षा को लेकर हेल्प डेस्क को सावधान कर दिया गया है।

पढ़ें :- मायावती ने महंगाई को लेकर बीजेपी पर साधा निशाना, कहा:भाजपा सरकार में महंगाई, बेरोजगारी और गरीबी असली राजनीतिक मुद्दा नहीं रहा...

चारबाग रेलवे स्टेशन से लम्बी दूरी तय करने वाली एक्सप्रेस ट्रेनों के साथ ही कम दूरी तय करने वाली पैसेंजर ट्रेनों का संचालन हो रहा है। रेलवे प्रशासन का रिकार्ड देखा जाय तो चारबाग रेलवे स्टेशन से 72 ट्रेनें और लखनऊ जंक्शन से 15 ट्रेनों का आवागमन व संचालन हो रहा है। यही कारण है कि उत्तर रेलवे के तहत आने वाले चारबाग रेलवे स्टेशन पर सदैव ही यात्रियों की संख्या बनी रहती है।

होली पर्व पर लखनऊ और आसपास, मुंबई, राजस्थान, दिल्ली से आने वाले यात्रियों की संख्या भी चारबाग रेलवे स्टेशन पर बढ़ी है। चारबाग रेलवे स्टेशन से ट्रेन पकड़ने आने वाले यात्रियों की संख्या माने तो रोजाना से चार गुनी हो गयी है। कोविड के खतरे के बीच में यात्रियों की संख्या बढ़ने पर रेलवे प्रशासन के माथे पर सीकन आ गया है। डीआरएम और अन्य प्रमुख अधिकारियों ने होली के लिए हो रही तैयारियों पर वार्ता की है।

नार्दन रेलवे के सीनियर डीसीएम जगतोष शुक्ला ने बताया कि प्लेटफार्म और स्टेशन के बाहरी हिस्से में यात्रियों की भीड़ बढ़ता देख सीआरपीएफ की तैनाती की जा रही है। इसके अलावा टीईटी ड्यूटी चार्ट दुरुस्त कराते हुए उनकी तैनाती कर रहे हैं।

बता दें कि कोविड 19 के बढ़ते खतरे को देखते हुए लखनऊ के जिलाधिकारी अभिषेक प्रकाश ने चारबाग रेलवे स्टेशन पर बने कोविड हेल्प डेस्क का निरीक्षण कर लखनऊ आने वाले प्रत्येक यात्रियों का सम्पूर्ण विवरण रजिस्टर पर लिखने के निर्देश दिये थे। इसके विपरित कोविड 19 के जांच से बचने के लिए बहुत सारे यात्री सीढ़ीयों की रेलिंग पार कर बाहर के रास्ते पर निकल जा रहे हैं और अपना विवरण नहीं नोट करा रहे।

पढ़ें :- श्रद्धा वालकर हत्याकांड मामले में कोर्ट ने आफताब को 13 दिन की न्यायिक हिरासत में भेजा

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook, YouTube और Twitter पर फॉलो करे...